#zakir

278 posts
  • zakirm 7w

    Tum bin ab ye barsat bhi parai si lgti h
    Zindgi ki dhoop chhanv
    yadon ki barison me gujarti h ..
    ©zakirm

  • zakirm 7w

    Dhoka

    Dhoka bhi badi farebi se krta rha wo
    Dekar lavon pr khushi k fool
    Nami ankho ki najar andaz krta rha wo
    ©zakirm

  • jk12345 9w

    Ummid ,

    Andheron ki parchai me 'aksar'
    Roshni k jugnu talash krti zindgi ..
    ©jk12345

  • jk12345 10w

    Bhigi palkon k say me
    Aksar meri tasveer
    Aaine me dhundhli najar aati he.
    Dekhta hun jb jb meri parchai me saya tera
    Yadon k saher lot jata hun me.
    ©jk12345

  • jk12345 10w

    Ajib h yar teri kahani meri zindgi me ,
    Tu hoker bhi dur mere karib he ...
    Rang is trha se sajay mohabbat k meri zindgi me ,
    Tanhai k kante bhi fool bnkr labon pr muskurate hain ...
    ©jk12345

  • goldenwrites_jakir 20w

    Collab with @akhannn भाई G
    ......
    दो बातों से शुरू --------------
    हुआ था कभी
    आज दो बात करने का उन्हें वक्त नही
    #jp #zakir

    Read More

    Collab ✍️

    #akhannn
    तुझे फुर्सत कहां "मुझसे बात करने कि
    पऱ तुझे याद करने से मुझे कौन रोक सकता है
    दिल अब ना रहा मेरा "जबसे ये तेरा हुआ है
    तेरा जिक्र हर इक धड़कन में
    तेरा ही ख़्याल तेरा ही अब इंतजार रहता है ...
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 20w

    जहां कभी गुजरा था बचपन
    आज वो गलियां अजनबी लगती है
    है रिश्ता ख़ून का पऱ अनदेखा कर
    उसे अपनी ज़िन्दगी से भुला रहे हैं
    #jp #zakir #sarhad

    Read More

    सरहद

    ज़ब घर के आँगन में दरार आ जाए
    एक घर के दो हिस्से हो जाएं
    तब रिश्तों में अपना पन कहीं खो जाता है
    ख़ून का रंग बदलकर नफ़रत का जहर बन जाता है
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 20w

    Happy rose day ��

    #jp #zakir

    Read More

    मोहब्बत ️❤

    मेरी ख़ामोशी को - पढ़कर वो
    अपनी आँखों कि नमी छुपाती है
    करके सरारत मेरे लबों पऱ हँसी के फ़ूल खिलाती है
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 21w

    मौसम इश्क़ का ज़िन्दगी पर इस तरह छाया
    कभी खिल उठता दिल मेरा तो कभी पतझड़ सा बीरान हो जाता है
    कभी बहता आँखों से सावन तो कभी तन्हाई कि धूप में ज़िन्दगी छाँव का इंतज़ार करती .....

    #jp #zakir #rachanaprati147 @deepajoshidhawan ��

    Read More

    तेरे नाम से ही शुरू लबों पर मुस्कान
    तेरे नाम से ही आँखों में नमी आती है
    है मोहब्बत तुमसे इतनी
    तुझ संग मेरी सुबह मेरी रात होती है ..
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 21w

