#hindiwriting

4474 posts
  • tiethethought 1d

    Aaj dil ne phir tumhein chaaha
    Phir ek baar tumhein apna kaha.
    Kitab ke har us panne ko
    Dobara padha.. jahan tumne
    Gulaab chodha tha.
    Phir tumhein hassta hua dekha.
    Phir ek baar wahi sapna dekha..
    Phir ek baar taare gine.
    Isi umeed mein
    Ki tum aaj bhi mere saath ho
    Alag duniya mein nahi..
    Meri hi duniya ka ek hissa ho.
    ~HJ☆

  • iam_vaibhav07 2d

    मेरे ख़याल

    एक वक़्त था जब मैं इस मोह माया की नदी को पार कर उस पार जाना चाहता था, जहाँ मुझे कोई नहीं जानता होगा, जिसके लिए मैंने तेरे प्यार की कश्ती का सहारा लिया इस बात से बिल्कुल अनजान की उस कश्ती में छेद था। नतीजा मैं गिर गया और आजतक उसी मोह माया की नदी में गोते खा रहा हूँ। तैरना तो आता है मग़र किस ओर जाना है कुछ पता नहीं। सोचता हूँ धीरे धीरे उस तारे की ओर चलूँ जिसे हम दोनों छत पर साथ बैठ कर देखते थे, मग़र रास्ते से अनजान हूँ तो इस बात से डर लगता है कि कहीं दुबारा उसी छोर पर ना पहुँच जाऊँ जहाँ से मैंने अपना सफ़र शुरू किया था।
    कहते हैं कि, "डूबते के लिए तिनके का सहारा भी बहुत है", पर सोचने वाली बात ये है कि मुझे तो तेरे प्यार का तिनका भी नसीब नहीं हुआ। प्यार करना तो बहुत दूर की बात है, मेरे हिस्से तेरी नफ़रत भी नहीं आयी, अगर आती तो कम से कम उसी बहाने तू मुझे याद तो करती। ख़ैर जो हुआ सो हुआ, अब तो किसी को अपना हाल-ऐ-दिल सुनाता हूँ तो मुझे शायर बोल दिया जाता है, महफ़िलों में मेरी शायरीयों की फर्माइश होने लगी है, अगर कोई पूछता है कि, "कौन है वो " तो जवाब में मैं बस मुस्कराता और समझने वाले समझ जाते हैं कि, 'वो मेरी इसी मुस्कान की सबसे ख़ूबसूरत वज़ह थी '। अब उम्मीद दूसरी कश्ती के आने की है जो मुझे निकाले मग़र लेकर कहाँ जाए, कोई अंदाज़ा नहीं। और दुआ यही है कि इस बार कश्ती खाली रहे मग़र खोखली नहीं।

    -वैभव
    ©iam_vaibhav07

  • tanujsingh 1w

    मुसाफिर

    अब क्या भरोसा करे उस मुसाफिर का,
    जो हर एक गाँव मे घर बसाता चला गया।
    ©tanujsingh

  • shikha___ 1w

    Samandar Hain Basa Har Taraf Mushkilon Ka,

    Magar Dua, Sabr Aur Yakeen Sath Rahe To Sab Acha,

    ©shikha___

  • innocent_lover 2w

    Tu Bin Bataye,
    Mujhe Le Chal kahin,
    Jahan Tu Muskuraye ,
    Meri Manzil Wahin!❤️


    ©innocent_lover

  • sana_1992 2w

    ❤️

    सुनो ना, तुम कहते हो ना, बहुत प्यार करते हो मुझसे,
    तो क्या तुम periods में भी मेरे pain और
    मेरे mood swings को समझ पाओगे क्या
    ©sana_1992
    सना गुप्ता ️️

  • iam_vaibhav07 2w

    मैं, तुम और यादें!

