#thoughtsoftheday

1079 posts
  • creative_chanchal 1h

    I don't think this is a sign or not. What a reason for about 3 days.
    I am listening to music, walking, talking, and meeting new people.
    When a bird fly crossed my head, this is good sign.
    Is there any positive energy here?
    or showing
    because...
    I am feeling positive,
    I am feeling confident,
    I am feeling energetic,
    I am feeling happy.
    I don't know what a vision is, inner or outer, but still a winner's place
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 2d

    कहतें है ना
    दिल का रास्ता खाने से होते हुए गुज़रता है
    और खाने की ख़ुशबू
    दिल दिमाग सबके दरवाज़े खोल देतीं हैं
    और अगर वहीं खाना आपको कोई
    प्यार से परोसें तों समझो
    स्वाद लेने से पहलें हीं मुँह में पानी आ जाता है
    और मन तृप्त हो जाता है
    हमारे लिए आज की शाम कुछ ऐसी ही रहीं
    जो करतें जाॅब है पर सेवाभाव से
    उनके कार्य में सिर्फ ओर सिर्फ सेवा झलकती है
    और भाव प्रेमपूर्ण, सम्मानपूर्ण।
    खाना थोड़ा मीठा, तीखा, खट्टा जरूर होता है
    पर खाना बनाने वालों ने और खिलाने वालों ने
    यहाँ दोनों ने दिल जीत लिया है।।
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 3d

    जिंदगी की शुरुआत चाहें किसी भी रास्तों से करों
    मेरे ज़हन में हमेशा एक ही सवाल होता है
    क्या यें रास्ते मुझे अपना पाएँगे
    क्या मैं इन रास्तों को अपना पाऊँगी
    कब तक हम बिना शिकायत कें एक-दूसरे का साथ निभा पाएँगे।।
    ©creative_chanchal

  • salomisun 1w

    Blessed With The Best

    My mother is my biggest inspiration!
    (In fact, all mothers sacrifice so much for their kids)
    You hide your pain with a smile and were always content to let me shine.
    You've been my hero, my life, my strength and my all in all
    Your love is unconditional
    If your work as a parent is a job, I'd say you deserve the highest salary
    Highest paid among all jobs
    I am not what I am today without you by my side
    You've raised and shaped me in a such a way that I can't recognize myself
    All my imperfections are perfect in your eyes
    You've taught me well
    You've shown us love, compassion, humility and benevolence
    Home is where you are.
    Thank you momma for everything!
    I thank the Lord for your presence and I don't wish but pray that He will always guide and keep you under his protection.

    ©salomisun

  • broken_mind2019 3w

    #broken

    Broken from inside several times,
    Still have the power to be broken further more,
    Its the inner strength which makes me alive ,
    Its actually God's grace and power which I found inside me,
    After several strokes of failures and damages.
    ©broken_mind2019

  • creative_chanchal 12w

    इस शहर में मिट्ठी-मिट्ठी बातें करनें वाले बहुत है
    अपने रूतबे का गुरूर लिए फिरते हुए दिखते हैं
    इन्सानो के बीच रहते हैं
    पर खुद को इन्सानो का मालिक समझतें हैं
    दिख रहा है फ़िर वह ग़ुलामी का आलम
    जहाँ पैसों के बल पर
    किसी की मजबूरीयों का फायदा उठाया जाता है
    इन्सान को इन्सान तब ही समझा जाता है
    जब अपना काम निकलवाना होता है
    क्या सब ऐसे है
    या फ़िर हम ही पाखंडीयों- बेईमानो से टकरा जाते हैं
    सच है हम मूल्यो को साथ लिए चलतें हैं
    जहाँ हमारा काम, हमारे मूल्यो के साथ ही होता है
    जहाँ इंसानों में फर्क नहीं समझा जाता है
    कर्म में यक़ीन किया जाता है
    आखिर कब तक सब्र करतें रहेंगे
    सब्र का भी एक बांध होता है
    और जब बांध टूटता है तो बहाड ही लाता है
    किसी की चुप्पी का इतना भी फायदा मत उठाओ
    कि जब वह बोले तो तुम्हारी बुनियाद हिल जायें
    किसी को बेमतलब ललकारने के लिए मजबूर मत करों कि
    जब वह सामने हो तुम्हे शर्म से आँखे झुकानी पड़े
    इन्सान हो इन्सान बनकर रहों
    क्यो फरिश्ता बनने की कोशिश करतें हो
    आखिर कब तक किसी को भी दोषी करार करोगे
    एक दिन वह भी खड़ा होगा
    तुम्हे गिराने के लिए नहीं बल्कि
    किसी को ऊपर उठाने के लिए
    किसे पता है कि
    कब तक सच्चाई कें लिए लड़ते रहेंगे
    कब तक अपनी बात कहने के लिए तेज आवाज का सहारा लेना पड़ेगा
    कब तक किसी की सच्चाई को ठुकरा दिया जाएगा
    आखिर कब तक किसी की मेहनत को कुचला जाएंगा
    शायद ऐसा करनें वाले को खुद पर गर्व महसूस होता हो
    किसी की मेहनत को अपनी बातों से कचरा किया है
    पर शायद उन्हे यें नहीं पता कि कचरा ना-समझ लोग ही करतें है
    उसके लिए डिग्री होना या ना होना जरूरी नहीं होता है
    सवाल तों यह है कि
    क्या बेमतलब का गर्व महसूस करनें वाले जब आईने के सामने खड़े होते हैं,
    जब खुद से रूबरू होते हैं
    क्या तब भी वह झूठ का गर्व महसूस करतें है
    या फिर उन्हे सच और झूठ के बीच का फर्क नहीं पता है
    या फ़िर वह गलतफहमि में हीं जीते हैं ।।।
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 12w

