#rachanaprati141

12 posts
  • _do_lafj_ 19w

    "मिले तो इबादत✨,
    ना मिले तो भी इनायत से हो तुम❤️।।"


    इबादत- दुआ (prayer)
    इनायत- सबकुछ (everything)

    #rachanaprati141

    @alkatripathi79 @bad_writer @mamtapoet @gannudairy_ @anusugandh

    Read More

    ❤️

    तुम्हें चाहूं भी, तो कितना,
    मेरी चाहते कम सी लगती है।।
    बस एक बार देखू, तो क्या देखू,
    तुम्हें बार बार देखने की आदत सी है।।
    गुजरता वक़्त नही, बिन तेरे,
    अब सब कुछ बेखयाली सा है।।
    तेरे ही तेरे ख़याल है, अब,
    बिन तेरे अब सब कुछ खाली सा है।।
    क्या कहूँ, कितना कहूँ,
    बस यही सवाल सा है।।
    इश्क़ है, कितना है क्यों है?
    अब बस यही ख़याल सा है।।
    तुम हो या , नही हो,
    तेरी यादों ने किया बवाल सा है।।


    ©_do_lafj_

  • anusugandh 19w

    हसरत बन कर रह जाओगे मालूम ना था
    फकत याद बनकर ही रह जाओगे मालूम ना था
    तू मेरी जिंदगी की पहली मोहब्बत है
    एक तरफा प्यार बनकर रह जाओगे मालूम ना था क्यों मिलने को बेचैन रहता है यह दिल
    मेरी पहली और आखिरी तमन्ना बन जाओगे मालूम ना था
    दिल तेरे प्यार के कफ़स में कैद है
    कैद अपने दिल में कर लोगे मालूम ना था
    यह दूरी यह तड़प क्या उम्र भर के लिए है
    उम्र भर यादों में तड़पाओगे मालूम ना था
    क्या प्यार करना गुनाह है इस जहां में
    इतनी बड़ी जुदाई की सजा दोगे मालूम ना था
    माना एकतरफा प्यार ही है मेरा
    मुकम्मल करने का जतन ना कर पाओगे मालूम ना था
    ©anusugandh

  • anusugandh 19w

    एक तरफा प्यार

    तू मेरा है,ये भ्रम है या सच है
    क्या है, क्यों है, कैसा ये इश्क है
    देखूँ कनखियों से बार-बार तुझको
    रहता क्यों हर वक्त इंतजार मुझको
    बेचैन सा रहता क्यों ये मेरा दिल
    मिलने को तड़पता है बेकरार दिल
    जाने कैसे हो गया है सूरते हाल
    जीना तेरे बिन हो गया अब मुहाल
    ये मेरा एक तरफा प्यार है या फकत वहम मेरा
    तुझसे मिलने को क्यों करता फरियाद बेचारा
    क्यों दिल से निकलता है नहीं तसव्वुर तेरा
    रफ्ता रफ्ता खिंचता है दिल तेरी तरफ मेरा
    ये मेरा एक तरफा प्यार ही सही
    तू भी हमसे प्यार करें यह लाजमी तो नहीं
    रह लेंगे ......तुझको बस ज़हन में रखकर
    चाहे अजनबी रहो हम रहेंगे सदा आपके बनकर
    ये मेरा भ्रम ही रहे और तू मेरा ही रहे ....उम्र भर
    ©anusugandh

  • aryaaverma12 19w

    इकतरफा मोहब्बत कि कहानी अनोखी होती हैं,
    ये सबकी बस की बात नहीं होती हैं,,,,,,
    #rachanaprati141
    @bad_write
    @alkatripathi79
    @mamtapoet

    Read More

    ✨✨

    इकतरफा मोहब्बत .........पास न होकर भी साथ होते हैं,
    जिंदगी में नहीं,पर जिंदगी होता हैं,
    इक झलक देखने की चाह, उस चाह में वो बैचेनी,
    देख लिया तो सुकून,नहीं तो बैचेनी बेशुमार होती हैं
    दूरियों का अहसास भी होता हैं,पर ख्याल नजदीक ले आते हैं,
    हंसने को हंस लें दिल किसी के भी साथ,
    पर रोने मन उन्हीं के साथ होता है,

    मोहब्बत इकतरफा होने का मलाल नहीं,
    खुशी है, कम से कम,मोहब्बत तो हुई,
    इकतरफा हैं,एकतरफा ही सही,,,,,,
    ©aryaaverma12

  • gannudairy_ 19w

    Reposting
    मैं इसको दोबारा post कर रहा हूँ क्योंकि मेरा एक तरफ़ा प्यार UPSC है सिर्फ... So मुझे इसके अलावा कोई और अच्छा मिला ही नहीं!!!

