Grid View
List View
Reposts
  • dipps_ 2d

    शे'र

    सब कुछ लुटाकर देख लिया मियां,
    सबको अपने मतलब से मतलब हैं!
    ©dipps_

  • dipps_ 3w

    शे'र

    हुस्न दिखाकर भला कब हुई हैं मोहब्बत,
    वो बस काजल लगाकर मेरी जान ले गई!

  • dipps_ 3w

    ग़ज़ल

    करते हो प्यार, क्या बताना जरूरी हैं?
    बातों बातों में प्यार, जताना जरूरी हैं!

    हर बात में यूं हाँ मिलाना अच्छा नहीं,
    कभी थोड़ा सा , पर सताना जरूरी हैं!

    ये इश्क़ इतना भी आसान नहीं मियां,
    कभी रूठना , कभी मनाना ज़रूरी हैं!

    मुस्कुराना ही, मोहब्बत का मोल नहीं,
    गमों का भी दफ़न, खजाना जरूरी हैं!

    छुप-छुप के मिलना भी इश्क़ हैं मियां,
    ये इश्क़ है इश्क़ में घबराना जरूरी हैं!
    ©dipps_

  • dipps_ 5w

    #dipps #hindi #hindiwrites
    Not all days r good so worst gazal needed to made yourself think to writer nice posts again

    Read More

    ग़ज़ल

    मानो तो यूं के बहुत ही ख़राब है हम,
    कहीं पर ज़हर कहीं पर शराब है हम!

    ये जो लोगो से जानते हो बारे में मेरे,
    उन्ही जवाबों का देखो जवाब है हम!

    कैसे बयां करूं मैं किरदार ये अपना,
    जैसे आग में जलता इक आब है हम!

    कभी जिएंगे जिंदगी अपने सलीके से,
    इस ख़्वाब का ही जैसे ख़्वाब है हम!

    कुछ गजलों में तो कुछ शेर शायरी में,
    छुपे हुए ये किस्सों की किताब है हम!
    ©dipps_

  • dipps_ 5w

    ग़ज़ल

    जात मजहब में यूं रिश्ता निभाते हुए,
    बिछड़ गए थे दो लोग पास आते हुए!

    क्या कमी थी मुस्कुराते चेहरे में देखो,
    खुश नहीं लगते खुशियां सजाते हुए!

    चल पड़ें थे दो आशिक़ चाँद को छूने,
    इन बादलों पर इक रास्ता बनाते हुए!

    कैसे उनकी याद से रुखसत हो जाते,
    मुझे गले लगाया था उन्होंने जाते हुए!

    मतले से हर शे'र फ़िर उलझता गया,
    इक मुकम्मल ग़ज़ल को बनाते हुए!
    ©dipps_

  • dipps_ 5w

    शे'र

    कुछ दर्द कुछ मोहब्बत कुछ प्यार लिखते हो,
    बखूबी से अपने एहसास तुम यार लिखते हो!
    ©dipps_

  • dipps_ 6w

    Two liner

    जात मजहब में यूं रिश्ता निभाते हुए
    बिछड़ गए थे दो लोग पास आते हुए
    ©dipps_

  • dipps_ 6w

    #dipps #hindi #hindiwrites

    फता - जीत

    Read More

    ग़ज़ल

    कभी तो कुछ दे बता ये जिंदगी,
    हुई है क्या मुझसे खता ये जिंदगी!

    मुस्कुराते-मुस्कुराते भी रो देते है,
    इतना क्यों रही है सता ये जिंदगी!

    कैसे बीतता है तेरा दिन मेरे साथ,
    तुझको भी है सब पता ये जिंदगी!

    खुशियाँ भी सजती नहीं होठों पर,
    ये कैसी मिली है फता ये जिंदगी!

    जो सबको जीने की वजह देता है,
    उसको कितनी है अता ये जिंदगी!
    ©dipps_

  • dipps_ 7w

    शे'र

    मैं आज भी तुम में, तुम्हारी यादों में रहता हूं,
    वहीं उन कसमों में वहीं उन वादों में रहता हूं!
    ©dipps_

  • dipps_ 7w

    शे'र

    पहले आते थे ख़्वाब राजकुमारी के,
    अब माँ-बाप का चेहरा नज़र आता है!
    ©dipps_