    महज़ यें एक शहर हीं नहीं है
    हर एक की मोहब्बत हैं
    जो रास्तो संग दिलो को जोड़े रखें हुए हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    अच्छा बनना है तो खुद की नज़रो में अच्छा बनों
    दूसरों की नज़रो में क्या रखा हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    हमराही!!

    अक्सर हम क्यों उन ख़यालो में रहते है
    जिनसे हम कभी मिले नहीं है
    जिनके बारे में हम कुछ भी जानतें नहीं है
    फिर भी सोचते हैं
    हम मिलेगें
    वक़्त के किसी मोड़ पर तो मिलेंगे
    हम खुद से ही सवाल किया करतें है
    क्या हम कभी मिलेगें.....
    हम जिनसे कभी किसी राह पर
    किसी सफ़रनामा पर मिल भी जातें हैं
    तब भी क्यों
    क्यो खुद से ही पूछते हैं कि
    क्या हम दुबारा मिलेगें?
    क्यो जब सफ़र अपनी मंजिल पर खत्म होतां है तो
    क्यो आस के साथ यें कहतें है कि हम फिर मिलेंगे
    या फ़िर यें कहतें सुना होगा कि
    हम फ़िर मिलतें हैं
    चाहे वक़्त का तकाजा हमें कहीं ओर, कही दूर खींच ले जायें
    चाहे मंजिल एक हो
    फ़िर भी सफ़र अलग-अलग होतां है
    हम तो बस वक़्त का इन्तजार करतें हैं
    या कभी भूली बिसरी यादों के साथ
    उस अनजान मुसाफ़िर को
    परिचित की तरंह हमराही सा याद करतें हैं!!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    वक़्त के साथ यादें भले ही तरबतर होतीं जायें
    पर यें जरूर याद रखना हैं कि
    हम जिससे भी मिले
    उसे कभी भूले नहीं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    कब तक हम
    अपने दिल की छोड़
    दूसरों की सुनते रहेंगे
    आखिर कब तक!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    क्यों हम सही ग़लत के बीच उलझे हुए रहते हैं
    कोई कहता है कि
    सही-ग़लत की पहचान होना जरूरी है
    कोई कहता है
    सही-ग़लत कुछ नहीं होता है
    कोई कहता है कि
    सही निर्णय और सही काम जिंदगी बना देता है
    कोई कहता है कि
    एक ग़लत निर्णय जिंदगी बिगाड़ कर रख देता है
    तो कोई कहता है कि
    सही पर फोकस करों
    तो कोई कहता है कि
    गलतियों से सिखकर आगें बढो
    क्यो हम सबकी बातें सुनकर इतना इसमें उलझे रहते हैं कि
    बस सोचते-सोचते वक़्त हाथ से निकल जाता है
    ओर हम उस अनुभव से परे रहते हैं
    और शायद एक वक़्त के बाद हमारे रास्ते भी और
    मंजिल के दरवाजे भी
    दोनों ही बन्द मिलतें हैं।।
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    सच है ज़िन्दगी एक रंगमंच है
    ओर हम कठपुतली की तरह करतब हीं करतें रह्ते है
    कभी खुद की मर्जी से तो कभी
    जाने अनजाने में
    कोई हमें करतब करनें को मजबूर कर रहे होते है।।
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    क्यों ऐसा लग रहा है हमें
    कि हम सब कुछ हार रहें है
    हमारे अहसास
    हमारा आत्मविश्वास
    हमारी मेहनत
    हमारा काम
    हमारी आरज़ू
    हमारा तजुर्बा
    हमारी क़ाबिलियत
    हमारा सम्मान
    हमारी हसरतें
    हमारे सपनें
    हमारी मंजिल
    ओर....
    हमारा दिल और दिमाग!
    रुकी हुई है तों बस यें जिंदगी
    जो जीतने की उम्मीद लियें हुए हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    सिर्फ हमें ही लगता है कि
    हमारी एक दुनिया हैं
    या फ़िर.....
    सबको ऐसा लगता है कि उसकी अपनी एक दुनिया हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    जब सपनें टूटते हैं
    आवाज़ भले ही ना उसकी
    पर दर्द
    दर्द बहुत होतां हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    पाकीज़ा !!