    तुझसे एक तरफ़ा मुहब्बत किए जा रहें हैं ऐ UPSC
    मेहनत के efforts डाले जा रहें हैं...
    हम तो हार मानेंगे नहीं तू ही हार मान के मेरी हो जा!!

    #rachanaprati141
    @bad_writer
    @anusugandh @mamtapoet @alkatripathi79 @_do_lafj_

    Read More

    ⭐⭐

    I love you UPSC....
    Ae UPSC tujhe kaise bhul jauu...
    Jaan hai tu meri tujhse kaise dur jauu...
    LL SSC ya SI CPO hoti tu...
    To sayad tujhe bhulne ki sochta bhi....
    Tu to IAS IPS hai... Tujhe kaise chd jauu...
    Ae UPSC tujhe kaise bhul jauu....

    Mana tu bohot gum deti hai logo ko...
    Mana tu ladkpan ki mauj fenk deti hai....
    Mana tu raato ki nind cheen leti hai....
    Mana tu kisiko PRE me tod deti hai...
    Mana tu kitno ko INTERVIEW me daga deti hai...
    Par tujhme baat hai wo kisi or me nahi.....
    Ae UPSC tujhe pane me jo surur hai...
    Bta usse kaise muh mod jau....
    Ae UPSC tujhe kaise bhul jauu....

    Pta hai tujhe teri khatir mai duniya chord aya hu....
    Gaav ki galiya... Yuva अठखेलियाँ chord aya hu....
    Maa baap ghar parivar chord aya hu.....
    Terii khatir SSC APO se muh mod aya hu.....
    Itna sab chordkr kya ye jayaz hai ki mai tujhe chord jau...
    Ae UPSC tujhe kaise bhul jauu....

    Sirf ishq hota tujhse to sayad bhul jata...
    Sirf sapna ya khwahish bhi nahi hai tu....
    Jo dekhu tujhe aur mai fuula na smau...
    Tu to aag hai mere dil ki....
    Junoon hai mera tu....
    Bta tujhe mai kaise na pauu....
    Ae UPSC ye mumkin nahi ki mai tujhse dur jauuu...
    Ae UPSC tujhe kaise bhul jauu....

    ©gannudairy_

  • alkatripathi79 19w

    #rachanaprati141
    @bad_writer


    एकतरफ़ा ही सही मैंने तो प्यार किया था
    उसे था या नहीं पर मैंने बेशुमार किया था
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    अक्सर पहला प्यार एकतरफ़ा होकर रह जाता है
    जो दोतरफ़ा होता है वो तो किस्मत होता है

    Read More

    एकतरफ़ा प्यार

    इश्क़ होता मुक़्क़मल कहाँ
    ग़र इश्क़ में तुम तड़पे नहीं
    फिर भी इश्क़ मिल जाए तो
    तुमसा कोई खुशकिस्मत नहीं

    ©alkatripathi79

  • mamtapoet 19w

    एकतरफा प्रेम

    नहीं मिल पाता है प्रेम को,
    हमेशा अपने हिस्से का प्रेम,
    अक्सर वो रह जाता हैं एकतरफा।

    नदी नहीं तय करती,
    उसको किस सागर से मिलना है,
    क्योंकि ये मिलन होगा प्रकृति के विरुद्ध,
    बड़ी खामोशी से वो स्वीकार कर लेती है,
    उस सागर में समाहित हो जाना,
    ये जानते हुए भी कि,
    विलुप्त हो जाना है स्वयं का अस्तित्व,
    रह जाता हैं उसका प्रेम ,
    अपनी ही जलधारा में सिमट कर।

    ये एकतरफा प्रेम परत दर परत जम जाता हैं
    मन के तहखाने में,
    कभी बादलों में छुप जाता हैं,
    कभी फूलों में मकरंद बन जाता हैं,
    चांदनी में झांकता है वो चुपके से,
    और अमावस को ढक लेता है,
    अपने प्रेम के हिस्से को,
    और पहली किरण बन गर्माहट देता है
    अपने दूसरे हिस्से को।

