#lifepoetry

331 posts
  • gannudairy_ 2h

    शुरुआत

    आज बैठे बैठे यू ही कुछ सोचने लगा मैं,
    खुद को खुद में खोजने लगा मैं!!

    मिल कर खुद से हैरान था,
    शायद किसी बात से परेशान था!!

    एक सवाल जो मुझे बहुत सता रहा था,
    क्या हूँ मैं बस यही पूछे जा रहा था!!

    उस दिन पूरी रात नहीं सोया,
    ना जाने क्यूँ उस रात खूब रोया!!

    अगली सुबह मैंने फिर खुद को तलाशा,
    अपने अंदर की खूबी को एक बार फिर से तराशा!!

    आँखों में जुनून और दिल में ज़ज्बा था,
    जानता हूँ रास्ता मुश्किल है.. पर करना पूरा हर सपना था!!

    उसके बाद से मैंने फिर कभी अपने कदमों को रुकने नहीं दिया,
    गिरा और संभला पर अपने इरादों को झुकने नहीं दिया!!

    गुरूर इन असमान के सितारों का तोड़ना था,
    अपने रास्तो को अपनी मंजिल से जोड़ना था!!

    ताने भी लोगों के मैं क्या खूब खाता हूँ,
    नहीं फिर भी आँखों में भी भर के आंसू लाता हूँ!!

    हाँ ये सच है जीतना मुझे ये सारा जमाना है,
    एक जुनून है कि कन्धों पे सितारों को सजाना है!!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 14h

    Diduu❤️

    कभी मेरे मुह पर मेरी तारीफ नहीं करती,
    पर कोई जो मेरी बुराई करे तो तुरंत बिगड़ जाती है!!

    मेरे सामने कभी मुझे शरीफ नहीं कहती,
    पर कोई जो मुझे पागल कहता है.. उससे लड़ जाती है!!

    मैं ब्यान नहीं कर सकता मेरी जिदंगी में उसकी हुकूमत को,
    बहुत छोटा कर देती है मेरी हर जरूरत को!!

    मेरे होस्टल घर आने की खबर सुन कर खुश हो जाती है,
    मेरे पसंद के खाने बना अपने हाथ वो खिलाती है!!

    मेरे मायूस होने पर कोई पूछे ना पूछे,
    पर "ओये हीरो क्या हुआ" वो सवाल रखती है!!
    एक सच्चे दोस्त की तरह हमेशा वो मेरा बहुत ख्याल रखती है!!

    वो कहती है मुझे पता है कभी तेरी मनसा गलत नहीं होगी,
    पर कोई कदम उठाने से पहले उसे परिणाम के तराजू में तोला कर,
    मै जानती हूँ तेरी बात गलत नहीं होती,
    पर गौरव भाई तू लोगों के सामने कम बोला कर!!

    मेहनत करता रह बच्चे हार नहीं मानना.. अपने कदमों को कभी ना रुकने देना,
    बहुत नाम कमाना.. बहुत आगे जाना...
    मेरे लिए बहुत कठिन है परिभाषित करना,
    इतना अद्भूत होता है उसका सिखाना,
    एक गुरु की तरह उसने समझाया है मुझे,
    जिंदगी की राह पे एक माँ की तरह चलना सिखाया है मुझे!!

    सच कहू तो होस्टल से घर जाने का यही होता है बहाना,
    मुझे तो खाना होता है उसके हाथ से खाना,
    खाना तो खाता हू चाव से,
    पर शायद भूलता हू पहला निवाला उसे खिलाना!!

    बहुत लड़ता हूं उससे.. बहुत झगड़ता हुँ,
    पर अंत में हमेशा मना लेता हूँ...

