#rachanaprati43

13 posts
  • anusugandh 55w

    फ़ौज़ी

    किसी ने बोला एक दिन फ़ौजी होते हैं पागल
    हमने कहा ठीक बोला ...पागल ही हैं
    जो परिवार को छोड़ कर,रह्ते सदैव तत्पर
    ना होली ना दिवाली,घर रह्ता खाली
    -30डिग्री बर्फ में जमकर,करते ड्यूटी
    सहते 50 डिग्री की गर्मी,और उफ्फ़ ना होती
    किसी माँ से,किसी पत्नी से पूछना
    क्या होती है जुदाई
    आता है तिरंगे में लिपटकर जब शरीर
    रोती है खुदा की खुदाई
    आज मैं आप से पूछती हूँ क्या अब भी आप कहोगे की फ़ौजी होते हैं पागल....???
    ©anusugandh

  • maakinidhi 55w

    #जय हिंद जय भारत ❤️#rachanaprati43@goldenwrites_jakir

    Read More

    सैनिक

    जल हो थलहो या हो आकाश!
    मैं परचम सदैव लहराता हूं!!
    मैं भारत मां का‌‌ बेटा‌ हूं!
    नित मां की शान बढ़ाता हूं!!

    मैंने भावों को रख भीतर!
    साहस का दामन थामा है!
    निज देशवासियों हित मैने!
    जीवन का मोह भी त्यागा है!!

    कर्तव्य मेरा सबसे अग्रिम!
    मुझको न भय बलिदान का है!
    है सबसे पावन जीवन यह!
    जब प्रश्न मां के मान का है!!

    निज संकल्पों में बद्ध सदा!
    प्रतिपल कर्तव्य निभाता हूं!
    रहे देश मेरा मैं रहूं न रहूं!
    यही प्रबल भाव अपनाता हूं!!
    ©maakinidhi

  • anusugandh 55w

    #rachanaprati43@bhaijaan_goldenwriteszakir

    मन की पाती में ....
    आज बात उन वीर सैनिकों की, जो अपनी जान की परवाह ना करते हुए भी हमारी हिफाजत करते हैं......

    आओ शूरवीरों की बात करते हैं,
    धरती धरा के रक्षकों का गुणगान करते हैं,
    जल, थल ,नभ की जो रक्षा करें,
    उन वीर पुत्रों की बात करते हैं!!

    ना अपनी परवाह करते हैं ,
    बस सरहद की हिफाजत करते हैं,
    जिस्म पर गोलियां खाकर,
    उफ्फ तक ना कभी करते हैं !

    सर्दी में ठिठुर कर ,गर्मी में पिघलकर भी,
    जो हमारी हिफाजत करते हैं ,
    ना मिलती जो कभी त्यौहार पर छुट्टी ,
    तो बस, मन ही मन खुश होकर इजहार करते हैं!

    मां बाप ,भाई बहन ,बीवी बच्चों को हमारे सहारे छोड़ कर
    खुद को देश पर कुर्बान करते हैं,
    नमन उन धरा के वीरों को ��
    जो सर्वस्व निछावर करते हैं !

    हिम्मत नहीं दुश्मन की ,
    जो आंख उठाकर भी देखे हमारी ओर ,
    हर उस नजर को,
    अपने निशाने से चूर-चूर करते हैं!

    अंत में बात उन माँओं की ,जो ऐसे पुत्र जन्मती हैं,
    एक के शहीद होने पर ,दूजे को भेजने का दम रखती हैं!!