  • somefeel 19w

    मुझे तुमसे कोई शिकायत या कोई नफरत नहीं है तुम मेरे लिए आज भी वैसी ही हो बस कभी-कभी मुझे बुरा इस बात का लगता है की जब तुम और मैं यह दूरी तय कर रहे थे तो तुमने आगे जाते जाते पीछे मुड़कर नहीं देखा और मैंने सिर्फ आगे देखा तुम्हारे पीछे मुड़ने के इंतजार में,
    अब तुम्हें गए बहुत वक्त हो चुका है तुम्हारा परिवार है तुम खुश हो तुम्हारी एक नई जिंदगी शुरु हो चुकी है मैं भी खुश हूं क्योंकि तुम खुश हो और इससे ज्यादा खुशी की बात मेरे लिए और कुछ भी नहीं बस कभी-कभी तुम्हारी यादें मुझे घेर लेती है उस यादों के घेरे में मैं खुश होता हूं बहुत खुश और तुम्हें तो पता ही है कि मैं जब खुश होता हूं तो मैं सुनता हूं सैड सॉन्ग वह भी दिलजीत पाजी के और आज मेरी डायरी के ११२ पन्ने पर जब मैं तुमसे बातें कर रहा हूं, तो मेरे पास में पड़े स्पीकर मैं बज रहा है गाना!

    दिलजीत पाजी की आवाज में....

    साड्डे इश्क़ नू दर्ज़ा मिले या ना मिले कोई ग़म नहीं
    तेरे दिल च थोड़ी थां मिले या ना मिले कोई ग़म नहीं
    सुण सोहणेया तेरी याद नाल वे मैं खेड़ दी दिन रात वे
    तेरा इश्क़ सिर चढ़ बोलदा हूण इश्क़ साड्डी ज़ात वे
    तेरी छो दे सुपणे वेखदा गुस्ताख़ दिल सारी रात वे!

    #ख़त्म
    ©Somefeel

    #rachanaprati141
    @bad_writer

    Read More

    डायरी का 112 पन्ना!

    केहंदी हुंडी सी चन्न तक रहा बना दे तारे ने पसंद मैनु हेथन सारे लादे ओहना तारेयन दे विच जादोन मैनु वेखेंगी मेरी याद जद आएगी तन पता लगुगा,
    यह गाना यार मुझे हर जगह सूने को मिलता है गाड़ियों में लोगो की फोन की कॉलर ट्यून और रिंग ट्यून में भी, यहां तक की इंस्टाग्राम भी इस गाने से भरा पड़ा है, मैने यह गान अभी तक सुना नही है और शायद सुनना भी नही चाहता क्युकी ना तुमने कभी तारे मांगे ना ही मैने कभी तुम्हारी बराबरी चांद से की, तुम और मैं जो कभी हम थे, हम यानी तुम और मैं, अपन सुना करते थे गाने जैसे परफेक्ट, रु ब रु, या सतिंदर सरताज पाजी और के गाने और यह गाने आज भी मेरे पंजाबी गाना एप में फेवरेट लिस्ट में सेव है इन्हें में हर रोज सुनता हूं और महसूस करता हूं कि तुम आज भी मेरे साथ हो,
    हां इंस्टाग्राम से याद आया मैं आज भी इंस्टाग्राम पर फेक आईडी बनाकर तुम्हारी प्रोफाइल को फॉलो करता हूं तुम्हारी तस्वीर देखता हूं तुम्हारी स्टोरी देखता हूं अब तुम्हारी तस्वीरे मुझे तकलीफ नहीं देती ना ही मेरे घावों को हरा करती है हां तुम्हारी यादों या कह लो अपनी मोहब्बत को लिखने की आदत हो गई है कुछ हकीकत लिखता हूं और कुछ ख्वाब और ज्यादातर मैं अपने सच को ख्वाब कहता हूं और तुम्हें लिखता हूं तुम मुझे छोड़ कर चली गई, जहां तुमने छोड़ा था मुझे मैं आज भी वही हूं और तुम्हें देखता हूं कि तुम मुझसे कितनी दूर जा चुकी हो और तुम मुझसे अब इतनी दूर जा चुकी हो की जब कभी तुम्हारी इंस्टा प्रोफाइल पर शर्मा लिखा रहता था वहां अब तुम्हारे पति का नाम और उसकी जात जुड़ चुकी है और मैंने तुम्हारा यह सफर वहीं खड़े खड़े देखा है जहां तुमने मुझे छोड़ा था और मैं आज की वहीं खड़ा हूं क्योंकि मुझे नहीं लगता कि मेरा आगे बढ़ना सही होगा मेरी की गई मोहब्ब मुझे इस चीज की मंजूरी नहीं देती है,
    ,