    मनाऊँ भी क्यु ना...
    उसके बिना मेरा सरता कहाँ है,
    वो तो मेरी जान मेरा जहां है,
    मेरी गर्लफ्रेंड की सारी बात उसे बताता हूं,
    उसको कौनसा गिफ्ट दिया उसे चिढ़ाता हूं,
    घर जाने से पहले बातों का भंडार होता है मेरे जहन में,
    जो सब कुछ सुने.. ऐसा दोस्त बस्ता है मेरी बहन में!!!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 20h

    ❣️

    मैं शायर हो कर अब कोई गजल नही कहता
    लगता है शायद मुझ मैं अब मैं भी नही रहता

    तुम जो मेरे खयालो मैं अब दौड़े चले आते हों
    अब अपना ख्याल मुझे किसी वक़्त नही रहता

    हम तो क्या तुम्हें देख कर कोई भी होश मैं नही
    "आईना" भी तुम्हे देखकर अपने होश में नही रहता

    ओर ये जो आपकी आंखे है पता नहीं कैसी है
    इन्हें देख कर जादूगर भी जादूगर नहीं रहता
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 21h



    If I Die In Serving Country... Dont Cry
    Because I will be Smiling.. ♥️
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 2d



    पहली बार किसी इंसान के लिए
    बच्चे की तरह रोये हम....
    ये बात ताउम्र याद रहेगी!!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 2d

    जवान शहीद

    जवान वो शहीद हुआ है मरा नहीं
    तिरंगा हाथ में है अभी गिरा नहीं

    उसके लहू से जिसको लगा था टीका
    वो माँ है हमारी केवल धरा नहीं

    एक से स्वा लाख लड़े इतिहास गवाह है
    सपूत गुरु गोविंद सिंह का कभी डरा नहीं मार उसे दुश्मन क्या जश्न मनाता है
    रगों में शौर्य केवल उसके भरा नहीं

    बाद उसके वीर और भी आयेंगे
    बस रुकना वहीँ तू हिलना ज़रा नहीं

    वतन से है तू भी तो दिखा वतन-परस्ती
    लिख रहा है 'गौरव' चूँकि लड़ रहा नहीं
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 3d

    वो

    वो जब भी खफा होती है मुझसे मुझे खामोश करती है,
    मुझे समझ नहीं आता वो मेरे साथ ही ऐसा क्यु करती है!

    हाँ गुस्सा तो आता है उसे मेरी छोटी छोटी बात पे,
    पर कुछ भी हो वो मुझसे रोज बात करती है!

    मैं गलती भी कोई जान पूछ के तो करता नहीं हूँ,
    बस वो साफ़ दिल की है हर बार मुझे माफ़ कर देती है!

    उसकी मासूमियत पे शायद घमंड ही है बेहद,
    कुदरत भी अपनी सादगी उसपे शुमार करती है!

    मैं हर बार एक नई सोच के साथ ग़ज़ल लिखता हूँ,
    काग़ज़ कोई भी हो कलम उसका नाम लिखा करती है!

    मैं तो बस मिट्टी सा हूँ जो एक चोट से भी टूट जाता है,
    उसके अल्फाज़ गोंद जैसे हैं मुझे हर बार जोड़ा करती है!

    थोड़ी नाराज है मुझसे वो चंचल हवा की तरह अभी वो,
    मेरे पास से गुज़रती है फिर अपना रुख मोड़ लेती है!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 3d

    ❣️❣️

    कभी वो ये भी इनायत कर देता है,
    मेरे कहे लफ़्ज़ों को ग़ज़ल कर देता है!!

    अधूरा हूँ जिसकी तलब में एक अर्से से,
    ख्वाबों में आए तो मुकम्मल कर देता है!!

    कहा था मैंने उससे कि बिछड़ना मत,
    कि हिज्र ये दिल को पत्थर कर देता है!!

    बस्ल की तड़प तो कभी हिज्र का डर,
    इश्क़ इंसान को बेबस कर देता है!!

    जहां - जहां से भी वो गुज़रे है,
    अपने जैसे दिलकश मंजर कर देता है!!

    मुझ में एक बागी रहता है "गौरव",
    गैर को सोचूँ तो बगावत कर देता!!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 4d

    ❣️

    ऐ मस्त लहरों जरा रहम हो मैं अभी नाविक नया हूँ..
    जवां हैं तेवर चटक जवानी अभी मैं आशिक नया नया हूँ!!

