#journeyoflife

458 posts
  • creative_chanchal 3d

    I don't think this is a sign or not. What a reason for about 3 days.
    I am listening to music, walking, talking, and meeting new people.
    When a bird fly crossed my head, this is good sign.
    Is there any positive energy here?
    or showing
    because...
    I am feeling positive,
    I am feeling confident,
    I am feeling energetic,
    I am feeling happy.
    I don't know what a vision is, inner or outer, but still a winner's place
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 5d

    कहतें है ना
    दिल का रास्ता खाने से होते हुए गुज़रता है
    और खाने की ख़ुशबू
    दिल दिमाग सबके दरवाज़े खोल देतीं हैं
    और अगर वहीं खाना आपको कोई
    प्यार से परोसें तों समझो
    स्वाद लेने से पहलें हीं मुँह में पानी आ जाता है
    और मन तृप्त हो जाता है
    हमारे लिए आज की शाम कुछ ऐसी ही रहीं
    जो करतें जाॅब है पर सेवाभाव से
    उनके कार्य में सिर्फ ओर सिर्फ सेवा झलकती है
    और भाव प्रेमपूर्ण, सम्मानपूर्ण।
    खाना थोड़ा मीठा, तीखा, खट्टा जरूर होता है
    पर खाना बनाने वालों ने और खिलाने वालों ने
    यहाँ दोनों ने दिल जीत लिया है।।
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 1w

    जिंदगी की शुरुआत चाहें किसी भी रास्तों से करों
    मेरे ज़हन में हमेशा एक ही सवाल होता है
    क्या यें रास्ते मुझे अपना पाएँगे
    क्या मैं इन रास्तों को अपना पाऊँगी
    कब तक हम बिना शिकायत कें एक-दूसरे का साथ निभा पाएँगे।।
    ©creative_chanchal

  • incompletewords 2w

    The start of your journey doesn't define who you will become through your journey.
    Embrace every change and make the best of it
    #journeyoflife
    @writersnetwork @miraquill

    Read More

    We all changed

    From a child with hyperactive outburts,
    To a teenager with anger outbursts.
    We all changed

    From a teenager with low emotional stability,
    To a young adult with low career clarity.
    We all changed

    From a young adult with no responsibilities,
    To an adult who completes all duties.
    We all changed

    From trying to do everything,
    To not be able to do anything.
    We all changed
    ©incompletewords

  • dreamer_broken 3w

    Life

    No day goes out without battles.
    The entirety of this begins from the day you're out of your mom's womb.
    This race is only for joy.
    Don't step back during tough situations.
    Did all the things that were composed against our names were finished by us?
    We, as a whole are only manikins in the possession of God.

    ©dreamer_broken

  • karan_on_mirakee 16w

    Life

    Try to make tomorrow better than today.

    -Karan Linge.
    ©karan_on_mirakee

  • creative_chanchal 16w

    अच्छा बनना है तो खुद की नज़रो में अच्छा बनों
    दूसरों की नज़रो में क्या रखा हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    हमराही!!

    अक्सर हम क्यों उन ख़यालो में रहते है
    जिनसे हम कभी मिले नहीं है
    जिनके बारे में हम कुछ भी जानतें नहीं है
    फिर भी सोचते हैं
    हम मिलेगें
    वक़्त के किसी मोड़ पर तो मिलेंगे
    हम खुद से ही सवाल किया करतें है
    क्या हम कभी मिलेगें.....
    हम जिनसे कभी किसी राह पर
    किसी सफ़रनामा पर मिल भी जातें हैं
    तब भी क्यों
    क्यो खुद से ही पूछते हैं कि
    क्या हम दुबारा मिलेगें?
    क्यो जब सफ़र अपनी मंजिल पर खत्म होतां है तो
    क्यो आस के साथ यें कहतें है कि हम फिर मिलेंगे
    या फ़िर यें कहतें सुना होगा कि
    हम फ़िर मिलतें हैं
    चाहे वक़्त का तकाजा हमें कहीं ओर, कही दूर खींच ले जायें
    चाहे मंजिल एक हो
    फ़िर भी सफ़र अलग-अलग होतां है
    हम तो बस वक़्त का इन्तजार करतें हैं
    या कभी भूली बिसरी यादों के साथ
    उस अनजान मुसाफ़िर को
    परिचित की तरंह हमराही सा याद करतें हैं!!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    वक़्त के साथ यादें भले ही तरबतर होतीं जायें
    पर यें जरूर याद रखना हैं कि
    हम जिससे भी मिले
    उसे कभी भूले नहीं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    कब तक हम
    अपने दिल की छोड़
    दूसरों की सुनते रहेंगे
    आखिर कब तक!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    क्यों हम सही ग़लत के बीच उलझे हुए रहते हैं
    कोई कहता है कि
    सही-ग़लत की पहचान होना जरूरी है
    कोई कहता है
    सही-ग़लत कुछ नहीं होता है
    कोई कहता है कि
    सही निर्णय और सही काम जिंदगी बना देता है
    कोई कहता है कि
    एक ग़लत निर्णय जिंदगी बिगाड़ कर रख देता है
    तो कोई कहता है कि
    सही पर फोकस करों
    तो कोई कहता है कि
    गलतियों से सिखकर आगें बढो
    क्यो हम सबकी बातें सुनकर इतना इसमें उलझे रहते हैं कि
    बस सोचते-सोचते वक़्त हाथ से निकल जाता है
    ओर हम उस अनुभव से परे रहते हैं
    और शायद एक वक़्त के बाद हमारे रास्ते भी और
    मंजिल के दरवाजे भी
    दोनों ही बन्द मिलतें हैं।।
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    क्यों ऐसा लग रहा है हमें
    कि हम सब कुछ हार रहें है
    हमारे अहसास
    हमारा आत्मविश्वास
    हमारी मेहनत
    हमारा काम
    हमारी आरज़ू
    हमारा तजुर्बा
    हमारी क़ाबिलियत
    हमारा सम्मान
    हमारी हसरतें
    हमारे सपनें
    हमारी मंजिल
    ओर....
    हमारा दिल और दिमाग!
    रुकी हुई है तों बस यें जिंदगी
    जो जीतने की उम्मीद लियें हुए हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    सिर्फ हमें ही लगता है कि
    हमारी एक दुनिया हैं
    या फ़िर.....
    सबको ऐसा लगता है कि उसकी अपनी एक दुनिया हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    जब सपनें टूटते हैं
    आवाज़ भले ही ना उसकी
    पर दर्द
    दर्द बहुत होतां हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 17w

