Grid View
List View
Reposts
  • anand_ 227w

    कुछ तो हुआ है मुझे भी, कुछ तो हुआ है तुम्हें भी
    बाकी तू बेख़बर है सबसे और कुछ वहम है मुझे भी
    ©anand_

  • anand_ 229w

    एक तेरी आशिक़ी थी जो दिल मे रही
    बाकी सब फ़साना भूल गया
    तेरी चाहत में डूबा इस कदर
    खुद तुझको बताना भूल गया

    जहाँ भी गया बेपरवाह ही रहा
    अपनों को मनाना भूल गया
    कुछ छाँव रही कुछ धूप रही
    जिंदगी तुझे आजमाना भूल गया
    ©anand_

  • anand_ 229w

    Being Indian is Identity to us, &
    Being Bihari is Pride to us

  • anand_ 229w

    तेरी क़ुरबत से मोहब्बत सीखा हमने
    तेरी जुदाई ने सुखनवर कर दिया

    ©anand_

  • anand_ 229w

    When your beloved get offended..��

    Read More

    बस एक चाँद रूठा है सितारों से
    और कुछ नहीं
    बस यही एक खबर आई है फलक से
    और कुछ नहीं
    ©anand_

  • anand_ 229w

    दिन एक पल ठहरा और रात हो गयी
    आंखों ही आंखों में फिर बरसात हो गयी
    ©anand_

  • anand_ 230w

    खाली लम्हों को भरने का तरीका यह भी निकाला है
    बातों को तेरी अश्क़ों में पिरो कागज़ पे उतारा है

    चंद हर्फ़ जो कम पर गए, वो गज़ल पूरी होने में
    ख्वाबों में सजा फिर मैंने तुम्हें, वो गज़ल संवारा है
    ©anand_

  • anand_ 230w

    एक जिद मेरी थी तेरे रूह में बस जाने की
    एक जिद तेरी थी बस यादों में रह जाने की

    ©anand_

  • anand_ 230w

    I want to sleep forever
    Bcz you are with me in my dreams only.
    ©anand_

  • anand_ 230w

    लोग कहते हैं कि तेरी शायरी में दर्द नहीं है
    मैंने भी कह दिया, वो बड़े हमदर्द हैं हर दर्द भूला देते हैं
    ©anand_