#Collab

4043 posts
  • raahi1 4d

    मुझसे बिछड़कर भी उसकी आँख नम नहीं होती
    फासले बढते जाते हैं यह दूरियाँ कम नहीं होती

    उसने हाथ भी डाले तो किन्हीं ओर बाजुओं में
    खैर हरेक फूल की किस्मत में शबनम नहीं होती

    बड़े पक्के होते हैं किसी ओर के दिए हुए जख्म
    जिनके लिए किसी तरह की मरहम नहीं होती

    तापता हूँ हाथ भी उसकी लगाई हुई आग पर
    जिसकी लो भी रात - दिन मध्यम नहीं होती

    कुछ बातें लबों पर ही रह जाया करती हैं
    कुछ मुलाकातें भी एकदम नहीं होती

    सूने गुजर जाते हैं कुछ सफर बस यूँ ही
    जब रास्तो में कोई हमदम नहीं होती
    दीपक.
    ©raahi1

  • introvertedwriter23 3w

    Neww

    As her husbands fingers slowly squeezed her navel a voice whispers biting her ear happy new year. The new year doesn't seem to change excitement when his fingers run her body
    ©introvertedwriter23

  • feelreality 4w

    A beautiful collaboration with a beautiful soul❣❣��
    Thank you for corporating with me @diamond49
    #collab

    Read More

    RAINBOW

    The book of my life
    Is full of colourful words
    Some pages are blank
    Some pages are dull

    I wanna fill them with
    Beautiful colours namely happiness
    I wanna decorate them
    With shimmery tape that's your touch

    I'm sure it would look
    Beautiful with you
    But doubt if you go far
    And I can't find you?

    And that's why
    I never looked upon you
    Fear of losing you
    Make me hide all those colours
    I specially chose to fill with you

    Then you came , held my hand
    Took out colours, we filled together
    I felt your touch, it was better
    Then we painted rainbows
    On life 's pages together

    //And darling,
    I took permanent colours
    When we painted rainbows together
    Cause i never want to lose that memory
    Once we cherished together//

    ~fille the little penguin~
    @diamond49
    ©feelreality

  • masoom_bachchi 5w

    दिल दुखे जिन बातों से
    उन्हें हंसकर टाल देना चाहिए,
    मनाना भूल चुके है लोग
    इनसे अपेक्षा त्याग देना चाहिए!
    ©masoom_bachchi

  • gauravs 5w

    #collab एक ही बात अलग अलग जज्बातों के साथ.. ✍️✍️
    @dil_k_ahsaas जी ��

    Read More

    काजल का रंग , गालों की लाली पर भारी पड़ गया

    कजरारे नैनों को देख दिल मेरा एक नजर में लुट गया

    @dil_k_ahsaas

    फीके लगने लगे उनके चेहरे के रंग सारे

    जब काजल से संवारे उन्होंने आँखों के किनारे

    ©gauravs

  • goldenwrites_jakir 6w

    #Collab

    #Gauravs ✍️
    इश्क़ ज़ब रूह तलक का "तो इसकी लम्बी उम्र क्यों नही
    किसी को मिली नई दुनियां " किसी को तन्हाई - रुसबाई

    तेरी झूठी वफ़ाओं का जिक्र सबसे पहले होगा
    अगर तेरे इश्क़ का कभी हम किस्सा बयां करेंगे ,,
    रोएंगे हम बहुत चुभेेंगे ज़ब तेरी बेवफाई के टुकड़े दिल पर
    वो ज़ख्म सारे चीख चीख कर तेरे दिए हर इक दर्द की
    दास्तां सुनाएँगे - रोएंगे हम बहुत ज़ब तेरी कहानी बताएंगे
    कैसे मिले कैसे बिछड़े वो पहली मुलाक़ात से
    वो आख़री लम्हें ज़ब हम सुनाएँगे रोएंगे हम बहुत
    ज़ब हर इक साँसो का हिसाब हर इक रात का
    हर इक दिन का बताएंगे -- -----
    क्या है ज़िन्दगी तन्हाई के साय में ----
    क्या है ज़िन्दगी इंतज़ार की परछाई में
    हर इक आईना तेरा हम ज़ब सब को दिखाएंगे
    रोएंगे हम बहुत ज़ब तेरे इश्क़ की दास्तां सुनाएँगे ...|
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 7w