    हाँ मेरे लहजे से छलकती हैं गुरूर की कुछ नयी झलकियाँ,
    मुआफ करना दोस्तों अभी मैं मालिक नया नया हूँ!!

    लगाओ चोटें कुछ हौले हौले मेरे मौला कहीं बिखर ना जाऊँ निखरने में,
    मुझे तराशो ना जौहरी इतना अभी मैं माणिक नया नया हूँ!!

    नहीं है बिल्कुल तजुर्बा हमको तामीर भरी हैं खराबियों से,
    जरा व्खत दो सुधार लूँगा अभी मैं खालिक नया नया हूँ!!

    वफा निभाउंगा मैं वफा से ताउम्र बनकर नज़ीर दिलबर,
    ना कर शिकायत यूँ बेरुखी से अभी मैं सादिक नया नया हूँ!!

    कि ये भी होगा शिकार हाथों में आते आते छिटक पड़ेगी,
    ना समझो इसे शिकस्त मेरी अभी मैं जालिक नया नया हूँ!!
    ©gannudairy_

  • gannudairy_ 5d

    ❣️

    रब्बा उम्र वधा दे घर परिवार दी..
    मैं वी हंस खेड के लंघोनी जवानी दिन चार दी..
    मांँ मेरी नूंह रानी दे सुपने सजाई बैठी है..
    छोटा वीर वी कहंदा ओनी लाडली भाभी आ..
    फोटो घरे दिखाई होई आ.. घर दयां नू कुड़ी पसंद आ..
    नैंण नक्ष तां सोहणे ते कणकां वरगा रंग आ...
    गल्लां तां सोहणियां हि करदी आ.. बस गुस्सा माड़ा नक ते ओ रखे..
    घर दे ओदे वि मन जाणे आ बस रब सुख रखे..।।
    ©gannudairy_

  • jpwriter 7w

    Real Eyes

    When you finally realize
    Many people tell real lies
    Instead of speaking real lines
    Fooling with Eye contacts
    Contrary of their real eyes
    When I contact
    It's the real I
    So Why combat
    Just to reel lies
    In with your eye contact
    I feel I
    Deserve respect
    I can see why
    You've burnt your tracks
    So Believe I
    Won't turn back
    Because you're senile
    Flowing lies like sea now
    I got to go
    So I'll let you be now


    ©jpwriter

  • inutansharma 9w

    कभी खुद में रौशन हूँ मैं
    कभी घनघोर अँधेरा है
    कभी चमकती चांदनी का सुकून
    कभी बादलों में घिरा सवेरा है

    ज़िन्दगी और वक़्त ने
    कुछ ऐसा किया मेरा हशर
    किसी मोड़ पर आके समेटा मुझे
    किसी मोड़ पर लाके बिखेरा है

    ©inutansharma

  • rehbar27 12w

    رشق

    Waqt, ke saaz se ishq nahi humme!
    ''Waqt ke, saaz se ishq nahi humme! "
    Kaazi ki hidaayat aur jawaani mai junoon e rishq nahi humme.
    ©rehbar27

  • rehbar27 13w

    Riwaayat

    Farsh mai jammi mitti ki dastaan
    Jawaan chede dhiyaan toh masla pareshaan.
    ©rehbar27

  • inutansharma 13w

    ज़रा सी रौशनी भी सहारा दे जाती है
    भटकी हुई नैया को किनारा दे जाती है
    खिल उठती है आस उन तरसती आखों में
    ज़िन्दगी जब जीने का मौका दोबारा दे जाती है