    बाकी भाग अनुशीर्षक में.......
    ©somefeel

  • tejasmita_tjjt 19w

    इक तरफा मोहब्बत

    बहुत टूट के चाहा था उसे
    दिल तो क्या
    दिल का भी दिल वार दिया उसपे
    पर वो जान ही ना सका जज़्बात मेरे
    मोहब्बत क्या होती है
    उसी ने तो रूबरू कराया था
    प्यार क्या होता है
    उसी ने तो करना सिखाया था
    खुल के जीना भी तो सिखाया था
    पत्थर दिल को कोमल बनाया था
    जगाकर सब एहसासों को
    जाने कहां गुम हो गया वो
    एक तरफा मोहब्बत मेरी
    आज भी बैठी है उसके इंतजार में
    कभी तो आयेगा वो किसी बहार में
    ©tejasmita_tjjt

  • yuvi7rawat 19w

    एक तरफ़ा प्यार

    Mila jo usse ek bar,
    Bhul gaya mai ghar-sansar,
    Mene kiya tha usse itna pyar,
    Roya tha usse bichad k yar...

    Uska roop jaise komal kaya,
    Vo raat k jaise sheetal chaya,
    Ye sab the ushe ki maya,
    Usne mujhe ek insaan banaya...

    एक तरफ़ा प्यार tha mera,
    Tum pagalpan na samaj lena,
    Usne mujhe thukara diya,
    Par tum ushe galat na kahna...

    Ha chale gaye hai,
    Vo mujhe chhod kar,
    Par aaj bhi baitha hu mai,
    Uski chunar odha kar...
    ©yuvi7rawat

  • bad_writer 19w

    एक तरफा प्यार

    सुनो, तुमसे कुछ पूछना हैं

    क्या तुम वहीं हो जिसे देखने के बाद किसीको देखने का मन नहीं करता?
    क्या तुम वहीं हो जिसे सोचने के बाद कुछ ओर सोचने का मन नहीं करता?

    वो ख़्वाब जिसके आने से नींद ऐसी आती हैं कि जागने से नफ़रत हो जाती हैं,

    वो सांस जिसके लेने के बाद की ताज़गी ऐसी है कि सूखा हुए पेड़ भी हरा-भरा दिखने लग जाता हैं,

    वो चेहरा जो हर रात मेरे तकिए पर सोने से पहले बनाता हूं,
    क्या तुम वहीं हो जिसकी बात में हर बात में लेे आता हूं?

    हां, तुम शायद वहीं हो क्योंकि ये बात केहते हुए मेरी आंखे मुझे तुम्हारे सीवा कुछ ओर दिखाने से इन्कार रहीं हैं मानो की इससे ख़ूबसूरत आज तक कुछ देखा ही ना हो,

    मेरा दिल पहले से तेज़ धड़क रहा है मानो केह रहा हो ये जो कुछ भी हो रहा है वो पहली ओर आख़री बार हो,

    मेरे कान मुझसे कह रहे हैं कि जो आज तक सुना वो सब बेकार है,

    मेरे हाथ अपनी हथेली में तुम्हारा नाम इस तरह ढूंढ़ रहे है मानो कोई रूई के ढेर में सुई ढूंढ़ रहा हो,

    मेरी बाहें तुम्हारे लिए इस तरीक़े से तरस रही है मानो अंधेरे में छोटा बच्चा डर रहा हो,

    ओर इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी तुम्हें पाने या ना पाने का खयाल भी मुझसे कोसों दूर है,

    हां, ये सच है मुझे तुमसे एक तरफा प्यार है,

    तुम्हारे दिल में क्या है मुझे नहीं जानना,
    तुम्हारे दिल में कोन है मुझे नहीं जानना,
    बस इतना बतादो क्या तुम वहीं हो जिसकी मुझे तलाश है?
    फिर तुम्हारा फ़ैसला जो भी हो मुझे नहीं जानना,

    ओर इतना सब कुछ कह जाने के बाद भी मुझे तुम्हे पाने या ना पाने कि हसरत नहीं है,
    क्योंकि मुझे तुमसे प्यार करने के लिए मुझे तुम्हारी ज़रूरत नहीं है,

    मेरा यकीन करो में तुमसे दूर रहकर भी ख़ुश रेह सकता हूं,
    तुम्हारी आंखों में जो पानी भरा है उसमे किसी बेशुद्ध मछली की तरह तैर सकता हूं,

    तुम्हारे लिए कुछ घंटे क्या पूरी ज़िन्दगी कर सकता हूं ये वो इंतज़ार है,
    हां, ये सच है मुझे तुमसे एक तरफा प्यार है,
    ©bad_writer

  • bad_writer 19w

    #rachanaprati141

    सबसे पहले मै मोटू दीदी का धन्यवाद करता हूं।


    Rachanaprati १४१ का विषय "मेरा एकतरफ़ा प्यार" परसो सवेरे (१७/०१/२०२२) तक की समय मर्यादा है।
    ©bad_writer