anantsharma_

instagram.com/inkedd_by_soul?igshid=o7qoxina5o7z

phoolon ki laashon me taazgi chahta h aadmi chutiya h kuch v chahta h ��

Grid View
List View
Reposts
  • anantsharma_ 31m

    @writersnetwork @miraquill @mirakeeworld #urdu
    #deepthought #ishq #love #writersnetwork ��
    .
    हिज्र:-जुदाई
    मुंतजिर:-इंतजार
    वस्ल:-मिलन

    Read More

    ◆◆

    हिज्र-ए-सनम की ग़म-ए-सफ़ऱ में कुछ यूं ख़ुद को खो गया।
    की मुंतजिर-ए-इश्क़ में तेरे वस्ल-ए-क़फ़न मुकम्मल हो गया।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 2d

    #writersnetwork #miraquill #deepthought #love
    @writersnetwork @miraquill #hindiwriters #urdu

    जिन्हें वक़्त दिया वो अहद-ओ-वक़्त की मुआफ़िक बदल गए।
    हयात-ए-सफर में गिरते पड़ते कुछ दूर चल अब हम भी सम्हल गए।।
    ©A.S

    Read More

    ◆◆

    बग़ैर काँधे उनके ,अक़्सर ये अश्क़ जज्बातों संग पन्नों में सिमट जाती हैं।
    कुछ यूं की मेरे लफ्ज़ महज़ स्याही संग शेर-ओ-ग़ज़ल में लिपट जाती है।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 4d

    ◆◆

    क़ैद कर भी उसने मुझे रिहा कर रखा है।
    वो मेरा क्या लगता है जिसने मुझी से मुझको जुदा कर रखा है।।

    जंग में तो अक़्सर बेवज़ह हीं मुल्कों की सरहदें लांघी जाती है।
    वरना उनकी मुल्क़ का हमारे मुल्क़ में क्या रखा है।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 5d

    ◆◆

    इश्क़,
    बेवज़ह बेपनाह बेशुमार कर बैठा तो क्या कीजे।
    गर जो दिल सरहदें पार कर बैठा तो क्या कीजे।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 25w

    @writersnetwork @miraquill @mirakeeworld
    #love #hindi #writersnetwork #deepthoughts

    जो हँस कर बयां कर देता हूँ यूँ ग़म को अपने तरीकों से।
    नम आँखें नज़र कर आती है ख़ुशी देख के दूर दरीचों से।
    ©A.S

    Read More

    ◆◆

    एक दरख़्त जिसका छांव था मैं वहाँ अब लाशें बसर करती है।
    वो शख्स माना गुज़र चुका है उसकी फरियादें असर करती है।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 25w

    @writersnetwork @mirakeeworld @miraquill
    #love #miraquill #writersnetwork #hindi #urdu

    मौसम-ए-मुख्तलिफ:-अलग-अलग मौसम
    दरख़्त:-पेड़

    मुझे लगा अहद-ए-शहर में कहीं, ठहर गया था उनका रस्ता।
    मसला इक शज़र का था जिसकी छांव से था उनका बावस्ता।।
    ©A.S

    Read More

    ◆◆

    मौसम-ए-मुख्तलिफ में,बदलते हैं दरख़्त जैसे।
    कुछ यूं हीं तुम भी बदले, बदलते हैं वक़्त जैसे।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 25w

    @writersnetwork @miraquill @mirakeeworld
    #love #writersnetwork #miraquill #hindi

    चश्म-ए-अश्क़:-आँख का आँशु
    ------------
    मोहब्बत-ओ-इश्क़ भी उनका अब दर-ब-दर भटक गया।
    कुछ यूं कि चश्म-ए-अश्क़ जमी पर गिरते हीं छटक गया।।
    ©A.S

    Read More

    ◆◆

    वक़्त के साथ-साथ चश्म-ए-अश्क़ भी बदल जाते हैं।
    कभी इसके कभी उसके न जाने किसके-किसके लिए निकल जाते हैं।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 25w

    @writersnetwork @miraquill @mirakeeworld
    #writersnetwork #miraquill #love #ishq
    #deepthoughts

    बदर:-चौखट/दरवाजे

    साथ दो गर जो तुम इस पहर, ये बुरा वक़्त टल जाएगा।
    रातें घनघोर काली बड़ी कल को दिन भी निकल जायेगा।।
    ©A.S

    Read More

    ◆◆

    सुलह कर ले गर हम तुम अभी बात घर में सम्हल जाएगी।
    जो घर की बातें बदर से बढ़ी दर्द अश्कों में बदल जाएगी।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 25w

    @writersnetwork @miraquill #love


    महफ़िल-ए-शाम में ले आएं जाम वो हमारे नशे के लिए।
    कजरारे नैना हीं काफ़ी थे उनके, हमारे दुर्दशे के लिए।।
    ©A.S

    Read More

    ◆◆

    गेसूए खोला जब भरी महफ़िल में, उनने सवरने के लिए।
    नासमझ इक इशारा था वो उनका तुम्हारे ठहरने के लिए।।
    ©anantsharma_

  • anantsharma_ 25w

    ◆◆

    गर जो मिले फुर्सत मोहब्बत से, तो कभी हम सा तुम इंतज़ार कर लेना।
    मेरे सहारे ने मुझे धोखा दिया तुम अपने सहारों पर न ऐतबार कर लेना।।
    ©anantsharma_