    पता नहीं क्यूँ आज भी तुम मेरे ज़हन में उसी तरह से मुस्करा रही हो, मगर कुछ बोलती नहीं सिर्फ़ मुस्कराती हो, खुश हो जिंदगी जी रही हो। मगर मेरी मौजूदगी से बिल्कुल अनजान मानो मैं हूँ ही नहीं।
    इंसान को अपना बीता हुआ कल, कभी नहीं भूलता, मगर तुम्हें देख कर ऐसा लगता है, जैसे तुम्हारे कल में मैं था तो, मगर मेरे होने ना होने से कोई फर्क़ नहीं पड़ रहा था।
    और अब तो ऐसा लगता है, मैंने तुम्हारी जिंदगी में अपना वज़ूद खो दिया है।

    दोस्त अक्सर कहते हैं कि मैं बदल गया हूँ, मगर कैसे?
    क्या मैं उन्हें बताऊँ कि जो मुस्कान मेरे चेहरे पर आती थी वो सबसे प्यारी थी, जिसकी एकमात्र वज़ह, तुम्हारा साथ रहना था।
    हर बार मैं खुद से आगे बढ़ने की दरख्वास्त करता हूँ। मगर अब, तुम्हारी इन यादों के साथ रहना रास है मुझे। अखिर वो तुम्हारी दी हुई एकमात्र निशानी है। और ये निशानी मैं जिंदगी भर सम्भाल कर रखना चाहता हूँ।

    एक वक़्त आयेगा जब तुम्हारी खाली जगह कोई और ले लेगा, मगर तुमसे जुड़ी यादों में कोई बदलाव नहीं ला पाएगा।
    चाहता तो तुम्हें भूल कर आगे बढ़ जाता, मगर सच बताऊँ तो अब मन नहीं करता कि इन यादों का हाथ छोड़ू। जी चाहता है इस हाथ को यूँ ही पकड़ कर चैन की नींद सो जाऊँ।

    एक उम्मीद बनी हुई है, कि एक दिन लौटोगी, पर सोचने वाली बात ये है, कि क्या हमारे बीच वो पहले जैसी बात रह जाएगी? क्या मैं तुम्हें अपना समझ पाऊंगा? तुमसे वो सारी बातें कर पाऊंगा, जो करना चाहता था? और सबसे अहम सवाल क्या मेरे अंदर उतनी हिम्मत होगी?
    इन सब सवालों का सिर्फ एक कठोर ज़वाब है कि 'नहीं ' , वो बात नहीं रह जाएगी, अपना तो एक बार को मान लूँ,  मगर वो बातें नहीं कर पाऊँगा।

    मेरी आँखों से बहता दरिया कल को शायद सुख जाए, मगर वहाँ एक रास्ता बन जाएगा, जिस रास्ते से मेरे सारे ग़म गुज़रे होंगे, जिस रास्ते से वो यादें गुज़री होंगी, गुज़री होंगी हमारी सारी मुलाकातें।
    वो दरिया सिर्फ़ कहने सुख गयी होगी, मगर सूख जाने से उसकी अहमियत कम नहीं होगी।
            
                                                               -वैभव

  • sana_1992 2w

    ❤️

    सुनो ना, तुम कहते हो ना, बहुत प्यार करते हो मुझसे,।
    तो अपने प्यार का इज़हार भरी महफ़िल में कर पाओगे क्या मुझसे
    ©sana_1992
    सना गुप्ता ️️

  • __penned_emotions__ 2w

    _NARAAZGI_

    Khafa ho mujhse kya?
    Jo labon pe sirf narazgi rakhne lgi ho.
    Nigahein tumhari kisi aur ko doondhti hai kya?
    Jo ab yun nazrein pherne lgi ho.
    ©__penned_emotions__

  • shivu14 2w

    चीख!

    मेरे जिस्म से निकली वो चीख जो अरसो से बाहर आने को बेताब थी वो आखिर आ ही गई, सब कुछ चीरती हुई। एसा लगा जैसे पूरी दुनिया ने उसे सुन ही लिया, मगर अफसोस की जिस्म से निकली चीखो के आवाज़ नहीं होते। वो तो बस खुद को सुनाई देती है और सब तबाह कर निकल लेती है!
    ©shivu14

  • roheet 2w

    इक़बाल

    माना कि तेरे दीद के काबिल नहीं हूं मैं, तू मेरा शौक देख, मेरा इंतजार देख.