    Read More

    सैनिक

    धन्य मेरे देश के वीर सैनिक
    प्रणाम मैं तुमको करती हूं
    देश के लिए जो करते प्राण न्यौछावर
    गर्व में उनपर करती हूं
    बाकी कैप्शन में पढ़ें.......
    ©anusugandh

  • _do_lafj_ 55w

    ����❤️����

    देश ही शान है,
    देश ही अभिमान है।।
    देश ही परिवार तो,
    देश ही सारा संसार है।।
    देश के लिए खुद को लूटा देते है,
    देश पे खुद को मिटा देते है।।
    देश की खातिर घर छोड़े अपना,
    देश के लिए ही सिर काटा देते है।।
    जिनके शरीर मे लहू नही,
    देश भक्ति बहती है।।
    जिनके दिल में हर वक़्त,
    भारत माँ रहती है।।
    जो देश के बेटे है,
    जो जान देश पे देते है।।
    जिनका कर्तव्य देश है,
    जिनका धर्म देश है।।
    देश से ही जिनकी पहचान है,
    भारत माँ के लाल,
    सैनिक उनका नाम है।।

    I write this on pulvama attack in Jammu kashmir on 14 February 2019��...
    ●Black Day For India●

    #Rachanaprati43
    @bhaijaan_goldenwriteszakir @greenpeace767 @aka_ra_143 @anusugandh
    #Soldier #BlackDayForIndia #Country

    Read More

    सैनिक

    ना किसी ने उन्हें गुलाब दिया था,
    ना किसी ने उनसे प्यार जताया था।
    उन्होंने तो देश की सुरक्षा में,
    अपना सब कुछ गवाया था।।
    क्या गुजरी होगी उन माँ बाप पे,
    जिनका बेटा गया हसते हुए था,
    और तिरंगे में लिपटा घर आया था।।


    ©_do_lafj_

  • bhaijaan_goldenwriteszakir 55w

    सैनिक ‍✈️

    ‍✈️ बायु सेना -----
    ना जमीं मिली ना आसमा - हवा में ही मिन हो गए वीर जवान

    जल सेना -------
    जिस जमीं के लिए - लहू का कतरा कतरा बहा दिया
    देखी नही उसकी सूरत ---- अपने लहू को पानी के समंदर में फना कर दिया .........

    पहाड़ों पर -------
    सूरज से मिलाकर नज़र से नज़र वो --- हमारी ढाल बनकर खड़े रहे
    आग के गोले बरसते रहे --- वो अपनी जगह से हिले भी नही
    ---------
    किसी को मिली गर्म चट्टाने तो किसी को वर्फ की तूफानी दिन और रातें ----- कैसे बने वो हमारी ज़िन्दगी के मसीहा
    ये दर्द उनसे भला हम क्या जाने - क्या क्या सहा हमारी ज़िन्दगी के उन फरिश्तों ने --- उनकी तड़प उनकी मेहनत हम क्या जाने ....

    घर से दूर -- माँ बाप भाई बहन बीबी बच्चो से दूर
    उनके ख़्वाबों को उनकी मन मर्जी को हम क्या जाने
    क्या खोया क्या पाया उनके ज़ज़्बातों को हम क्या जाने
    देखना ही भूल गए हम उजड़ी मांग को नज़र अंदाज़ कर गए
    माँ के उन आंसुओं को जिसने खोया अपने पिता का साया
    हम उनके दर्द को क्या जाने क्या जाने ----- क्या जाने ---
    कैसे मिली हमको ये आजादी उस बलिदान के हर इक लहू के कतरे का मोल क्या जाने क्या जाने क्या जाने ----
    हम भूल गए हां हम भूल गए भूलते चले गए उन वीर सहिदों को
    जो क़ुर्बान हुए हमारी मुस्कुराहट के लिए
    उन का हम शुक्रिया कैसे करें कैसे करें कैसे करें ........ !¡!
    जय हिन्द जय भारत जय जवान जय जय जय जय जवान

    ©bhaijaan_goldenwriteszakir

  • bhaijaan_goldenwriteszakir 55w

    सैनिक

    जमीं की गहराई में --- आसमा की ऊंचाई पर
    देता पहरा हमारी ज़िन्दगी का
    वो वीर जवान सैनिक कहलाता !¡!
    जय हिन्द जाय भारत जाय जवान
    ©bhaijaan_goldenwriteszakir

  • anusugandh 55w

    सैनिक

    उड़ती हवाओं से, मेरा पता पूछ लेना
    मैं दूर सरहद से ही,अपना हाल बता दूंगा!

