#manzil

688 posts
  • rathiprerana 10h

    तेरी मोहब्बत में फना होना चाहता हूँ,
    तेरे ईश्क में बर्बाद होना चाहता हूँ।
    पता है, नहीं होगी ये राहे आसान,
    पर इस सफर में तेरे साथ होना चाहता हूँ।
    तेरे होंठों कि मुस्कुराहट का कारण मैं होना चाहता हूँ,
    तेरी आँखों से जो अश्क निकले उनकी वजह भी मैं होना चाहता हूँ।
    तेरी कामयाबी में तेरे साथ रहना चाहता हूँ,
    तेरी बर्बादी का जशन भी तेरे साथ मनाना चाहता हूँ।
    तेरे बेशुमार प्यार को बटोरने वाला बनना चाहता हूँ,
    तेरी नफरत की आग में झुलसना भी चाहता हूँ।
    जो भी तु दे, उसे दिल में रखना चाहता हूँ,
    जो न दे, उसे तुझसे छीन लेना चाहता हूँ।
    तेरी खुशी कि वजह मैं, तेरे गम का कारण मैं,
    तेरी आबादी कि वजह मैं, तेरी बर्बादी का कारण मैं,
    तेरे शरीर, तेरी रूह, तेरी हर साँस का हकदार मैं बनना चाहता हूँ।
    तेरी जिंदगी का हिस्सा नहीं, तेरी जिंदगी बनना चाहता हूँ।
    तेरी कहानी का किस्सा नहीं, तेरी कहानी बनना चाहता हूँ।
    तेरी मंजिल नहीं, तेरा सफर बनना चाहता हूँ।
    जो तु चाह कर भी न छोड़ सके,
    तेरी वो आदत बनना चाहता हूँ।

    - प्रेरणा राठी
    ©rathiprerana

  • saima_zahid 1w

    मुश्किलें ज़रूर हैं...
    मगर ठहरा नहीं हूं मैं
    मंजिल से ज़रा कह दो,
    अभी पहुंचा नहीं हूं मैं।

  • ammy21 1w

    Banares si mai
    Aur samandar sa ishq
    Khone ka dar
    Aur doobna hai ishq
    ©ammy21

  • saima_zahid 1w

    सोचने से कहां मिलते हैं तमन्नाओं के शहर
    चलना भी जरूरी है मंजिल को पाने के लिए।

  • saima_zahid 1w

    मंजिल मिले ना मिले यह तो मुकद्दर की बात है ...
    हम कोशिश भी ना करें यह तो गलत बात है!!

  • ammy21 2w

    Ishq maroon hai
    ©ammy21

  • ammy21 4w

    Tere bagair na hi koi khwaab
    Na hi tere baad ab koi manzil
    ©ammy21

  • b_y_e_o_l 4w

    सफर

    हम-सफर के आदि है|

    हमसफ़र के नहीं|


    ©b_y_e_o_l

  • masoom_bachchi 4w

    चलते रहना

    हजारों कांटें मिलेंगे राहों में
    पर डरना मत
    मौके मिलेंगे बहुत
    पर एक भी तू खोना मत
    तेरे पैर पीछे खींचने वाले होंगे बहुत
    पर वो एक जो आगे ले जाए
    उस हाथ को तू छोड़ना मत

    तुम रुकना मत ...चलते रहना
    चलने की ज़िद करते रहना।।

    अगर जकड़ ले पैरों में बेड़ियां
    तो बेड़ियों को पिघला कांटों से गुजरते रहना
    होंगी खड़ी कई चट्टानें मंज़िल से पहले तेरे
    चट्टानों को तोड़ तू नदियों सा आगे बढ़ते रहना
    ’सफर को तू मोड़ ले अब’ जैसे मशवरे देंगे बहुत
    तू अपनी मंजिल को पाने की ज़िद करते रहना

    तुम रुकना मत ...चलते रहना
    चलने की ज़िद करते रहना।।


    खामियां निकलने वाले होंगे बहुत
    खूबियां तू खुद ढूंढते रहना
    सफर में थक जाए गर कदम तेरे
    तू थम जाना , पर अगले ही पल खुद से कहना
    अब मुझे है बस चलते रहना..
    चलने की ज़िद करते रहना

    तुम रुकना मत ...चलते रहना
    चलने की ज़िद करते रहना।।


    ©₹श्मि
    ©masoom_bachchi

  • shaikhsaif95 5w

    Manzil

    ♥️
    Kuch Rasta likh dega,
    Kuch me likh duga,
    Tum mushkil likh dena,
    me Manzil likh duga
    ©shaikhsaif95

  • preeyamm 8w

    Manzil

    Aage badh nahin paa rah,
    Manzil pr pahunch nahin paa raha,
    Kya mujhme koi khata,
    Ya tu hai zimmedar.