  • __penned_emotions__ 3w

    _Nyi_Dunia_

    Ek duniya jo iske bilkul ulat hogi
    Vha toh tum aaoge naa?
    Jo vaade iss duniya me tode tumne
    Vo sabhi vha toh nibhaoge na?

    Mann ke kisi kone mein iss duniya ka khyaal rakh ke khush ho leta hu tanhai mein
    Btaya nhi tumhe maine
    Kyuki vha se bhi toh phir nikal jaoge na
    Ek duniya jo iske bilkul ulat hogi
    Vha toh tum aaoge na?

    Jaha zindagi ki raftaar thodi dheemi hogi
    shayad aag bhi jahan oos me bheegi hogi
    Uss duniya me mere sang,
    Haath pakad chal paoge na?
    Yeh khwabeeda lamhe jo yha beete nahi
    Vha toh unhe sacch kar jaoge na?
    Ek duniya jo iske bilkul ulat hogi
    Bolo...
    Vha toh tum saath nibhaoge na?
    Vha toh tum aaoge na?
    ©__penned_emotions__

  • innocent_lover 3w

    Tere sath ka mtlb jo bhi ho..
    tere bad ka mtlb kuch bhi nhi ...

    Tu h mai hu sb kuch h...
    pr agar tu nhi to mai nhi to kuch bhi nhi...


    ©innocent_lover

  • iam_vaibhav07 3w

    विलोम और पर्याय

    आज फिर जज़्बातों की स्याही से पन्ना भरने चला हूँ।
    काफी जज़्बात भरे हुए हैं अंदर, सम्भल नहीं रहे मगर सम्भाल रहा हूँ।
    अंदर से टूट कर टुकड़ों में बिखर गया हूँ, धीरे धीरे हर एक टुकड़े को समेटने की कोशिश कर रहा हूँ, कभी कभी हाथ कट जाते हैं, मगर दर्द का एहसास नहीं होता,  आदत जो पड़ गयी है। या यूँ कहूँ कि हालातों ने इतना मज़बूत बना दिया है कि इन छोटी मोटी खरोंच से फर्क़ नहीं पड़ता। विडंबना देखो कि एक हाथ को पकड़ने की होड़ में मैंने ना जाने कितने हाथों को ठुकरा दिया, यह सोच कर की कम से कम वो हाथ तो मिलेगा जिसे मैं पकड़ना चाहता था।
    मगर जिंदगी जनाब ! जिंदगी! यहीं पर अपना दाँव खेलती है, अंत में हमारा मनचाहा हाथ भी नहीं मिलता, और बाकी हाथों को तो आपने छोड़ ही दिया था।
    कैसा मेहसूस होता है अकेले रहकर, साथ रहने के सपने देखते देखते सोने पर। पर कौन जानता है उस नमी की वज़ह क्या है, हो सकता है आप खुद हो।
    जो गलती मैंने की ही नहीं, उसकी सजा काटना आसान नहीं होता। पर मोहब्बत की यही तो खास बात है।मोहब्बत आपका वक़्त, जज़्बात, स्वाभिमान, सब कुछ लेकर खाली हाथ छोड़ देती है। और यहां हम एक गलती कर बैठते हैं, हम एक जगह रुक जाते हैं, इस फ़िराक़ में की वो वापिस आयेगा, और इस इंतजार में वक़्त हाथ से निकल जाता है।
    तो अब फैसला हमे खुद करना चाहिए कि वही एक चीज चाहिए या उससे बेहतर।
    दुनिया में अगर किसी चीज़ का 'विलोम' है तो यकीनन उसका 'पर्याय' भी होगा। और ये फैसला आपको खुद करना होगा कि आपको विलोम चाहिए या पर्याय।

