Grid View
List View
  • anmolsaini 81w

    वक्त बदला
    जमाना बदला
    लोग बदल गए,
    मौसम बदला
    मिजाज बदला
    शख्स बदल गए,
    हर अपना बदला
    हर गैर बदला
    बदलते बदलते
    हम बदल गए।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 82w

    दोस्त

    तु उसकी शक्ल ना दिखाया कर मुझे ये दिल बहक सा उठता है,
    जिसे दोस्त नहीं भाई समझता था वो अब मुझसे दूर रहा करता है।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 84w

    अफसाना तो बहुत है सुनाने को मोहब्बत का ऐ दुनिया तुझे,
    पर जो बयां किया दर्द अपना तो मोहब्बत झूठी कहलाएंगी।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 84w

    मोहब्बत के नशे में हम कुछ इस कदर चूर बैठे हैं,
    हम दिल देकर और वो हमसे नफरत लिए दूर बैठे हैं।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 84w

    अपनी तलाश है

    अपनी तलाश है उन खोए हुए अंधेरों में,
    पाना है खुद को एक दिन उजालों के संवेरो में।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 85w

    तुम्हारी तरफ से तो वो रिश्ता ना जाने कब का खत्म हो चुका है,
    तुम्हारे लिए हमारे ज़हन में दफ़न प्यार भी अब खत्म हो चुका है।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 85w

    कुछ कर गुजर ना है अपनी मंजिल को पाने के लिए,
    हौसलों को बढ़ाना है उस मुकाम तक ले जाने के लिए।
    दिक्कतें तो तमाम आएंगी चलते हुए राहों में तुम्हारी,
    खुदा भी तड़प जाएगा मंजिल को तुम्हारे कदमों में लाने के लिए।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 85w

    किसी के जुदा होने पर जैसे बादल गरजते है बारिश के लिए,
    क्या रुक नहीं सकते तुम सिर्फ हमारी एक ख्वाहिश के लिए।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 85w

    हौसला पस्त है जो एक नींद ने अपनी बंदिशों में कुछ इस कदर जकड़ रखा है मुझे,
    उठना चाहता हूं संवरना चाहता हूं कुछ कर गुजर ना चाहता हूं पर इस नाकारी ने पकड़ रखा है मुझे।
    हौसला बुलंद हो मेहनत पुरजोर तकदीर बुलंद हो बस यही तो चाहता हूं,
    पर कुछ दुखों ने परेशानियों ने और मेरी इस कामचोरी ने उजाड़ रखा है मुझे।
    @Anmol Saini

  • anmolsaini 86w

    उसे तो मेरी खुशी से ज्यादा अपनी बात अच्छी लगती है,
    इतना चाहने के बाद भी इस रिश्ते की डोर कच्ची लगती है।
    उनकी खुशी के खातिर सब कुछ तो किया हमने,
    इन नजदीकियों से ज्यादा तो अब हमें ये दूरियां ही अच्छी लगती है।
    @Anmol Saini