#netwriter

1 posts
  • dpkall9 5w

    खुद की साथ

    एक सपना होता है दिल उसी के तहत जीना चाहता है कभी गिर जाता फिर उठ जाता लेकिन उस उमंग को पाना चाहता
    उसको दिल से छूना चाहता, ये जरूरी नही उसे लालच किसी चीज़ की होती है ,बस वो जो अंदर से होता है actual में बाहर से भी वही दिखाना चाहता है लोग उसे कुछ भी बोले लेकिन वो तो उसी में खोया रहता , उसे पता नही होता कहाँ तक वो जा रहा कुछ भी मालूम नही होता बस वो सादगी से उसे पूरा करता , उसे ये भी नही पता किसके लिए वो करता है,बस जो करता है उसका दिल चाहता वो उसको मानता है बिना किसी डर , बिना कुछ सोचे विचारे उस रास्ते पे वो चलता जाता लोग बाद में बोलते है वो क्या कर रहा और न जाने क्यू कर रहा रिएलिटी में उसे भी पता नही वो क्यू कर रहा बस उसको अंदर से अच्छा लग रहा है इसलिए वो कर रहा है जो जिंदगी उसको ले जा रही वो बिना सोचें उसपे चल रहा ,उसको न इसमे किसी की हेल्प की भी तनिक जरूरत नही होती,वो सफर खुद की अकेले की होती है रास्ता वो खुद ही बना लेता, सिर्फ खुद की खुशी के लिये उसको न किसी की परवाह होता ,काम मे खुद को छोक देता।
    ◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆■■■■◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

    कर तय खुद की सफर एक आयाम बनकर
    बना दे खुद को खुद की शान बनकर
    न रख किसी का हाथ सर पे तलवार उठा खुद के शान पर
    बोलेंगे लोग तुझे हर कदम पर ,न सुन उनको कान बनकर
    कर तय खुद की सफर एक आयाम बनकर

    रास्ते आसान नही इतना बड़ी मंजिल तूने जो सेट कियाहै
    उस सनक में फाड् दे तू ,सारी हदें तू पार करके
    कोई नही बनेगा सहारा तेरे सफर का
    जीत होगी जरूर तेरी भी एक दिन जरूर आएगा
    पार करेगा तू भी सारी मुसीबते जल्द वो भी दिन आएगा।
    ©dpkall9