    मेरी हर इक ख़ामोशी को
    वो मुस्कुराहट में बदल जाती है ..
    लिखती ज़ब कलम हमारी यादें
    बेजान रूह को जान दे जाती है ...
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 7w

    #Collab with @parle_g

    कभी जिस छत पर चाहक पंछियों की होती थी
    रौशन चाँदनी से लवरेज घर आँगन था
    आज घर की उन चार दीवारों में
    मातम का इक मेला लगा सा है

    Read More

    #Collab ✍️

    #parle_G
    हम ......ज़िंदा है इस घर में फ़क़त
    इस छत पर... रोज परिंदे मर जाते हैं

    वालिदेन ना हो जिस घर आँगन में
    वहाँ अपने भी... पराए हो जाते हैं

    हम कैसे ज़ख्म के उन निशां को ज़िन्दगी से मिटाएं
    ज़ब ज़िन्दगी.. माँ बाप की दुआ से महरूम हो जाए

  • goldenwrites_jakir 7w

    #Collab ✍️

    #pathak01 G
    किसी ने मुफ्त में वो शख्स पाया ....
    जो हर कीमत पे मुझको चाहिए था |

    लगाकर बोली वो मेरी , मुझे खरीद ना सका
    मांग कर दुआओं में , उसने मुझे अपना बना लिया |
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #Collab ✍️

    #Pathak01 G ✍️
    वफ़ा की ख़ैर मनाता हूँ , बेवफाई में भी
    मैं उसकी क़ैद में हूँ , क़ैद से रिहाई में भी |
    रूह बेचैन मचल रही इंतजार की आग में
    और तन्हाई दर्द की बरसात कर रही ज़िन्दगी में भी
    कैसे रूबरू मैं - उससे हो जाऊं
    हजार मिलो की दूरी और तक़दीर में लिखी जुदाई भी |
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #Collab ✍️

    #pathak01 G ✍️
    ना कर शिकवा , गुलाबों की बेनियाजी पर ,,
    हसीन जो भी होते हैं , जरा मगरूर होते हैं ... |

    खूबसूरत चादर पर सजाया जाता हूँ मैं
    किसी हमदम के रुखसार पर सज़ा हूँ मैं
    बेनियाज मैं नही बेनियाज मुझको बनाया गया |

  • goldenwrites_jakir 8w

    #collab with @pritty_sandilya my dear sister ��

    Read More

    #Collab ✍️

    #pritty_sandliya G ✍️
    ज़िन्दगी चल रही थी मेरी तेरे बगैर भी ,
    बस तूने अपना कहकर बेचैन कर दया |
    सिलह मिला ये कैसा सोचती हर पल ज़िन्दगी है
    भुला बिसरा लौट आया सुबह का शाम जैसा |
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #jp #Collab with @gauravs G ✍️✍️✍️✍️

    दिल का करीबी शख्स ही , दिल टूटने कि बजह बन गया
    देकर तोहफ़े मैं तन्हाई ता उम्र आँखों में आँसू "तन्हा छोड़ गया

    Read More

    #Collab ✍️

    #Gauravs G ✍️
    सौदे बाज़ी में वो शातिर कितना माहिर हो गया
    करके हमें ख़ुद से जुदा लम्बी उम्र की दुआ दे गया |

    कैसे दिखाएं अब उसे अपने दिल के ज़ख्म को
    जो खुद ही मरहम था वो दर्द देकर चला गया |
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #jp #Collab with @jigna_a दी " ��

    Read More

    #Collab ✍️

    #jigna_a दी " ✍️
    जो ख़्वाब मुकम्मल नही हो पाते,
    अश्कों के मोती बन निगाहों का नूर बन जाते हैं |

    सिमट कर कलम से कागज़ पर रंग वफ़ा के लिख जाते
    अश्क लफ़्ज़ों कि धारा बन कर दिल के ज़ज़्बात कह जाते हैं
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #Collab ✍️

