#gannudairy

7 posts
  • gannudairy_ 5w

    ❣️

    हाँ जी सुनो तुहानु कहंदा...
    वेखे किने दिन होगे..
    कल्ला कल्ला सांह तुहानु वेखन नू तरसदा...
    But am waiting for the day.. When I'll meet you..
    पहलां तैनु Hug करूं फेर पुछूं हाल तुहाडा..
    मेरे Dreams बिल्कुल बच्चयां वाले ने..
    That I want to be With you..
    हाले तक Mughal Garden नहीं घूमया.. Because That place I want to see with you..
    I wanna make you believe that..
    दोनां दे घर दयां नूं मनावां..
    I wanna Breathe with you..
    पाके तेरे हाथां विच चूड़ा तेरे नाल ब्यास गेड़ा लाना..
    But I don't Agree with you..
    जदों तुसी बिना गल किते सों जांदे हो..
    I want to see world with you..
    इक वारी couple वाला photo profile ते लाना है..!!

    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 6w

    #rachanaprati122
    विषय - "रूहानी प्रेम"

    @anandbarun @anusugandh @mamtapoet @goldenwrites_jakir
    #gannudairy

    Read More

    विषय

    @loveneetm ji आपका बहुत बहुत धन्यावाद जो आपने मुझे संचालन के लिए चुना है....
    @anusugandh ji @mamtapoet ji @anandbarun @alkatripathi79 @goldenwrites_jakir आप सभी का बहुत आभार...
    #rachanaprati122 का विषय है "रूहानी प्रेम"
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 6w

    ❣️

    ऐ दिल तू किसी की बातों में आ गया
    वो तो जहन में था इबादतों में आ गया

    झूठी तारीफ ना महबूब के हक जो हुई
    वो आफरीन तो पाक आयतों में आ गया

    अब के जाती नहीं उस तक सदायें कोई
    वो मौत सा जिंदगी की मिन्नतों में आ गया

    आने लगी उसके जिक्र भर से हसीं लबों पे
    'गौरव' तू किसी की मोहब्बतों में आ गया
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 6w

    शुरुआत

    आज बैठे बैठे यू ही कुछ सोचने लगा मैं,
    खुद को खुद में खोजने लगा मैं!!

    मिल कर खुद से हैरान था,
    शायद किसी बात से परेशान था!!

    एक सवाल जो मुझे बहुत सता रहा था,
    क्या हूँ मैं बस यही पूछे जा रहा था!!

    उस दिन पूरी रात नहीं सोया,
    ना जाने क्यूँ उस रात खूब रोया!!

    अगली सुबह मैंने फिर खुद को तलाशा,
    अपने अंदर की खूबी को एक बार फिर से तराशा!!

    आँखों में जुनून और दिल में ज़ज्बा था,
    जानता हूँ रास्ता मुश्किल है.. पर करना पूरा हर सपना था!!

    उसके बाद से मैंने फिर कभी अपने कदमों को रुकने नहीं दिया,
    गिरा और संभला पर अपने इरादों को झुकने नहीं दिया!!

    गुरूर इन असमान के सितारों का तोड़ना था,
    अपने रास्तो को अपनी मंजिल से जोड़ना था!!

    ताने भी लोगों के मैं क्या खूब खाता हूँ,
    नहीं फिर भी आँखों में भी भर के आंसू लाता हूँ!!

    हाँ ये सच है जीतना मुझे ये सारा जमाना है,
    एक जुनून है कि कन्धों पे सितारों को सजाना है!!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 7w

    Diduu❤️

    कभी मेरे मुह पर मेरी तारीफ नहीं करती,
    पर कोई जो मेरी बुराई करे तो तुरंत बिगड़ जाती है!!

    मेरे सामने कभी मुझे शरीफ नहीं कहती,
    पर कोई जो मुझे पागल कहता है.. उससे लड़ जाती है!!