    इतना क्यो सोचना उसके बारे में
    जो तुमसे प्यार नहीं करतां है
    कोई तो हैं इस जहाऩ में
    जो तुमसे प्यार करतें हो
    चलो माना कि कोई नहीं है
    पर तुम्हे किसने रोका है
    खुद से प्यार करनें को!

    हम अक्सर यें क्यो भूल जाते हैं कि
    हम अकेले नहीं है इस जहाऩ में
    हमारे सपने, हमारे अपनें जो साथ है
    वह अपनें जो कभी दोस्त बनकर, कभी माँ- पापा का
    प्यार बनकर हमारे हमदर्द की तरह साथ निभाते हैं
    ओर तो ओर कई दफ़ा हमारा अकेलापन
    हमारे अपनें विचारों से घिरा हमारा दिल का आँगन
    जो हमेशा दिल और दिमाग कें बीच तर्क करतां रहता है
    चाहकर भी कभी अकेला नहीं छोड़ता है
    कई मर्तबा बेखौफ़ जीना सिखाता है
    फ़िर हम अकेले कैसे हुए
    क्या हम खुद से प्यार करना भुल गयें है
    यहीं एक तकलीफ है
    हम खुद को छोड इस जहाऩ में सबसे प्यार करतें है पर खुद को,
    खुद को भूल ही जाते है और
    आस किसी ओर से करतें है कि कोई हमें प्यार करें
    सच कह रहें है ना हम.....

    हम क्यो चाहते है कि कोई हमें प्यार करें
    हम अक्सर क्यो सोचते है कि कोई हमें प्यार करें
    हम क्यो उस हमसफ़र की तलाश रहतें है जो हमें प्यार करें
    और अगर यहीं सवाल हम खुद से करें तों
    क्या हमारे पास इसका जवाब होगा....
    हाँ, होगा जरूर! जब हम चाहेंगें
    जब हम खुद से प्यार करेंगे!!

    हम यह नहीं कह रहें है कि हम दुनिया को भूल जायें
    हम तो बस यहीं कह रहें है कि इस जहान में
    उस पाकीज़ा का भी वजूद़ है
    जिसनें न जानें कितने सपनें संजोये है आसमां को अपना बनाने के लिए
    बस उसी के हिस्से में जवाब जरूर मिलेंगे
    हम खुद से प्यार करना सीखें
    हम बैखोफ जीना सीखें!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 16w

    व्यस्तता के भार से, मुश्किलो के भार से
    चारों तरफ़ से घिरी हुई हैं....
    यें जिंदगी है जऩाब!
    देखतें हैं.......
    कितना जीतती हैं और कितना हारती हैं!!
    ©creative_chanchal

  • creative_chanchal 17w

    ज़माना!!

    कौन कमखकत अपने घर से दूर रहना चाहता हैं
    सपनों की चाहत ही कुछ ऐसी हैं जो
    ना चाहते हुए भी कभी अपनों से तो कभी
    अपनें घर से दूर कर देती है!!

    दूर होंने का दोष किसे दे
    इस जालिम़ ज़माने को या फिर
    हमारी चाहत को, जो
    वक़्त के साथ बदलते रहते है!!

    जालिम़ तों यें ज़माना है जो
    हमें सपनों कें पीछे दर-दर भटकाता हैं
    और वक्त के साथ अपनी छाप तो छोड़ता ही है
    साथ ही रंग भी दिखा देता हैं!!
    ©creative_chanchal

  • anuradhasharma 18w

    हम उन्हें चाहते रहे।

    उन्हें पता न चले इसलिए ,

    हमने कुर्ते के टूटे बटन टाक दिए।

    वो हमें चाहते रहे ।

    हमें पता न चले इसलिए,

    वो उस टाके बटन को चूमते रहे।

    और फ़िर इस तरह ,

    हम दोनों प्यार को सीतें रहे।


    ©anuradhasharma