    सोचता हूँ संग तेरे - यादों के सहारे
    कागज़ पर कलम में समाकर तुझसे रूबरू हो जाऊं
    लिखूँ दिल कि हर इक बात तुझे कविता का नाम दे जाऊं
    अजनबी से कैसे दोस्त कैसे अपने बने
    वो मोहब्बत वो इश्क़ के हर इक रंग में फिर तेरे साथ रंग जाऊं
    सोचता हूँ तेरे ख़्वाब तेरे ख्याल में डूब कर तेरा ही रेह जाऊं
    ................................................
    कितनी प्यारी वो सुबह और शाम थी
    खुली आँखों से गुजर जाती
    हँसते हँसते वो खूबसूरत रातें थी
    दूर होकर भी क़रीब तेरी परछाई मेरे साय में थी
    कितनी प्यारी हमारी चाहत कि वो शुरुआत थी
    ....................................................
    आज भी मोहब्बत का वो आशियाना
    नम आँखों में दिखाई देता है
    तेरी नादानियाँ तेरी गुस्ताखीयाँ
    तेरी नाराजगी तेरी खिलखिलाती हँसी
    के वो सब लम्हें आज भी महसूस दिल को होते हैं
    जैसे रौशन आज भी उजड़ा वो आशियाना मोहब्बत का है
    ✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️
    ©goldenwrites_jakir

  • 07jiya 21w

    Ishq

    Har ek copy ek peeche kucch na kuch khaas likha hai,
    Bas iss tarah tere mere Ishq ka Itihass likha hai.
    Tu Duniya me chaahe jahan bhi rahe,
    Apni Diary mein maine tujhe paas likha hai..♥️
    ©07jiya

  • goldenwrites_jakir 22w

    अंतरा ✍️

    बेतहाशा ये दिल तुझे याद करता है
    लेकर नाम तेरा तुझे आवाज़ देता है
    है कितनी मोहब्बत तुझसे ये फ़रियाद खुदा से करता है
    बेतहाशा ये दिल तुझे याद करता है
    बेतहाशा ये दिल तुझे याद करता है .....
    ✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️
    लम्हा लम्हा ढूंढे बहाने तेरे क़रीब आने के
    लम्हा लम्हा तरसे ये दिल तेरे लिए
    जैसे तु है दिल कि धड़कन तू ही ज़िन्दगी
    बेतहाशा ये दिल तुझे याद करता है
    लेकर नाम तेरा तुझे आवाज़ देता है
    बेतहाशा ये दिल मेरा ............ ........
    बांध कर मन्नत के धागे दुआ इबादत में
    खुदा से बात तेरी ये दिल करता है
    तुझसे ही मेरी ज़िन्दगी तुझसे ही हर ख़ुशी
    तुझसे अपने गम बाटना चाहता है
    बेतहाशा ये दिल तुझे प्यार करता है
    बेतहाशा ये दिल तुझे याद करता है
    बेतहाशा - बेतहाशा - बेतहाशा ये दिल तुम्हें प्यार करता है
    तुम्हें याद करता है तुम्हें आवाज़ देता है
    बेतहाशा ये दिल..........
    कैसे हां कैसे कहूं दिल कि बात - ये दिल कहने से डरता है
    बेतहाशा ये दिल तुमसे प्यार करता है.........
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 22w

    नफ़रत कि चिंगारी हर इक और भड़क रही
    और तुम इंसानियत कि बात करते हो
    बड़े नादान हो मियाँ जो तुम ऐसी बात करते हो ....
    .......... देखो अभी तमाशा तुम ख़ामोशी से
    कल खुदकी ही लाश ख़ुदसे बात करेगी
    कितना फर्क है मोहब्बत और नफ़रत में .....
    ये एहसास तुम अपने ज़मीर का जगा कर देखो

    #jp #zakir

    Read More

    नफ़रत ✍️

    हुकूमत मोहब्बत कि ..... अजीब बात है
    है हाथो में सभी के खंजर और तुम बात
    अमन कि रहे ......... अजीब बात है
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 22w

    #jp #zakir #awaz #roshni #andhera

    आंहे भर भर कर दिल चीखता ख़ामोशी से
    आग लगी है तन्हाई कि मोहब्बत कि गलियों में

    Read More

    अवाज़ ✍️

    अवाज़ तेरी सुनाई अब देती नही
    खनक तेरी चूड़ियों कि अब आती नही
    रख कर बंद पोटली में पायल कि झंकार
    तेरी आहट कि दस्तक भी अब होती नही
    ❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤
    ख़्वाब और नींद का मिलन अधूरा
    आते हो अब बस ख्यालों में
    यादों कि धुंधली तस्वीर लिए
    जैसे तलाश हो अब अंधेरे को उजाले का
    ❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 23w