    व्यस्तता के भार से, मुश्किलो के भार से
    चारों तरफ़ से घिरी हुई हैं....
    यें जिंदगी है जऩाब!
    देखतें हैं.......
    कितना जीतती हैं और कितना हारती हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 17w

    ज़माना!!

    कौन कमखकत अपने घर से दूर रहना चाहता हैं
    सपनों की चाहत ही कुछ ऐसी हैं जो
    ना चाहते हुए भी कभी अपनों से तो कभी
    अपनें घर से दूर कर देती है!!

    दूर होंने का दोष किसे दे
    इस जालिम़ ज़माने को या फिर
    हमारी चाहत को, जो
    वक़्त के साथ बदलते रहते है!!

    जालिम़ तों यें ज़माना है जो
    हमें सपनों कें पीछे दर-दर भटकाता हैं
    और वक्त के साथ अपनी छाप तो छोड़ता ही है
    साथ ही रंग भी दिखा देता हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 19w

    आज जिंदगी के संग
    किस्मत पढ़ने का दिल कर रहा है
    सबकुछ जानने का मन कर रहा है
    जो किस्मत में लिखा है वो भी ओर जो ना लिखा है वो भी
    उस दौर से रूबरू होना है
    जहाँ कश्तियाँ समुद्र में गोते तो लगा रहीं हैं
    पर साथ में मंजिल का ठिकाना भी बता रहीं हैं
    हाँ हो सकता है हम थोड़ा जल्दबाजी कर रहें हैं
    पर अब क्या करें इंतजार का भी एक समां होता हैं
    अब रास्तो संग भटकने का मन नहीं करता है
    बार-बार पीछे मुड़कर जवाब नहीं खोजें जातें हैं
    हाँ हो सकता है कि हम थक गये हैं पर
    जिंदगी में जो हासिल करना हैं
    उसी के लिए तो हर रोज़ उठकर चल देते हैं
    सवालो के जवाहरात लिए घूमते है
    पर मज़ाल है किसी की उन्हे कोई चुरा ले
    हम जवाहरात को खुला भी छोड़ दें
    तब भी सब अपनें में ही मशगूल है
    कहाँ किसे फ़ुरसत हैं जो जवाबो का समां बांधे
    हम अकेले हीं हौंसलों की उम्मीद लियें घूमते हैं।।
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 20w

    हमारा अन्दाजा अब यक़ीन में तब्दील होंने लगा हैं कि
    वक़्त के साथ-साथ फ़ासले ही बढ़ते है
    पास कोई नहीं आता है
    और वह फ़ासले इतनें होते हैं कि
    किसी को मेसेज कर याद करना भी लाजिमी नहीं समझा जाता है!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 20w

    कुछ दोस्त ऐसे भी होते हैं जो
    वक़्त के साथ-साथ वो भी दूर हो जातें हैं
    और कुछ ऐसे भी होते हैं जो
    वक़्त के साथ दिल के बहुत करीबी बन जाते हैं!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 20w

    हम आज भी उसकी उम्मीद लगाए हुए हैं
    जो हमसे कोसों दूर है।।
    ©creative_chanchal