Grid View
List View
Reposts
  • binal_thakur 54w

    Word Prompt:

    Write a 6 word one-liner on Intense

    Read More

    Intense of my own huge dreams

  • binal_thakur 54w

    Truth Untold

    you'll never know
    How much I loved you
    you'll regret it One day
    when time has passed
    when you're sad...
    or when you're lonely...
    call my name
    I'll be there
    To erase away your sadness
    I'll wash it away
    With the hot tears
    That flow from my eyes...

    ©binal_thakur

  • binal_thakur 54w

    Word Prompt:

    Write a 8 word short tale on Forgot

    Read More

    Why we forget to take care of ourselves

  • binal_thakur 54w

    Word Prompt:

    Write a 3 word one-liner on Insecure

    Read More

    I feel insecure

  • binal_thakur 54w

    Word Prompt:

    Write a 6 word short tale on Burden

    Read More

    My burden is my own passion

  • binal_thakur 54w

    Don't give up

    It is the way of life
    There is no bigger power than me
    ©binal_thakur

  • binal_thakur 54w

    लड़ना

    सब जा रहा है
    अब बीमार हो रहा हैं
    कब लडूं डर से
    अब न जा घर से
    क्या संभाला मर के
    ज़िंदगी से लड़ना तुझको न आता
    इसलिए तुम अब सोता

    तुम हो बेफिक्र, तुम हो बेख़याल
    तुम हो बेफिक्र, तुम हो बेख़याल
    तुम बनी बेख़बर
           

    पहले तुम थी राज
    अब हो सिर्फ तुम सांझा
    लड़ना तुमको न आता
    इसलिए तुम जाई, हम रोई
        
          कुछ करना मतलब मरना न
          करना मतलब लड़ना हो
          कोई ख़ाब न तुझे है ना रें
          इसलिए तुम सोई
          हमका क्या मर्ज़ी
          तेरा हो सारा ज़िद

    करो या मरो
    फैसला करने की हक
    तुझको देती रब्ब
    पर तुम क्यों इस्से बेकार बनती रें
           
             ज़िंदगी में लड़ना तुझको न आता रें
             इसलिए तुम अब बनि तारा
             क्यों छोड़ दीं तनु की सहारा
    ज़िद छड़ों जिंदा रहो
    ये मेरा थी दुआ, दुआ
    पर तुम क्यों मौत की हुआ
          
            जान रब्ब की वरदान हूं
            नजाने जान को छोड़ती है क्या तुने

    पहले तुम थी राना
    अब क्यों बनि चन्ना
          
          पहले हो हमारा
          अब हो सिर्फ सितारा
          क्यों करती ये सारा
          ये गलती न यारा

    जिंदगी से लड़ना तुझको न आता
    इसलिए तुम बनि यार से याद
    ज़िंदगी से लड़ना तुझको न आता रें

    ©binal_thakur

  • binal_thakur 54w

    मंज़िल

    तु वीं रानी, मैं वीं रानी
    कौन भरेगा पानी

    रब्ब बनाया, शायर बनाया
    जो तु मुझे बोलो
    अपुन वहीं करुंगा
    अपुन वहीं लिखूंगा

    रात में ‌‌रोशनी तू है।
    नींद में अपना सपना भी‌ तु है।
    मीठी मीठी बात करो मुझे
    वो मैं दिल में संभालूगा।

    कहीं न छोड़ मुझे
    कभी न छोड़ मुझे
    मन में तु मंज़िल हैं।
    दिल में तु दिवानी हैं।
    तेरा साथ मैं चाहूंगा।

    तु है मेरि, तु ही मिली
    सब भी तु है गीत
    मंज़िल ये
    शायर बनना ये मेरा मंज़िल
                     ये मेरा फैसला

    मैं लिखूं मेरा मंज़िल
    हाय सपना रें
    हाय अपना रें

    सब भी खुद को बोलो
    जिंदगी की रास्ता है
    मुझसे बड़ी ताकत न है।

    ©binal_thakur