Grid View
List View
  • bhaiyyag0777 22w

    कठिन,, सवाल ज्यादा होता है ,, या उसका जवाब ????

  • bhaiyyag0777 22w

    इश्क़

    जितनी तड़प हम में है ,, उतनी ही तड़प तुम में भी हो तब तो मजा है
    वरना कमबख्त इश्क ही बेवजह है

  • bhaiyyag0777 22w

    सपना

    इस सफर में एक बात समझ आई,
    की जिन्हे हम सपने में देखते है, वो भी सपने देखते है
    और वो हमारे चाहे जितने भी अपने क्यों न हो,,
    पहले वो अपना देखते है,,

  • bhaiyyag0777 23w

    Ahsaas

    Ek tajurba apna bhi hai,,
    Khushiyan mahaj do pal ki mehmaan hoti hai,,
    ,,,,,,Gam me to umareee,, gujarte dekhi hai maine
    ©bhaiyyag0777

  • bhaiyyag0777 30w

    दिल की आवाज

    मेरे दिल का बोझ बन बैठा यह सवाल की किसी अकलमंद इंसान को कभी प्यार क्यों नही होता ,, आखिर क्या दुश्मनी है दिल से दिमाक की ,, प्यार हमेशा उनसे ही क्यों होता है जिनका मिलना भी बेहद दुश्वार होता है,, और जब प्यार हो जाता है तो अनकही सी तकलीफ का अहसास क्यों होता है , सच्चे प्यार में हमेशा एकाकीपन क्यों होता है, किस से पूछूं इन सवालों को ,, लोग बड़ी ही होशियारी से दरकिनार कर लेते है इन सवालों को ,, जबकि जमाने महफिल में आज भी कोई दर्द का तराना छोड़ दिया जाय तो तारीफ करने वालो की भीड़ उमड़ पड़ती है

  • bhaiyyag0777 30w

    बेजुबान की कलम

    सुना है अच्छा लिखने के लिए दिल से लिखना पड़ता है,, और दिल से लिखी बात में ही अगर तकलीफ जाहिर की हो किसी ने ,, तो मैं कभी ये नहीं कहूंगा की आप और अच्छा लिखिए ,,







    S,,,INGH


    ©bhaiyyag0777

  • bhaiyyag0777 30w

    इत्तेफाक

    तेरा और मेरा मिलना महज एक इत्तेफाक तो नहीं था,,
    ,, कुछ तो था,,,,,,,,,,
    हमारे दरमियान ,
    जो अधूरा रह गया,,





    Bhaiyya g,,

  • bhaiyyag0777 30w

    इत्तेफाक

    खास रिश्तों में इजाजत इत्तेफाक नहीं रखती,,
    ,, कुबूल हो अगर दिल से मोहब्बत
    तो ये वही मुकम्मल हो जाती है।

  • bhaiyyag0777 30w

    बीमारी

    खामोशी और तन्हाई हमे प्यारी हो गई है,
    आजकल रातों से यारी हो गई है
    सारी सारी रात तुम्हे याद करते है ,
    शायद तुम्हे याद करने की बीमारी हो गई है,,









    भैय्या जी,,
    ©bhaiyyag0777

  • bhaiyyag0777 30w

    निशानी

    वख्त बदला और बदली कहानी है,,
    संग मेरे हंसी पलो की यादें पुरानी है
    न लगाओ मेरे जख्मों पे मरहम
    मेरे पास उनकी बस यही एक निशानी है,,
    ©bhaiyyag0777