    -वैभव

  • iam_vaibhav07 3w

    शायर और शायरीयाँ

    शायरीयाँ ऐसी चीज़ हैं जो किसी के अंदर के जज़्बाती इंसान को बाहर सबके सामने लाकर खड़ी कर देती है, दिल टूटने पर कोई कबीर सिंह बनता है और कोई सत्येंद्र IAS बनता है, मग़र जो शायर बनता है दरअसल उसने टूट कर प्यार किया होता है। कबीर अपना दुःख कम करने के लिए शराब पीता है, IAS अपने दुःख को गुस्से में बदल कर जीवन संवार लेता है, मग़र शायर कहीं का नहीं होता, वो रुक जाता है, वहीं पर जहाँ उसका दिल टूट कर गिरा होता है, टुकड़ों को बटोरता नहीं, सिर्फ़ देख कर मुस्कुराता है, वो अपना दर्द पन्ने पर उतारता है, पन्ना भी एक समय पर पलट कर हल पूछने लगता है कि, "क्या बात है जनाब, आज आपकी लिखावट ख़ूबसूरत है बहुत, लगता है मोहब्बत भी ख़ूबसूरत थी, मग़र अधूरी रह गई", तब शायर के पास जवाब में सिर्फ़ शब्द रहते है मग़र बोलने का साहस नहीं रहता, तो वहाँ कलम अपनी वफ़ादारी दिखा कर उस शायरी को मुकम्मल कर देती है।
    जनाब टूटे हुए लोग पागल नहीं होते, और ना भटके हुए होते है, दरअसल वो धोखेबाज़ होते हैं, अपनी मुस्कान से धोखा दे देते है, वो कहते हैं ना, "जो इंसान जितना टूटा होता है उसकी मुस्कान उतनी प्यारी होती है"...एक शायर पहले दर्द को शब्दों में तब्दील करता है, फ़िर उन शब्दों की माला पिरोकर कोरे कागज़ पर इठलाता है।

    -वैभव

  • swapnil27 3w

    सैलाब

    एक ज़माना बीत गया था उनसे मिल के आज रूबरू हुए पर हम उनसे आखें ना मिला सके शायद इस लिए कि कहीं दर्द का सैलाब ना देख ले ओ इन आखों मैं
    ©swapnil27

  • __penned_emotions__ 4w

    _TUM_

    Ek nazar bhar dekh lene se jiski,
    Yeh zindagi meherbaan se lgti thi,
    Sochta hu ki itne saalo baad tum kaisi dikhti hogi?

    ajnabee ho chuke ek dooje ke liye ab hum par,
    Sawal krna chahunga tumse yeh kabhi,
    Kitne gawante honge neende apni aaj bhi?
    Aur kitno ke khawabo khayalon mein tum aati hogi?
    ©__penned_emotions__

  • boundless_stories 5w

    ख्वाब कभी सच नहीं होते,
    जो सच हो गए,
    वो ख्वाब किस बात का ??
    ©boundless_stories

  • inoxorable 6w

    बंधन

    रिश्ते में जब आज़ादी हो तो वो फूलों की तरह खिलते हैं
    अन्यथा वो वक्त से पहले मुर्जा जाते हैं
    ©inoxorable

  • __penned_emotions__ 6w

    __Tasveer__

    Ab zindagi ke kuch roz yu jiya krta hu,
    Ki mehfooz tanhaiyon mein,
    tumhari tasveer se baatein kiya krta hu.
    Labo ko tumhare mai padhta hu,
    aankho ko tumhari , suna mai krta hu,
    kbhi kuch bachkaane sawal bhi
    tumse mai kiya krta hu.
    ab zindagi ke kuch roz mai yu jiya krta hu
    ki mehfooz tanhaiyo mein
    tumhari tasveer se baatein kiya krta hu.
    Waqt bewaqt kahin khoya ab mai rehta hu,
    Kahi ankahi kahaniyan bhi buna krta hu,
    Mulaqaat bas khawabo mein hi tumse krta hu,
    Darte sambhalte vha tumhe apni baaho mein bhi bharta hu,
    Na jiya kbhi saath tumhare mai,
    Phir bhi khushbuon mein tumhari ghira mai rehta hu,
    Na jaane kitni hi khwaahishon ko kaabu mai krta hu.
    Kya kru tumhe khone se jo mai darta hu,
    Ab zindagi ke kuch roz mai yu jiya krta hu,
    Ki mehfooz tanhaiyon mein
    Tumhari tasveer se baatein kiya krta hu.
    ©__penned_emotions__