#dilkibaat

1850 posts
  • pris_musings 5d

    एक अरसा बित गया


    लढते लढते


    सुकून के लिए ।
    ©pris_musings

  • sagar_parasher 5d

    मेरा भारत महान

    ज़रा बात मेरी भी सुनना मित्रों
    पर ये है थोड़ी पुरानी
    ये भरत के देश की गाथा है
    बड़े कहते हैं सच्ची कहानी
    मैं बात उस धरा की कर रहा
    सुनहरी है जिसकी इस दुनिया में शान
    यूं ही नहीं कहलाया
    ये मेरा भारत महान।

    ये देवों की भुमि है
    बसें हैं स्वयं ब्रह्मा विष्णु महेश
    राम भी जन्मे यहां
    यहां दिए कृष्ण ने उपदेश
    यहां मिलती वेदों की वाणी
    और मिलता गीता का ज्ञान
    यूं ही नहीं कहलाया
    ये मेरा भारत महान।

    कितने वीर प्रतापी राजा
    इस मिट्टी से आए हैं
    अपने शौर्य से इस धरती को
    सोने की चिड़िया बनाए हैं
    आज भी उनकी गाथाओं का
    करते जन जन गुणगान
    यूं ही नहीं कहलाया
    ये मेरा भारत महान।

    बड़े बड़े तपस्वियों ने
    इस पावन धरा का उद्धार किया
    अपने ज्ञान से चहुं ओर
    सुख शांति का प्रसार किया
    नमन है उन ऋषि-मुनियों को
    जिन्होंने बढ़ाया इस धरती का मान
    यूं ही नहीं कहलाया
    ये मेरा भारत महान।
    ©sagar_parasher

  • vy_thoughts 1w

    फर्क है ....by - V¥ "R∆M∆"

    #fakepeople #fark #kabr #log #deepthoughts #deepfeelings #dilkibaat #sach

    Read my thoughts on YourQuote app at https://www.yourquote.in/vy-prut/quotes/sc-huun-kyonki-main-sc-kaa-shor-khaataa-huun-ye-kuch-aur-aur-cigvt4

    Read More

    सच हूं
    क्योंकि मैं सच का शोर खाता हूं,

    ये कुछ और
    और मैं कुछ और चाहता हूं,

    फर्क है इनमे और मुझमें
    बहुत

    ये घर के बाहर लोग और
    मैं मरने के बाद अपने कब्र के बाहर लोग चाहता हूं...!
    By - V¥ "R∆M∆"





    ©vy_thoughts

  • safaranjana 2w

    Tanhai

    Jab se muze tanhai se pyar hua hai,
    Mera muskurana beshumar hua hai..
    ©safaranjana

  • sagar_parasher 2w

    लड़का होना भी आसान नहीं

    #हिंदी #कविता #hindipoetry #dilkibaat #boys #botd #feelings #sagarkivaani #sagarparasher

    Read More

    लड़का

    बहुत दर्द सहना पड़ता है जमाने में
    ये इतना सरल भी काम नहीं,
    भुला देना पड़ता है अपनों के लिए अपना वजूद
    लड़का होना भी आसान नहीं।

    सिर पर होती है जिम्मेदारी
    भुला देना पड़ता है हर आराम,
    परिवार का बोझ उठाते जो भारी
    सहना पड़ता है हर अपमान,
    कंधे जो यूं कुछ झुके हैं
    इन्हें देख कर कोई हैरान नहीं,
    बहुत दर्द सहना पड़ता है जमाने में
    लड़का होना भी आसान नहीं।

    जाने कैसे बनाया सख्त जमाने ने
    जबकि होते हैं बहुत भावुक,
    घुट घुट कर रोते रातों में
    छिपाकर सारी दुनिया से आंसू,
    क्या चल रहा है मन में
    इनके चेहरे से पहचान नहीं,
    भुला देते हैं अपनों के लिए अपना वजूद
    लड़का होना भी आसान नहीं।
    ©sagar_parasher

  • an_merciful_friend 2w

    _*To you & your family*_,

    नमस्ते

    *कैसे हो आप?* आशा करता हूं कि सब खैरियत है।

    "बीता एक साल या कहो बीते महीने बारा,
    _*एकिस्वी सदी के एकिस्वे जन्मदिन*_ पर आपका स्वागत है यारा।"

