ajit___

instagram.com/klam_orkagaj?utm_medium=copy_link

मैं और तू, हों रूबरू!

Grid View
List View
Reposts
  • ajit___ 1d

    खामखा पैदा कर रखी है तूने ही ये दूरियाँ,
    हम तो तेरी यादों के साए लेकर सफ़र में रहेंगे!
    ©ajit___

  • ajit___ 4d

    ❤️

    Read More

    लखनऊ की शामें गुलाबी ना रहीं,
    जब से इस शहर में नवाबी ना रहीं!
    ©ajit___

  • ajit___ 1w

    फनकारी अच्छी नहीं मियाँ, फनकार से नफ़रत करना,
    रज़्म से राजी होकर के जैसे तलवार से नफ़रत करना!

    सहल नहीं है ये मगर सुकूं मिलता है ज़हन को इससे,
    चहरों से सब करते है किसी किरदार से नफ़रत करना!
    ©ajit___

  • ajit___ 1w

    शब्दों के शहतीर चलते है जिस युद्ध में,
    इतिहास उसका कभी लिखा ही नहीं गया!
    ©ajit___

  • ajit___ 2w

    ��

    Read More

    हर वक़्त ही क्यूँ तू एहतराम चाहता है,
    कभी तो तबीब बन कर तबियत भी पूछ ले!
    ©ajit___

  • ajit___ 2w

    Happy International men's day ��

    Read More

    एक औरत ने दूसरी औरत का दर्द समझा,
    मगर एक पुरुष ने ऐसा कभी नहीं किया!


    अफ़सोस.......

    ©ajit___

  • ajit___ 2w

    जब भी कोई मासूम शख्स देखता हूं,
    उसमे मैं तेरा ही नक्श देखता हूं,
    फिर आईना ढूंढना ही नहीं पड़ता,
    खुद के ज़हन में ही तेरा अक्स देखता हूं!
    ~अजीत

    Read More

    मोहब्बत ही तो थी कर ली ना यार ,
    इससे बड़ी ख़ता मैं क्या करूं?

    तुझसे बिछड़ जाना कोई ग़म नहीं है,
    तू अब भी याद आती है बता मैं क्या करूं?
    ©ajit___

  • ajit___ 3w

    ��������

    Read More

    पाना भी नहीं चाहता, और खोने से डरता है,
    यार तू तो मुझसे दोगली मोहब्बत करता है!
    ©ajit___

  • ajit___ 3w

    सुकूं है, यहीं कहीं,
    हम ढूंढ रहे जिसे दरबदर!
    ~अजीत

    Read More

    हसीन वादियाँ, तू और मैं!
    ©ajit___

  • ajit___ 3w

    लेकिन मैं तो Sach bolta hu yaar ����������

    Read More

    वो आजादी भी चाहती है, तो, सब सच जान कर,
    उसे मालूम है कि अजित, झूठ बहुत बोलता है!
    ©ajit___