#42posts

1 posts
  • archanatiwari 17w

    15/04/2022 #42posts

    Read More

    समय

    समय की तेज है धारा, संतुलन बनाते रखना,
    भवसागर है ये जीवन,तैर कर है पार उतरना।
    सुख-दु:ख है लहरों जैसे, मोह-माया के बंधन,
    सदा धैर्य की थाम पतवार, आगे बढ़ते रहना।।

    अर्चना तिवारी तनुजा ✍️
    ©archanatiwari