    ©preeyamm

  • animeshjaiswal 10w

    ��Today I Have Completed Two Years Here ��

    #Manzil
    #Miraquill #Pod #March
    #AnimeshJaiswal

    @miraquill ��
    Thank you so much for your existence!

    ��Readers ✨ Likers �� Followers ✨ Friends��

    Thank you so much ❣️��❣️

    Keep Supporting ��������������������

    Read More

    Manzil

    Hamein Musafir Banna Hai
    Uss Manzil Ka
    Jis Manzil Ka Na Koi Manzil Ho
    Bas Yun Hi Chalta Rahe Kaarwan iss Safar Ka
    Jis Safar Ka Na Koi Ant Ho

    Animesh Jaiswal
    ©animeshjaiswal

  • richaarya 14w

    Manjil v/s Safar

    Sabka Naseeb hai
    Kisi ko yatra k pehle ya dusre padao me hi manjil mil jati hai,
    Kisi ko Safar k Safar Taye karna hi manzil me hai...
    ©richaarya

  • vibingsoul 15w

    Comeback After A Setback

    एक बार फिर लगा है दिल,
    कुछ कर दिखाने का;

    एक बार फिर लगी है आग,
    उस मंजिल को पाने की;

    एक बार फिर जगा है जोश
    उसी राह पे कामयाबी पाने का;

    जिस राह से भटक कर,
    गुम से हो गए थे हम;

    अब आ गया है समय,
    फीरसे कोशिश करने का;

    अब आ गया है समय,
    उन चुनौतियों का सामना करने का;

    चाहे जो हो जाए,
    अब नहीं रुकना है;

    बस अब नहीं जुकना है।
    ©vibingsoul

  • vaishh_p 16w

    मंजिल की तलाश में,
    सफर पे निकल पड़ें
    एक बेहतरीन सफरनामा बनाने की चाह में।

    @vaishnaviprakash
    ©vaishh_p

  • prishan 16w

    जिदंगी इक सफ़र है,
    कभी कभी आसानी से मिल जाती है मंज़िल,
    और कभी कभी बहुत मुस्किल होता है कुछ भी पाना,
    हमे चलते रहना है हर वक़्त हर हाल में, रास्तों में फूल है या कांटे, मायने नहीं रखते, हमे बस चलते रहना है, सांझ के साथ ढलते रहना है, सूरज के भांति चमकते रहना है, हमे खुद से ही संभलते रहना है ||

  • vikkoo 18w

    मुझे डर भी मैं दूं
    मैं खुद का ही पर हौसला भी
    मैं तन्हा मुसाफिर
    मेरे साथ है काफिला भी
    मैं खोजूं भी मंज़िल
    मैं मंज़िल से पर बढ़ चला भी
    मैं साहिल भी चाहूं
    मैं लहरों में पर हूं मिला भी
    मैं डर भी दूं खुद को
    मैं खुद का ही पर हौसला भी।
    ©vs

  • maahie_ 19w

    रास्ता कहीं और है कहीं और वो जा रहा है
    सुना है मैं बे वफा हु ऎसा कहा उसने
    अरे मक्कार है अपनी खामिया छुपा रहा है

    दिल प्यार वफा कुछ नहीं उसके पास
    खआम खा ही भाव खा रहा है

    बहुत सुन चुकी हू किस्से उसके मुँह
    तुम्हें भी वो झूठे सच्चे ही सुना रहा है
    ©maahie_

  • shadesofyu 21w

    सफर, एक सफर ही था,
    जो चलता रहा साथ में।
    मंजिल की राह,
    रास्ता भटकता,
    और रूह की तलाश
    ©shadesofyu

  • masoom_bachchi 21w

    ज़िंदगी के सरगम पर
    कुछ इस तरह गुनगुनाते रहो,
    गिरो , उठो, संभलो
    पर चलते चले जाते रहो।

    तेज़ रौशनी में दिखता नहीं कुछ
    अंधेरे से भी यारी निभाते रहो,
    स्याह रातों से डरते हो क्यों तुम भला
    खुद ज़ुगनू बन ज़गमगाते रहो।

    याद रख सफलता के तालियों को
    उससे उत्साह अपना बढ़ाते रहो,
    ना घबराओ असफलता के तानों से तुम
    उससे भी लेे सबक पग बढ़ाते रहो।
    ©masoom_bachchi