    ©inutansharma

  • arvindcps 15w

    हे मन वापस लौट आना तुम
    चांदनी रातों में आने वाले
    अनगिनत स्याह सपनों से
    जैसे मीलों फैले थार की
    अपनी तपती यात्राओं से
    एक दिन लौट आते हैं
    रेगिस्तान के जहाज़
    कठिन समय की लम्बी उपस्थिति में भी
    अपनी उत्तरजीविता की जिजीविषा को
    हे मन निर्बाध रूप से बनाये रखना
    जैसे 'कुटज' अनंत काल से
    अपने होने की गवाही देता रहता है...
    जीवन में आने वाले
    अकल्पनीय निराशा के मध्य में भी
    हे मन तुम चेतन-प्रहरी बन
    लड़ते रहना झंझावातों से
    जैसे दुर्जेय मरूस्थल का सीना चीर कर
    खिलते रहते हैं 'ओकोटिल्लो' के फूल......

    © - अरविन्द कुमार मिश्र

  • maricrismeza 15w

    The silence

    I can hear, even behind the silence
    I can break the voices without sound
    to decipher, to understand....
    no time and no distance
    without barriers, without borders.
    With love and feelings

    I can hear you
    I can understand you
    without words
    without sounds

    As an autistic woman away from the world
    As a woman buried among feelings
    I am learning and understanding

    At the end of the passion
    the peace is sought
    And
    the peace is found
    Just loving

    It's with love that I understand
    the silence
    By. Maricris Meza
    © MaricrisMeza
    ©maricrismeza

  • mrigakshichenglari 18w

    Sab Se Chupakar

    Sab se chupakar tujhe kahin dur le chalu
    Sab kuch bhula kar nayi safar tey karun
    Tere he sath !!
    Bolo !!! Kar paoge ?
    Khud se he sawal hein aab..
    Asaan hein ?
    Yaa tum kar paoge yaa hum !
    Shayad waqt ko manjur nehin
    Qismaat ki lakirein khud banti nehin
    Mushkil hein halaat ko badalna
    Ankho ko bhi manjur nehin
    tumse samna karna..
    Andhere pe ujala kabhi ghulta nehin
    Pyar mein pagal ashiqui kabhi khatam hoti nehi..
    Haar namumkin ko mumkin kar ke dekha
    Par taqdir badalna baas ka nehin
    Hum waqt se nehin
    Waqt humse milne ataa hein
    Khushiyon ki dehlij pe dard bhi dastak dete hei..
    Yehi yaad dilane waqt baar baar ataa hein...
    ©mrigakshichenglari

  • perseuss_x 19w

    You know it's always the little thing you know .. remember when you were small and you don't know how to ties your shoe laces.. how you parents taught you
    Just like that life is all about those untied shoelaces �� just keep learning ..
    °
    °
    °follow up for more exciting contents
    #poetry #writing #originalcontent #writersnetwork #miraquill #writersofmiraquill #lifepoetry #seldredemssions #realitycheck #hobbies

    Read More

    Gentle reminder ️

    This is just a reminder that!
    you don't have to rich or have expensive things to be cool or fashionable or even
    follow trends and your dreams
    there is no such things as you
    can only be fashionable or iconic if your outfit or makeup or shoes cost you a literal kidney
    it's how carry yourself that
    matter how you wear it and style is what makes you iconic
    don't let ppl make you feel like
    if you don't have certain
    amout of money you can't what you want to do please remember this today ! :)
    ©perseuss_x

  • avishiwrites 21w

    Life is a song which
    I could never sing perfectly,
    Unless there was someone,
    To sing with me.

    It's complicated and,
    I am unaware of the chords,
    And I know I can't sing anymore.
    Because these lyrics do not define me,
    My song is yet to be known.

    I am just messing with the strings,
    And dancing on piano keys,
    Because I don't know things,
    Maybe because I suffered the least.
    Still I end up trying to fit in.

    But it's just someone's else life,
    That I pretend to sing along.
    It's complicated and,
    I am unaware of the chords.

    ©��������ℎ�� ��ℎ����

    #avishiwrites #avishichug #life #lifepoetry
    #deep #mustread #caption #lifequotes

    Read More

    Life is a song and,
    I am unaware of its chords.

    ©avishiwrites