    फूलों की खुशबू से,हाल मेरा पूछ लेना
    मैं हर फूल में ,अपनी खुशबू बसा दूंगा !

    जब भी आएगी, मेरी याद,मेरी मां तुझे
    उड़ते परिंदे से..... मेरा पता पूछ लेना!

    ना दिखाऊंगा, दुश्मन के आगे पीठ कभी
    खा लूंगा, गोली सीने पर ही चाहे तू देख लेना!

    दस -दस, दुश्मनों को अकेला ही मार दूंगा
    मेरी वीरता के किस्से ,तू दुनिया से सुन लेना!

    ना नाम, डुबोऊंगा अपने देश भारत का,
    झंडा ऊंचा ही सदा रहेगा,तिरंगा तू देख लेना !

    यह वादा है मेरा ...... .तुझसे ,मेरी मां ,
    बिना खात्मा किए दुश्मन का, नहीं वापस आऊंगा!

    रख दूंगा, दुश्मन की छाती चीर कर
    झंडा सदा ,ऊंचा ही लहराएगा गगन में ,देख लेना!
    ©anusugandh

  • aka_ra_143 55w

    #Rachanaprati43
    @bhaijaan_goldenwriteszakir
    ������������������������
    वो सैनिक बेटा उनका जो करता अपना हर फ़र्ज़ है
    देश के लिए न्यौछावर जो करता अपना तन है
    वही बेटा उनका जिसकी भुजाओं में दम है
    किसान का वो एक बेटा जिसके लिए देश ही उसका धर्म है
    ������������������������
    जय जवान जय किसान
    ��������������
    ��������������

    Read More

    सैनिक

    माँ की तरसती आँखों से पूछो कि क्या ग़म है,
    बाप की तड़पती निग़ाहों से पूछो कि क्या ग़म है,
    बहिन की राखी से पूछो कि क्या ग़म है,
    भाई के प्यार से पूछो कि क्या ग़म है,
    पत्नी के इंतजार से पूछो कि क्या ग़म है,
    बच्चों की उदासी से पूछो की क्या ग़म है,
    उनके घरवालों से पूछो ज़रा,
    कि उनके घर की रौनक़ कहाँ ग़ुम है,

    ©aka_ra_143

  • bhaijaan_goldenwriteszakir 56w

    #Rachanaprat i43

    #Rachanaprati पाठशाला में सभी पाठको का अभिनन्दन करता हूँ
    सभी दोस्तों गुरु G बहनो को आमंत्रित करता हूँ
    @tejasmita_tjjt जी का शुक्रिया अदा करता हूँ
    मुझे पाठशाला को आगे बढ़ाने का उपहार दिया ✍️✍️✍️✍️

    आज का बिषय ---- सैनिक
    जो हमारी ज़िन्दगी खुशहाल बनाने के लिए अपनी ज़िन्दगी को
    किस मसाकात की है उनकी ज़िन्दगी उस पर हम अपनी अपनी कलम का एहसास लिखते हैं
    जय हिन्द जय भारत जय जवान
    ©bhaijaan_goldenwriteszakir

  • tejasmita_tjjt 56w

    #rachanaprati42 #rachanaprati43

    सबसे पहले @anantsharma_ @beleza_ जी का बहुत बहुत धन्यवाद देना चाहूंगी जिन्होंने मुझे संचालन का काम सौंपा। मैं आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद देना चाहूंगी��������❤️❤️❤️❤️❤️ जिन्होंने "सास बहू" के रिश्ते को अलग अलग और नए रूप में प्रस्तुत किया। सबकी रचनाएं श्रेष्ठ थी������������������
    और माफी चाहूंगी देरी के लिए, तबियत थोड़ी नासाज होने के कारण इस कड़ी में रुकावट आ गई थी इसका मुझे खेद है।����������������
    आगे विजेता के रूप में मैं @bhaijaan_goldenwriteszakir @aka_ra_143 @maakinidhi को घोषित करती हूं जिन्होंने बहुत ही सुंदर और भावपूर्ण रचना प्रस्तुत की।