    हाथ ✍️

    संग मेरे ज़ब तेरे हाथो में मेरा हाथ था
    वही तो मेरी ज़िन्दगी का सवेरा था
    हाथो में हाथ बस इक बहाना था
    रूह से रूह का मिलन वो था
    मोहब्बत कि शुरुआत का सवेरा था
    इश्क़ कहते किसे उस सागर का इक किनारा था
    ना रहे कोई दूरी हमारे दरमियाँ
    बाहों का वो मेला हमारा सावन था ,,,,
    आज याद बहुत आता है साथ वो तेरा
    जैसे अँधेरे जीवन का तू उजाला था
    आज हाथ है खाली पर तेरी वफ़ा कि ख़ुसबू
    आज भी बाकी है
    मिलती तू मेरी परछाई में - वो आईना है तू
    ये कलम है तुझसे तुझसे ही आज भी मुकम्मल इश्क़ है
    तुझे पा लेता हूँ कागज़ पर चंद शब्दों में
    ऐसे ही ज़िन्दगी कि सुबह और शाम में तू है .....
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 23w

    हाथ ✍️

    हाथो कि लकीरों में - धुंधला ही सही तेरा नाम तो है
    हक़ीक़त से दूर तेरी यादों तेरी दुआ में मेरा नाम तो है
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 23w

    बिखरा था ज़ब टूट कर ये दिल मेरा
    इक अवाज़ सुनाई दे रही थी .....

    #jp #zakir #mot #zindgi #dhoka #love #chahat

    Read More

    हालात यूँ थे ...... कि ab मरजाऊं
    लेकर सहारा मौत का " फना हो जाऊं
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 23w

    हाथो कि साख ✍️

    ज़ब भी दिल ने तुझे याद किया
    जुबां पर ख़ामोशी आँखों में नमी
    हाथो से कागज़ पर तुझे संग अपने सवारा है
    लिख कर नाम तेरा - तेरी वफ़ा को
    लफ़्ज़ों कि साँसो से रूह में उतारा है ,,,,,

    याद आते वो लम्हें ज़ब मेरे हाथो में हाथ तुम्हारा होता था
    लबों पर खुशियों के फ़ूल वो पल ज़िन्दगी के अनमोल होते थे

    आज ज़ब भी देखता इन तन्हा हाथो को तेरी यादों कि बरसात में खो जाता हूँ
    करके दोस्ती कलम कागज़ से - फिर रूबरू तुझसे होता हूँ
    मिलो कि दूरी तेरी हर एक बेरुखी को भुल जाता हूँ ,,,,

    मिटा तो ना सका तन्हाई कि लकीरों को
    पर तेरे सिबाह किसी और को नाम लिख भी ना पाया
    दिल कि हर एक गलियों में
    आज भी हजारों ख़त तुझे लिखे
    गुमनाम पते पर भटक रहे हैं
    मिले कहीं से तेरा पता वो दुआ कि अर्जी लगा रहे हैं
    मोहब्बत है कितनी वो एहसास के ज़ज़्बात मनमन्दिर में
    हर रोज ये सवाल पूछ रहे हैं
    देखता ज़ब भी ये खाली हाथ - आँखों में नमी
    हर और तुझे ढूंढ़ता हूँ .....
    ©goldenwrites_jakir

  • goldenwrites_jakir 23w

    काफिला यादों का...... उम्र दराज हो गया
    रहा इश्क़ जवाँ और क़त्ल दिल का हो गया
    ©goldenwrites_jakir

  • zakirm 26w

    #jp #zakir

    Ishq bhi yun tnha mar jaega socha na tha
    Lekar naam tera " mohabbat "
    dar dar ki khaega thokar ye jana na tha

    Read More

    Ishq

    Khushi puchti nhi ab Bajah
    gam ko bdlne ki ,,
    Taqdir ki lakiro se jb mitaya naam tera khuda ne .....
    ©zakirm