    _मन की बातें कहने लेकर आया हूं फिर से एक प्यारा सा नज़राना, कैसा लगा अगर हो सके तो ज़रूर बताना।_

    "*पिछले साल की आखरी रात* बाकी रहती उम्मीदें हमारी नींद भरी पलकों में बंध करके, उन उम्मीदों को नए साल की पहली सुबह पर खुलती आंखों की नजरों में हमें देकर *चली जाएगी*,
    और *इस साल ज़रूर पूरी होंगी तुम्हारी चाहतें*, ये आशीर्वाद भी देकर जाएगी।"

    *शीर्षक*: 21st Birthday of the 21st Century!!

    यह बात उतनी ना मेरी और आपकी है, ना बीते व आनेवाले साल की है, जितनी भी है *हम सबके साथ इस सदी के आज* की है।

    पता नही सो साल हम जीयेंगे या नहीं , पर इस *सदी की तो सदी* तय है, नर्वस नाइनटी की इसे कोई चिंता नहीं , मगर हम है तभी इसकी यादें है, इसलिए उन्हें सजाने के और इस खास दिन को मनाने के वास्ते ये *पार्टी मैने होस्ट* की है।

    इस *पार्टी की लिखावट* हर आनेवाले पल की तरह अनिश्चित होती जा रही है ☺️, इसमें "जिन्हें जानता हूं व जानना चाहता हूं, उनके साथ *आज* का एक हिस्सा और उसकी खुशी बांटना चाहता हूं ", निश्चितता तो बस *इस बात* की है।

    बातों का सिलसिला चलता रहेगा, चलिए वक्त होगया है "इस सदी की सालगिरह की केक" काटने का........
    अरे अरे कोई बात नहीं..तैयार नहीं हुए तो चलेगा बस मन के चेहरे पे मुस्कान रख लेना और ताली अगर ना बजानी हो तो बस इतना कह देना की..

    _*Happy 21st Birthday 21st Century & Happy New Year 2022*_

    द्वारा लिखित: *दोस्त* उर्फ *अंकित महेता* ✌

    ©an_merciful_friend

  • anaameekaa 4w

    Andaz-e-Ishq

    Ki thi laakh humne par thi wo
    Har Ekk koshish bekaar
    Zubaan ne sath naa diya
    Naa Kar sakein hum izhaar !
    ©anaameekaa

  • sagar_parasher 6w

    उलझे जज़्बात

    उलझी रातें उलझी बातें
    उलझे हुए हैं जज़्बात
    उलझी मेरी चाहतों में
    बाकी है ना कोई आस
    हर ओर सन्नाटा है
    गहरा है बहुत राज़
    अकेले से पड़ गए हैं
    जाने क्यों हम आज
    टूटे सपने टूटी उम्मीदें
    टूटी है हर फरियाद
    किसको बयां करें हम
    ये अपने दिल की बात
    अपनों से ही डर लग रहा है
    क्यों बदले हम यूं आज
    किसको बताएं हाल ए दिल
    खुद रूठी मुझसे मेरी हयात...
    ©sagar_parasher

  • sagar_parasher 7w

    जाने कैसे एक पल में हमारे जीवन से जुड़े ये लोग कहां गायब हो जाते हैं। हम तो संभल भी नहीं पाते कुछ ऐसे चले जाते हैं। एक बुरा सपना सा लगता है सब। दिल चाहता है आंख खुल जाए, ये बुरा सपना टूट जाए। पर जाने क्यों ये जिंदगी की सच्चाई से जुड़ गया है हमेशा हर वक्त रुलाए जा रहा है...��

    #हिंदी #hindi #hindipoetry #dilkibaat #yaadein #dilkadard #sagarkivaani #sagarparasher

    Read More

    कमी

    वो कमी थी जो जीने में
    बहुत चुभती है आज भी सीने में

    तरसते हैं कान उनकी डांट को
    हर रोज याद आती है सोते वक्त रात को

    वो जो सुकून था उनकी छांव में
    बहुत सताता है आज जीवन की हर बात में

    देखता हूं जो सपने उनको फिर दिल से लगाने के
    जो हर सुबह टूट जाते हैं आंख खुल जाने से

    जाने क्या खता थी जो इतना तरसते हैं
    सुनने को वो गुम आवाज मेरे आशियाने से...
    ©sagar_parasher

  • sagar_parasher 8w

    हंसते चेहरे ☺️ राज गहरे
    जाने क्या दिल में बसाए हैं....

