Grid View
List View
  • dami_nagpure 10w

    शायरी सी मे
    डायरी से तुम
    चल चले कही ,
    चल चले कही...

    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 17w

    जो तेरे रास्तो मे पत्थर लगा
    तो ना तुने पत्थर तोडा,ना रास्ता छोडा
    बस चलता रहा मंजिल कि और,
    बस इसी नजर से,आज देखना जिंदगी कि और...

    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 18w

    बस तु अपना खयाल करना...
    जज्बातों से भरे तेरे दिल ने सवालात करे मुझसे हजार,
    न देखा जाये कुछ कहा जाये ऐसे क्यु है हालात?
    क्यु तेरी आँखोका काजल यु खोने को है ?
    क्यु मासूम दिल तेरा अब रोने को है ?
    क्यु ख्वाईशो का डब्बा जो खोला तेरे क्यु आंसु झलकने लगे?
    क्यु बोज से उनके तेरी पलके झुकने लगे ?
    क्यु इरादे पक्के तेरे यु डगमगाने लगे ?
    क्यु इतने बदलाव तुझमे आने लगे ?
    सबका सोच तु थोडासा खुदपे भी कभी नजर डालना
    सब खयाल रखलेंगे, तु बस अपना खयाल करना...

    ©dami_nagpure

    Read More

    सब खयाल रखलेंगे
    तु बस अपना खयाल करना...


    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 23w

    Khubsurat ho tum kitni kya kahu tumhe ,
    chand ne bhi sharmakar muh fer liya...

    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 23w

    Yeh dil dhadkta he dadkan tum ban jana,
    Jaha bhi ho bas chale aao hame
    itna bhi na satana...

    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 24w

    तुझे-तेरी बातों का पता था,
    मुझे-मेरी जज्बातो का,
    ना तु रूका , ना मेरे आंसु रूके
    और बस कहानी खतम.

    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 28w

    सवालो ने सवालो से सवाल किये
    इस तरह...
    जवाबो ने जवाबो से नाता तोड दिया

    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 32w

    ए हवा थोडा रूक जा,
    कुछ बताउ तुझे तु उन्हको बता।
    दुर तो हम हे ,तु तो पास हे
    तेरा होना तो बेहद खास हे
    ऐहसास दिलाना उन्हे तु थोडा गुनगुनाना
    बिस्तर मे घुस उन्हकी थोडा गुदगुदाना
    नकचडे से थोडे गुर्राये तो दौडी चली आना
    पकड मे आई उन्हकी तो न घबराना
    बस थोडा इतराना नाम हमारा ले लेना
    ए हवा थोडा रूक जा
    हा थोडा सताउ तुझे तु उन्हे सताना
    याद करू उन्हे तु याद हमारी दिलाना।
    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 33w

    अगर रूको तुम किसी के याद मे
    पर तुम ना हो उसके ख्वाब मे
    तो रूको जरा और सोचो
    क्या मिलेगा इस प्यार मे

    ©dami_nagpure

  • dami_nagpure 36w

    आज यादों का पगडा भारी है

    रातों के सितारे यु झगमगाये
    यादों हि यादों मे आँखे भर आये
    चांद आये तो कहना आमावस
    की रात अभी जारी है
    सब सलामत है बस
    यादों का पगडा आज भारी है

    हवाओं का भी इशारा है
    वक्त थोडी अब हमारा है
    बदलते समय ने रास्ते भी
    बदल ही दिये हमारे
    जो बाकी थी वो भी न रही गरमाहट मोहब्बत कि
    ये तस्सली आज करानी है,
    सब सलामत है बस, यादों का पगडा आज भारी है

    करवत ले रही याद आज बिस्तर पे
    आंसुओ के सितारे मेरे ,आखो पे हावी है
    हवाओं कि गुदगुदाहट जो ठेहरी
    मगर पुरा कमरा आज खाली है
    सब सलामत है बस, यादो का पगडा आज भारी है

    ©dami_nagpure

    Read More

    चांद आये तो कहना आमावस
    की रात अभी जारी है
    सब सलामत है बस
    यादों का पगडा आज भारी है

    ©dami_nagpure