    Read More

    आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद और आभार जिन्होंने मेरे टॉपिक को पसंद किया और अपने अपने विचार प्रस्तुत किए। आगे संचालन का कार्य मैं @bhaijan_goldenwriteszakir को सौंपती हूं।
    इस कड़ी को आगे बढ़ाए।
    धन्यवाद
    ©tejasmita_tjjt

  • bhaijaan_goldenwriteszakir 59w

    #Rachanaprati all

    .
    ©bhaijaan_goldenwriteszakir

  • beleza_ 64w

    #rachanaprati43 @bhaijaan_goldenwriteszakir

    देश के लिए अपने लहु का
    आखिरी कतरा भी बहा देते हैं
    अपनी सारी ज़िन्दगी देश पर लुटा देते हैं,
    वीरों की शहादत के बाद भी
    घरवालों को कुछ मिलता नहीं,
    ये शूरवीर वतन के वो फूल है
    जो हर घर में खिलते नहीं,
    अपनी भारत माँ को
    नीलाम नहीं होने देते हैं
    कटा लेते हैं सर अपना पर
    तिरंगा झुकने नहीं देते हैं
    इनके अपार शौर्य से ही
    आजाद वतन-ए-हिन्दोस्तान हैं
    ईश्वर अल्हा से भी बढ़कर
    ये रक्षक-ए-हिंदुस्तान हैं
    बच्चों के सपनों की उड़ान
    व पत्नी का सम्मान हैं
    बूढ़ी माँ का इंतज़ार,
    पिता की शान हैं
    और कोई ख्वाहिश नहीं इनकी
    बस हर जन्म में भारत इनका वतन हो,
    शूरवीरों की आँखों में
    भारत माँ का सपना बसता है
    उन वीरों को झुककर ये दिल
    सौ-सौ बारी सजदा करता है

    Read More

    ये भारत भूमि है वीरता यहाँ शूरवीरों के रक्त में बहती है
    ये भारत भूमि हर भारतीय के दिल में रहती है
    ©beleza_

  • mamtapoet 74w

    वीर रस ( सैनिक)

    वीर तुम बढ़े चलो
    है धीर तुम बढ़े चलो
    पसीना जो बह रहा
    हिम्मत है तू, सब सह रहा
    के सीमा पर तू जो डट खड़ा हुआ
    बन के प्रहरी जज्बे पे अपने अडा हुआ
    कांपते हैं दुश्मन जब गरजन तेरा हुआ
    हुई न तेरी कोई रात हर दम सवेरा रहा
    थर थर धरती भी काँप गयी
    सिंह सी ललकार जब तेरी हुई
    तू एक ही सौ पर भारी हैं
    मौत से तो अपनी यारी हैं
    वीरता हर माँ के दूध में समाई
    यश गाथा ये देश की मिट्टी ने भी सुनाई
    कहीं पति, भाई बेटा शहीद हुआ
    घुँघट में रही सिसकी दूजे को फिर तैयार किया
    ना डरते है ना पीछे हटते हैं
    मेरे देश के नोजवां जान
    हथेली पर लेकर चलते हैं
    बुरी नजर जो पड़ी किसी की मेरी धरती पर
    नाम उसका ही लिखा बंदूक की गोली पर
    शब्द ही कम पड़ जाये स्याही भी थक जाये
    वीरता का बखान जब मेरे देश का बच्चा बच्चा गाये।
    ©mamtapoet