cryingpen

learning the writing insta follow me :emerging_writer /cryingpen

Grid View
List View
Reposts
  • cryingpen 55w

    जो चाहत थी उसे भुला दिया है ,
    जो नफरत थी(शराब) उसे मुंह लगा लिया है
    अभी चढ़ा कुछ सीढ़ियां ही था मंजिल की ओर,
    की मंजिल ने मुझे भी ठुकरा ही दिया है,
    इल्जाम लगाकर मंजिल पर मैंने खुद को एक बार फिर से धोखा दिया है।।
    ©cryingpen

  • cryingpen 68w

    अभी जन्मे 19 वर्ष ही हुए थे उसको अभी तो जीवन के 80 वर्ष बाकी थे,
    अभी तो बचपन का दामन भी ठीक से छूट ना पाया था,
    कि उन राक्षसों ने उसके जिस्म को नोच खाया था,
    बर्बरता तो देखो जालिमों की ज़ुबां भी काट आए वो,
    चीखने के स्वर भी उसके खौफ से घबराए होंगे,
    सुन सका ना कोई उसको ,घुट गए हैं प्राण भी,
    इंसान रूपी दानवों में ना रहम ना मोह था,
    है दुआ के साथ उनके हश्र कुछ ऐसा ही हो,
    चीखते वो भी रहे और सुन सके ना कोई भी,
    काट के अंगों को उनके, धड़ भी सूली पर चढ़े,
    नोच खाएं चील कव्वे अस्थियां भी ना मिले।।
    RIP MANISHA
    ©cryingpen

  • cryingpen 89w

    कैसी तड़प है दिल मे मेरे किसी को बता नहीं सकता,
    करता था जिनसे हाले-दिल बयां ,
    रूठे है कुछ ऐसे की उन्हें मना नहीं सकता,
    ऐसा नहीं की मैं उन्हें मनाना नहीं चाहता,
    रूठे ही वो कुछ ऐसे की बता नहीं सकता,
    लोगों के डर से जमाने को जता नहीं सकता,
    जी रहा हूं किस कदर घुट-घुट कर किसी को बता नही सकता।।
    ©cryingpen

  • cryingpen 98w

    उनकी बातों में कुछ अजीब सी बेरुखी नजर आती है,
    देकर बहाना वक्त का लगता है जैसे दूरी बनाना चाहती हैं,
    नहीं चाहता जाना दूर तुमसे एक पल के लिए भी,
    फिर भी कह दो जो तुम कभी मुड़कर ना देखूंगा,
    भूल जाओ शायद तुम मुझे,
    लेकिन मैं तेरा साथ कभी ख्वाबों में भी ना छोडूंगा।।
    ©cryingpen

  • cryingpen 101w

    जिनकी मोहब्बत UPSC हो उनका valentine's day सिर्फ सकारात्मक परिणाम आने पर ही मनता है।।
    ©cryingpen

  • cryingpen 101w

    हूं नहीं शायद मैं इतना करीब आपके,
    फिर भी बहलाने की आपको जुर्रत करता हूं,
    मिल गये जो आप तो ये जहां बदल जायेगा,
    इसलिए हर ज़र्रे से आपको पाने की हसरत मैं करता हूं,
    चाहना , न चाहना आपकी मर्ज़ी में होगा,
    मिल गई जो मर्जीयां तो इस जहां में रंग होगा,
    न मिली जो मर्जीयां तो इक दिन यहां मातम भी होगा।।
    ©cryingpen

  • cryingpen 101w

    होता है दर्द बेइंतहा ,जब वो दो पल के लिये भी दूर जाते हैैं,
    उन्हें तो खबर भी नहीं क्योंकि हम हर पल मुस्कुराते हैं।
    ©cryingpen

  • cryingpen 109w

    गलतियां जीवन की

    स्कूल के वो खिलखिलाते दिन थे ,बस जवानी में कदम रखा ही था ,कुछ दिन बड़े हसीन गुजरे। फिर एक खूबसूरत बला से मोहब्बत कर बैठे ,बड़ी खूबसूरत सी लग रही थी जिंदगी , वो साथ होते तो सारा जहां खूबसूरत नजर आता ,
    कुछ पल भी दूर हो जाए तो सारा जहां बदरंग नजर आता ,
    आता जो कोई दरमियां हमारे तो दुश्मन नजर आता,
    इस मोहब्बत के खेल में हम किताबों से दूर होते चले गए,
    न जाने कब हम छोटी-छोटी गलतियों से पहाड़ बनाते गए,
    हो जाती सफल जो हमारी मोहब्बत तो कभी गम ना होता , लेकिन असफलता में कोई किसी का सहारा कहा होता,
    ना मोहब्बत मिली ना ज्ञान किताबों का रह गए हम अकेले और सीख लिया सहूर जमाने का।
    ©cryingpen

  • cryingpen 126w

    Sometimes life appears like black and white T. V. Wchich has lost it's brightness.
    ©cryingpen

  • cryingpen 129w

    मेरी रूह में जो कुछ भी तू अभी बाकी है,
    सबूत है तू मेरे हर एक दर्द का साथी है,
    और यह जो दर्द है तेरी मोहब्बत की निशानी है,
    हसरत है मेरी इसी दर्द से एक दिन मेरी जान जानी है।।
    ©cryingpen