bad_writer

IAS Expect the Unexpected �� The ideal attitude is to be physically loose and mentally tight.����

Grid View
List View
Reposts
  • bad_writer 18h

    एक ही कुर्सी थी ओर कई दावेदार थे,
    शियासत हमको आती नहीं ओर हम जंग के लिए तैयार थे।

    @angel_sneha
    @alkatripathi79
    @tejasmita_tjjt
    @vi_shine0202
    @vishakhapal
    @pritty_sandilya
    @rahat_samrat
    @nityatiwari__
    @iccha_20
    @alonestar1

    Read More

    मोहब्बत ओर आशिक़

    आशिक़ ज़रूर हूं मगर इश्क़ से दूर हूं,
    मेरे साथ संभाल कर रहना मैं बेवफ़ा नाम से मशहूर हूं।

    उसने मोहब्बत का ऐसा सबब दिया,
    रहम खा कर दुश्मनों ने गले से लगा लिया।
    वो रूठा मुझसे ऐसा जैसे उसे किसी और ने मना लिया,
    तुम्हे क्या बताऊं कितनी सच्ची थी नफ़रत उसकी,
    मेरा नाम सुनते ही जनाजे से कंधा हटा लिया।
    जो मिन्नतों से मिले वो मोहब्बत नहीं हैं,
    उसे छोड़ हमनें एक नया मेहबूब बना लिया।

    तेरा मुझसे यूं दूर भागना
    मतलब जाया हुआ मेरा रातों को जागना,
    इसकी उसकी क्यों सुनते हो तुम भला
    एकबार आके सीधे मेरे दिलमें झांकना,
    कोई कैसे भुला सकता है
    चांद का खिड़की से झांकना,
    दरवाजा खिट खिटाते रहोगे
    तो खुल ही जाएगा
    जाया नहीं होता दुआओ का मांगना।

    हम गरीब प्यार कहा कर पाते हैं,
    हम गरीब झाती मकान की ख्वाहिश में ही मर जाते है,
    उनकी किमत कुछ बहुत ही ज्यादा थी,
    हम गरीब मंहगी चीजें कहा खरीद पाते है,
    उन्हें चांद तारे चाहिए
    जब की हम गरीब को तो ख़्वाब भी रोटीआे के आते हैं,
    हमें जानबूझकर इम्तिहान-ए-मोहब्बत में नाकाम किया गया
    आप को यकीन नहीं तो पूछ लो कोई भी सवाल हमें सारे जवाब आते हैं,

    मैं उन्हें हमेशा हरा तो देता हूं मगर
    वो जुल्फें खोल कर मुझे हरा देते हैं,
    मेरी भी गिनती अमीरों में गिनी जाए
    पर जनाजे में दौलत नहीं दोस्त काम आते है,
    अपने वस्ल के लमहात तफ़्सील से बता सकता हूं
    इतनी सच्ची मोहब्बत की है कि अपने बच्चो को भी सुना सकता हूं।
    ©bad_writer

  • bad_writer 1d

    इश्क़ की भी अपनी बचकानी ज़िद है,
    चुप कराने को भी वही चाहिए,
    जो रुला कर गयी है।

  • bad_writer 1d

    #rachanaprati142

    #rachanaprati141 ki sab rachna behtarin or durlabh thi or meri or se sab ko winner ghoshit karta hu..

    Or #rachanaprati142 ka sanchalan @somefeel ko de raha hun.
    ©bad_writer

  • bad_writer 2d

    लोग

    सुनो मेने पहले ही कहा था की मेरे इतना पास मत आना
    ओर दिल तोड़ोगे मेरा तो अभी रुक जाना,

    पर शुरुआत में कहा समझते हैं लोग,
    इश्क़ करने के बाद अक़्सर बदल जाते हैं लोग।
    ©bad_writer

  • bad_writer 3d

    एक तरफा प्यार

    सुनो, तुमसे कुछ पूछना हैं

    क्या तुम वहीं हो जिसे देखने के बाद किसीको देखने का मन नहीं करता?
    क्या तुम वहीं हो जिसे सोचने के बाद कुछ ओर सोचने का मन नहीं करता?

    वो ख़्वाब जिसके आने से नींद ऐसी आती हैं कि जागने से नफ़रत हो जाती हैं,

    वो सांस जिसके लेने के बाद की ताज़गी ऐसी है कि सूखा हुए पेड़ भी हरा-भरा दिखने लग जाता हैं,

    वो चेहरा जो हर रात मेरे तकिए पर सोने से पहले बनाता हूं,
    क्या तुम वहीं हो जिसकी बात में हर बात में लेे आता हूं?