    मैं ब्यान नहीं कर सकता मेरी जिदंगी में उसकी हुकूमत को,
    बहुत छोटा कर देती है मेरी हर जरूरत को!!

    मेरे होस्टल घर आने की खबर सुन कर खुश हो जाती है,
    मेरे पसंद के खाने बना अपने हाथ वो खिलाती है!!

    मेरे मायूस होने पर कोई पूछे ना पूछे,
    पर "ओये हीरो क्या हुआ" वो सवाल रखती है!!
    एक सच्चे दोस्त की तरह हमेशा वो मेरा बहुत ख्याल रखती है!!

    वो कहती है मुझे पता है कभी तेरी मनसा गलत नहीं होगी,
    पर कोई कदम उठाने से पहले उसे परिणाम के तराजू में तोला कर,
    मै जानती हूँ तेरी बात गलत नहीं होती,
    पर गौरव भाई तू लोगों के सामने कम बोला कर!!

    मेहनत करता रह बच्चे हार नहीं मानना.. अपने कदमों को कभी ना रुकने देना,
    बहुत नाम कमाना.. बहुत आगे जाना...
    मेरे लिए बहुत कठिन है परिभाषित करना,
    इतना अद्भूत होता है उसका सिखाना,
    एक गुरु की तरह उसने समझाया है मुझे,
    जिंदगी की राह पे एक माँ की तरह चलना सिखाया है मुझे!!

    सच कहू तो होस्टल से घर जाने का यही होता है बहाना,
    मुझे तो खाना होता है उसके हाथ से खाना,
    खाना तो खाता हू चाव से,
    पर शायद भूलता हू पहला निवाला उसे खिलाना!!

    बहुत लड़ता हूं उससे.. बहुत झगड़ता हुँ,
    पर अंत में हमेशा मना लेता हूँ...

    मनाऊँ भी क्यु ना...
    उसके बिना मेरा सरता कहाँ है,
    वो तो मेरी जान मेरा जहां है,
    मेरी गर्लफ्रेंड की सारी बात उसे बताता हूं,
    उसको कौनसा गिफ्ट दिया उसे चिढ़ाता हूं,
    घर जाने से पहले बातों का भंडार होता है मेरे जहन में,
    जो सब कुछ सुने.. ऐसा दोस्त बस्ता है मेरी बहन में!!!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 7w

    ❣️

    प्रेम तारीखों का मोहताज न हो, अपना ही तीज त्यौहार हो!
    मैं बनूँ चाहे तेरा वेलेंटाइन सा या तुम मेरी तीज बन जाओ!

    शब्द शब्द प्रेमपत्र का हो, हर शब्द का अर्थ तेरे नाम का हो!
    मैं बनूँ छंदमय प्रियतम, तुम कविता सी प्रेयसी बन जाओ!

    दूर देश का रहवास हो, विरह से मिलन की बड़ी आस हो!
    मैं बनूँ सिर्फ तेरा साजन, तुम मेरी सावन सी सजनी बन जाओ!

    करवाचौथ का उपवास हो, मेहंदी से लिखा मेरा नाम हो!
    मैं बनूँ सिंदूर पति का, तुम अमर सुहागिन पत्नि बन जाओ!

    दिल में मचलते अरमान हो, कहीं छुप छुप मुलाकात हो!
    मैं बनूँ छैल छबीला प्रेमी, तुम छबीली प्रेमिका बन जाओ!

    गली का नुक्कड़ ठिकाना हो, इंतजार में सुबह से शाम हो!
    मैं बनूँ मिजाज आशिक का, तुम शर्मीली माशुका बन जाओ!

    तेरी आवाज मुरली की तान हो, होठों से लगने की प्यास हो!
    "गौरव" बने कृष्ण सखा सा, तुम राधा सी सखी बन जाओ!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 7w

    रब

    तुम राजी सिर्फ रब को करो,
    क्योंकि जब रब राजी हुआ तो तुम कतरा मांगोगे,
    वो तुम्हें समंदर आता करेगा!!
    ©gannudairy_