eshaandpen

hopeless romantic ❤️

Grid View
List View
Reposts
  • eshaandpen 1w

    पलकों पर बैठाया और ऐसा फितूर हो गया ,

    कालिख को काजल होने का गुरूर हो गया |

    ©eshaandpen

  • eshaandpen 3w

    Do you agree ??

    Read More

    इस
    सफ़र ऐ ज़िन्दगी मे,
    चाहत थी
    कोई मोहब्बत से हाथ पकडे |

    मगर हर कोई दुखती रग पकड़ता चला गया |

    ©eshaandpen

  • eshaandpen 3w

    ❣️

    Read More

    मैं आम मिटटी हूँ , वो एक ख़ास गुलदान हैं |

    उसका वजूद मुझसे हैं , वो कम्बख्त अनजान हैं |


    ©eshaandpen

  • eshaandpen 5w

    ये दुनिया गोल है ,
    यकीन मुझे तब हुआ !

    जब तुमसे मिलकर
    फिर बिछड़कर
    घूम फिरकर
    ये दिल वापस तुमपर ही आकर रुक गया |

    ©eshaandpen

  • eshaandpen 5w

    शायर की कलम
    इस वक़्त के समुन्दर का ,वो तिलिस्मी मोती हैं |

    जिसके छूते ही ये दुनिया ,
    खूबसूरती की एक मिसाल हो जाती हैं |
    ©eshaandpen

  • eshaandpen 6w

    फिर उसकी आँखों से कभी बारिश नहीं हुई ,
    होंठों पर गुलाब खिलना बंद हो गए
    और फ़िर एक दिन ,
    सरसों सा लहलहाता दिल यूँ ही रेगिस्तान हो गया |

    ©eshaandpen

  • eshaandpen 8w

    भीड़ में ,
    तुम्हारा साथ होते हुए भी ,
    जो खालीपन महसूस होता हैं |

    वो याद दिलाता है
    उस शून्य की
    जिससे कई कहानियां
    शुरू होती हैं |
    जिसपर कई कहानियां
    फिर खत्म हो जाती हैं !


    ©eshaandpen

  • eshaandpen 8w

    और वो समुन्दर के कतरे
    सैलाब ले आते है |

    जिन्हे हम करीब ,
    बहुत करीब लाकर
    किनारो पर हसंते हुए
    अधूरा छोड़ देते हैं !

    ©eshaandpen

  • eshaandpen 11w

    @neeraj_rai1 ��❣️

    Read More

    और वे जाते जाते,
    अपना सब कुछ साथ ले गया |

    सिवाये मुझे छोड़कर !

    ©eshaandpen

  • eshaandpen 11w

    ❤️❤️

    Read More

    प्रेम भूखा होता है , तो अक़्ल मांगता हैं

    और प्यासा होता हैं , तो आसूं |

    ©eshaandpen