    हां, तुम शायद वहीं हो क्योंकि ये बात केहते हुए मेरी आंखे मुझे तुम्हारे सीवा कुछ ओर दिखाने से इन्कार रहीं हैं मानो की इससे ख़ूबसूरत आज तक कुछ देखा ही ना हो,

    मेरा दिल पहले से तेज़ धड़क रहा है मानो केह रहा हो ये जो कुछ भी हो रहा है वो पहली ओर आख़री बार हो,

    मेरे कान मुझसे कह रहे हैं कि जो आज तक सुना वो सब बेकार है,

    मेरे हाथ अपनी हथेली में तुम्हारा नाम इस तरह ढूंढ़ रहे है मानो कोई रूई के ढेर में सुई ढूंढ़ रहा हो,

    मेरी बाहें तुम्हारे लिए इस तरीक़े से तरस रही है मानो अंधेरे में छोटा बच्चा डर रहा हो,

    ओर इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी तुम्हें पाने या ना पाने का खयाल भी मुझसे कोसों दूर है,

    हां, ये सच है मुझे तुमसे एक तरफा प्यार है,

    तुम्हारे दिल में क्या है मुझे नहीं जानना,
    तुम्हारे दिल में कोन है मुझे नहीं जानना,
    बस इतना बतादो क्या तुम वहीं हो जिसकी मुझे तलाश है?
    फिर तुम्हारा फ़ैसला जो भी हो मुझे नहीं जानना,

    ओर इतना सब कुछ कह जाने के बाद भी मुझे तुम्हे पाने या ना पाने कि हसरत नहीं है,
    क्योंकि मुझे तुमसे प्यार करने के लिए मुझे तुम्हारी ज़रूरत नहीं है,

    मेरा यकीन करो में तुमसे दूर रहकर भी ख़ुश रेह सकता हूं,
    तुम्हारी आंखों में जो पानी भरा है उसमे किसी बेशुद्ध मछली की तरह तैर सकता हूं,

    तुम्हारे लिए कुछ घंटे क्या पूरी ज़िन्दगी कर सकता हूं ये वो इंतज़ार है,
    हां, ये सच है मुझे तुमसे एक तरफा प्यार है,
    ©bad_writer

  • bad_writer 3d

    #rachanaprati141

    सबसे पहले मै मोटू दीदी का धन्यवाद करता हूं।


    Rachanaprati १४१ का विषय "मेरा एकतरफ़ा प्यार" परसो सवेरे (१७/०१/२०२२) तक की समय मर्यादा है।
    ©bad_writer

  • bad_writer 3d

    #rachanaprati140

    बढ़ती विडम्बनाओं से इस जग को कौन उबारे
    इस गम्भीर चुनौती को अब युवा शक्ति स्वीकारे
    जितनी भी संचार साधनों से दूरियां घटी हैं
    सजल भावनाएं ह्रदयों की उतनी ही सिमटी है
    आज कही से सद्भावों की धार न पोषण पाती
    संवेदना इसी से सतत सूखती जाती

    इस संकट के वक्त विश्व के युवजन बने सहारे
    इस गम्भीर चुनौती को अब युवाशक्ति स्वीकारे
    शुभकामना फेसबुक के संदेश बिच ही बसती
    आँख बुजुर्ग की भावुक चिट्टी के लिए तरसती
    संवेदना बढ़े तो सद्भावों का वेग बढ़ेगा
    तब सर्व भवन्तु सुखिन का भाव सहज उमड़ेगा

    प्यार और सहकार भरे होंगे परिवार हमारे
    इस गम्भीर चुनौती को अब युवाशक्ति स्वीकारे
    दिग्भ्रम से आतंक बढ़ा है, सहमी सभी दिशाएँ
    टूट रही है अब समाज की सारी मर्यादाएं
    करने को संघर्ष युवा अब अपना मन्यु जगाएं
    स्वयं प्रज्वलित दिए बने फिर अगणित दीप जलाएं

  • bad_writer 2w

    Dedicated to @alkatripathi79

    Read More

    एक लड़की

    हैं आसमान हद उसकी आफ़ताब देखती हैं,
    एक ख़्वाब सी लड़की एक ख़्वाब देखती हैं।
    रात को चुपके से छत पर जाकर बिछ जाती हैं,
    एक मेहताब सी लड़की एक मेहताब देखती हैं।


    घने पीपल के तले धूप भी छांव लेती हैं,
    एक नायाब सी लड़की एक नायाब देखती हैं।
    टूटे हुए तारों से सब मन्नत मांगते हैं,
    एक नाज़ुक सी लड़की एक आजाब देखती हैं।


    कहा, कैसे, कब और नाजाने क्या-क्या,
    एक सवालों सी लड़की एक जवाब देखती हैं।
    सबने शक्ल देखी, सूरत देखी, आमदनी और रुआब देखा,
    एक बेगम सी लड़की एक नवाब देखती हैं।
    ©bad_writer

  • bad_writer 8w

    कर रहा था ग़म-ए-जहाँ का हिसाब
    आज तुम याद बे-हिसाब आए |

    @angel_sneha
    @alkatripathi79
    @tejasmita_tjjt
    @vi_shine0202
    @vishakhapal
    @pritty_sandilya
    @rahat_samrat
    @nityatiwari__
    @iccha_20
    @alonestar1

    Read More

    आईना तुम भी देखती हो
    आईना मैं भी देखता हूँ
    बस फर्क इतना हैं की
    तुम सवरने के लिए देखती हो
    मैं बिखरने के लिए देखता हूँ
    ©bad_writer

  • bad_writer 9w

    राबता दर्द से इस कदर है...!!

    हर मरहम यहां बेअसर है...!!!

    Read More

    अभी लिखी है ग़ज़ल तो अभी दीजिये " दाद "...!!

    वो कैसी तारीफ जो मिले मौत के " बाद "...!!!⚔
    ©bad_writer