    #हिंदी #poetry #feelings #dilkibaat #smile #hindipoetry #botd

    Read More

    हंसते चेहरे

    हंसते चेहरे राज गहरे
    जाने क्या दिल में बसाए हैं
    हल्की सी इक मुस्कान के पिछे
    जाने कितने राज छिपाए हैं
    ना कोई है वाक़िफ इनकी तन्हाइयों से
    दिल में हर बात ऐसे दबाए हैं
    हर आंसू को अपने भीतर
    जाने कैसे पी पाएं हैं
    प्यारी सी बातों में अपनी
    खामोशी को छिपाए हैं
    ना जाने ये अनोखा हुनर
    ये कहां से सीखकर आए हैं
    खुशी जो मुक्कमल हुई नही
    चाहे कितना भी तड़पाए है
    हर ओर बिखेरते हंसी के रंग
    जाने ये हिम्मत कहां से लाए हैं
    दिल चाहे सुन ले ये कोई खामोशी
    जो हर रात रुलाए है
    पर न निकलेगी इक आह तक दिल से
    जाने ये किस दुनिया से आए हैं
    हंसते चेहरे राज गहरे
    जाने क्या दिल में बसाए हैं...
    ©sagar_parasher

  • an_merciful_friend 10w

    *नमस्ते*

    *कैसे हो आप? आशा करता हुं कि सब खैरियत होगा।*

    काफी समय हो गया कुछ लिखकर आपको सुनाए हुए, इसलिए - *दिवाली, नया हिंदु वर्ष व भाईदूज* की खुशी में आप के लिए आज लेकर आया हुं एक *प्यारभरा नज़राना*, कैसा लगा अगर हो सके तो ज़रूर बताना।

    "वक़्त ने किया क्या हसीन सितम..किसीको याद करके इस पल में, अगले पल में उसे भूल गए हम..वक़्त ने किया..."

    बीता हुआ वक़्त यूंही कोई भुला नहीं पाता, बस उस वक़्त के साथ दूर जा रहा कल धुंधला होता जाता है और यूंही वक़्त की छन्नी में से जो बातें, लोग, और पल छन के निकल आते है..उनकी कहीं ना कहीं, कभी ना कभी, बेवजह या किसी वजह से.. _*याद आती है।*_ ‍♂️

    व्यस्तता में हम जैसे कई है जो कह नहीं पाते, पर सब को दूर रहते अपनों की.. *याद आती है*। ⏳

    रोज़ बातें क्यों ना करते हो हम किसी से फोन पे, लेकिन फिर भी कभी जब बात ना हो तब उन साथ बिताए पलों की.. *याद आती है*।

    खुद खाना कितना भी स्वादिष्ट हम क्यों ना बना ले, फिर भी कभी किसी निवाले पे मम्मी के हाथों से बनी रसोई की.. *याद आती है*।

    दोस्त - रिश्तेदारों के साथ या कभी यूंही अकेले में खुशी से हंसते हुए, हमारी हंसी की किसी खिलखिलाहट में या खुशी के किसी आंसु में कुछ खास अपनों की.. *याद आती है*।

    इसे पढ़ते या सुनते हुए अगर कोई कहेगा कि,"यार, रुलाएगा क्या!?", तो में समजूंगा की आपके दिल तक मेरी ये बात थोड़ी सी भी सही लेकिन पहुंची है और आप कहो या ना कहो पर आपको भी किसी ना किसी की.. *याद आती है*।

    चाहता तो हुं कि और सोचकर लिखु , आपको और मन की बातें कहूं, आप जानते है की ये तरीका है मेरा आप सब को एक साथ मेरे शब्दों से बनी कहानी बताने का, मेरी बातें मेरी कहानियां जब आप तक पहुंचती है तब ही वे *मुक्कमल* होती है, और इसलिए कभी कभी आता हुं आपसे बातें करने..क्योंकि मुझे भी कहीं ना कहीं, कभी ना कभी, बेवजह या किसी वजह से आप लोगों की.. *याद आती है*।। ❤️

