#Pushti

2 posts
  • bhartiiii 12w

    Memories

    Wo bahana bhi accha tha
    Ruthkr manana b accha tha
    Tere aane ke vaade bhi na pure hue
    Or tera aana b accha tha.
    Yaad h aaj bhi wo tumhara
    Meri fikr jtana
    Wo mujh hi se Ladd kr mujh hi ko manana
    Wo batein bachkani si,wo bemtlb khilkhilana
    Mere stupid se har question ka answer dete jana
    Wo humari callertune b same same lgana
    Wo tumhari hichkiyon pr bhi mujhe phone lgana
    Or mera neeli jeans me sheeshe k samne aana
    Tere zikr se b gaal gulabi ho jana
    Wo zulfon ka udta dekh in hawaon se tere hone ka ehasas kra jana
    Yaad h mujhe aaj bhi wo sari batein,sari yadein,
    Jo jee h humne us waqt me b jab hum dono hi
    Is baat se anjaan the ki kya hu main tumhare liye
    Aur tum mere liye?
    ©bhartiiii

  • bhartiiii 17w

    मोहब्बत

    कुछ ऐसा लिखकर उस पर कलम तोड़ दूंगी मैं
    वो क्या समझता है उसे यूंही छोड़ दूंगी मैं

    ज़र्रा ज़र्रा और कतरा कतरा निचोड़ दूंगी मैं
    हर नफ़रत का दरवाज़ा यूं तोड़ दूंगी मैं

    देखा है बहोत गौर से, उसने मेरी आंखों में
    गले लग कर उसे अब झंझोड़ दूंगी मैं

    वो आए अब की बार फ़िर बस एक बार दस्तक दे
    जहां जहां से टूटा है उसे जोड़ दूंगी मैं

    कैसे समझ लिया इतनी कमज़ोर मेरी चाहत को
    और मायूस किया इस दिल को
    वो रूह में है मेरी और मैं हर सांस में उसकी
    भला ऐसे कैसे सांसों का ये नाता तोड़ दूंगी मैं

    मेरी मोहब्बत उस से थी,उस से है और उसी से रहेगी
    ऐसे कैसे कहीं और दिल मोड़ लूंगी मैं
    मायनों में वो है मेरे इश्क़ के शामिल
    फ़िर भला कैसे उसपे लिखना कभी छोड़ दूंगी मैं

    ©bhartiiii