    #harish8588 G
    कभी सोचा ना था , की इक रोज ये होगा
    वो मेरा होगा , मगर मेरे साथ ना होगा
    रोएंगी ये आँखे ता उम्र उसके इंतज़ार में
    और सनम मेरा , इन आँखों से दूर होगा
    कैसे उसको भुल जाऊं उसको याद ना करूँ
    वो हमदम हमनशी मेरा किसी और का होगा
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    ##Collab with @gauravs भाई G ��

    Read More

    #Collab ✍️

    #Gauravs भाई G
    तुझसे होकर गुजरने से अब सहम जाता हूँ मैं
    तू हाल मेरा अगर पुछले तो , कहीं रो ना दूँ मैं

    ज़ख्म दिल के गहरे इतने रूह से लहू बहता है
    बता अब तू ही हम दम तुझसे मिलने कैसे आऊं मैं

    ज़िन्दगी किस मोड़ पर हमें लेकर है आई
    मिलकर भी हम मिले नही वो तक़दीर
    हमारी ज़िन्दगी में लिख कर है आई
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    @jigna_a #jp #jakir #Collab with @mamtapoet G

    अगर मिलजाए कहीं फिर तुम्हारे दिल में मेरा पता
    लिख देना इक प्रेम पत्र तुम भी जरा .....

    Read More

    #Collab ✍️

    #mamtapoet G
    देखो , फिर से सिमट आई हूँ मैं,
    सफ़ेद पन्ने पर ,,,
    स्याही बनके तुम भी आ जाओ
    और मिलकर रचाते हैं खूबसूरत ,
    शब्दों का विन्यास ...

    बंद लिफाफे में करके क़ैद भुल ना जाना
    तुमसे मिलने बड़ी दूर आई हूँ मैं ,,
    लेकर अपने ज़ज़्बात दिल के एहसास
    तुम्हारे अंदर महसूस होने आई हूँ मैं ,,,,
    बनकर लफ़्ज़ों कि माला
    शब्दो से सवर कर तुम्हारे पास आई हूँ मैं .....
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #Collab ✍️

    ख्वाईश तो है कि ऐसा कोई खयाल भी ना हो ,
    इक दिन ग़र तुझे ना सोचूं तो मलाल भी ना हो |
    #singhashwni G

    रहे हरदम तू दिल के पास , तेरा साया मेरी परछाई हो
    ख़्वाब तेरे ख्वाईश मेरी ऐसा हमारी ज़िन्दगी का आईना हो
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #Collab ✍️

    फिरसे आगोश-ए-सितम में हूँ , जो मर्जी सज़ा दो मुझको
    शायद ये अच्छा रहेगा अहबाब , कोई बद्दुआ दो मुझको
    #parle_G

    जो दुआ भी भारी लगने लगे , इक दवा बताता हूँ तुझको
    मुख फेर कभी ना अपनों से , पर्दा ही दे रहा अंधेरा तुझको
    #anandbarun गुरु G

    कर बेसहारा मुझको , सब चल दिए अपने शहर में
    काश कोई मेरे शहर आने की ..... बद्दुआ दे तुझको
    #singhashwni G

    दवा भी बेअसर ज़िन्दगी में , कोई तो दुआ दो मुझको
    ज़ब अपने ही बेगाने हो गए, कोई तो सहारा दो मुझको
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 8w

    #Collab with @jigna_a दी " @anandbarun गुरु G ��

    Read More

    #Collab ✍️

    #jigna_a दी "
    हर रात निपटती रही तुझे याद कर ,
    और दिन भी गुजारता उसकी फ़रियाद कर ..

    #anandbarun गुरु G
    जो बादलों में लिखता रहा सकूँ से ,
    वो ख़्वाब ही थे जो बैरन हवाएं बहा ले गए |

    यादों की बरसात दिन रात खुदा से फ़रियाद करती रही
    सुकून के पल बिखर गए जो ख़्वाबों के उसे महसूस करती रही..
    ©goldenwrites_jakir