    द्वारा लिखित: *दोस्त* उर्फ *अंकित महेता* ✌

    ©an_merciful_friend

  • mili11 9w

    It's never about saying, it's always about feeling.
    ©mili11

  • sagar_parasher 12w

    बेहतर कुछ भी नहीं होता। कोई भी इंसान इस दुनिया में सर्व गुण संपन्न नहीं है। हमें जो मिला है उसमें खुश रहना चाहिए। कहीं हम सोने की तलाश में पीतल को पाकर अपना असली खजाना ना गंवा बैठें।
    इसलिए जो मिला है उसको अपनाएं क्योंकि उससे बेहतर आप अपने जीवन में कुछ नहीं पा सकते।

    #हिंदी #hindi poetry #pod #feelings #dilkibaat #wordsporn #acceptance #sagarkivaani #sagar_parasher

    Read More

    तलाश

    वो मुझे पाकर भी
    मुझसे बेहतर की तलाश में है।

    बदनसीब है बेचारा
    जाने किस ताक में है,
    ये तो मैं ना चाहूं
    वो दुर हो मुझसे,
    पर करते हैं दुआ
    उसे वो मिल जाए
    जिसकी वो फिराक में है।

    आज भी उसकी चाहत की
    हमको चाहत है,
    उसकी हर खुशी से
    हमको राहत है,
    खुशनसीबी होगी मेरी
    उससे दूर रहना,
    क्योंकि वो सोने को पीतल से
    तोलने की आस में है,
    वो मुझे पाकर भी
    मुझसे बेहतर की तलाश में है।
    ©sagar_parasher

  • sagar_parasher 12w

    जिंदगी

    जिंदगी है आसान कैसे होगी
    आसान हो गई तो जिंदगी कैसे होगी,
    बेशक भटकते हैं आज हम राहों में दर-बदर
    पर यकीन है मुझको वो सुकून वाली छांव भी होगी।

    कि वो छांव जिसके लिए हैं हम तरसे
    हर रात तिनका तिनका थे बिखरे,
    बेशक आज ये तन्हा शाम है लकीरों में
    पर तेरे मेरे मिलन की वो चांदनी रात भी होगी।

    कि वो रात जिसकी हमको चाहत है
    जिसकी हर बात में दिल को राहत है,
    बेशक फंसी है आज ये नाव बीच मझधार में
    पर किनारे लगाने वाली ज्वार भी कहीं उठी होगी।
    ©sagar_parasher

  • vy_thoughts 15w

    एक वक्त खुद से
    इस कदर लिपट कर रोया

    की फिर न कभी रोना आया ,

    आया जीना
    आया जिंदगी में सब कुछ फिर ,

    बस
    ना वो आई ,
    ना रात आई ,
    ना नींद आई
    और ना
    सोना आया ...!
    BY - V¥ "R∆M∆"
    ©vy_thoughts

  • surajsanu 18w

    Besabar se intezar tha
    Kab tum aaoge
    Ane ke baad ye na soche the
    Itna jaldi bhul bhi jaoge
    ©surajsanu

  • mr_purohit_____ 21w



    Bichhad gaye to DIL
    Umar bhar lagega nahi,

    Lagega lagne laga hai
    Par lagega nahi....!
    ©mr_purohit_____

  • kumardeependra 21w

    समंदर की लहरों से खेलने का शौक नहीं है पर,
    पता नही क्यूं तेरी आंखों में डूब जाने का मन करता है।
    ©kumardeependra

  • feel_my_luvv 22w

    अधूरा प्यार

    कुछ यादें अधूरी है, कुछ बातें अधूरी है
    नजाने कितनी मुलाकातें अधूरी है,
    ©feel_my_luvv

  • divoohere 22w

    #dilkibaat.....��
    #khayal...✍️✍️
    @miraquill

    Read More

    I may not be a permanent person in anyone's life.
    But assure to be the best temporary person you'll meet .
    ©divoohere