hansika_bansal

Started my journey to become a writer. I am on my way..❤

Grid View
List View
Reposts
  • hansika_bansal 50w

    वापस आओ ना

    कुछ खालीपन सा है मुझमेँ
    जैसे कुछ खो सा गया हो
    जैसे उदास हो मेरे दिल की हर धड़कन
    जैसे ढूँढ रही हो किसी को
    जो कही गायब है,
    जो चला गया है मुझसे दूर
    कुछ वक़्त के लिए ही सही
    पर कर गया है मुझे तन्हा।

    कहीं ना कहीं कुछ तो कमी है
    जिससे मैं अब मैं नहीं रही
    मैं अब पहले की तरह हँसती नहीं
    ना ही कुछ सोचकर शर्माती हूँ
    बस डूबी रहती हूँ कुछ बातों में
    जो तुम्हारे साथ हुआ करती थी ।
    और सोचकर मुस्कराती या
    कभी कभी रो जाती हूँ
    फिर संभाल लेती हूँ याद करके
    कि शायद बस कुछ दिन और।

    पर मुझे अब कुछ अच्छा नहीं लगता
    दुनिया की बातों में अब वो मज़ा नहीं
    लगता है कि जैसे खुशियों की कोई वजह नहीं
    मुझे मालूम है कि ये मेरा इम्तिहान है, कोई सज़ा नहीं।

    देखा, ये होता है जब तुम नहीं होते।
    तुम्हारे बिना तो जिंदगी अधूरी है
    और मैं भी कहाँ पूरी हूँ।
    कहा था ना बताकर जाना,
    जाने से पहले कुछ बातें करना
    मुझे गले से लगाना और
    प्यार से कहना कि " मेरा इंतज़ार करना"।
    पर तुम यूँ अचानक ऐसे खो गए
    देखते ही देखते ईद का चाँद हो गए।

    भले ऐसे भी कोई अकेला छोड़ता है क्या किसी को?
    ये कैसा तोहफ़ा था?
    साथ लेकर जाया करो ना मुझको।
    चलो अब जल्दी से वापस आओ और
    मेरी खोयी मुस्कान वापस लाओ।
    और अब कोई इज़ाज़त नहीं तुम्हे
    फिर से मुझसे दूर जाने की।
    इस बार सज़ा तुम्हे नहीं, खुद को दूँगी।
    बार बार यही कहूंगी,
    कि जल्दी से वापस आओ ना,
    और पूरा कर दो मुझे, फिर से।
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 52w

    कुछ कहना था

    सुनो, ज़रा ध्यान से पढ़ना
    कुछ कहना था तुमसे,
    जो एक बार तुमने कहा था,
    कि तुम्हे प्यार है मुझसे।
    तो बस एक बार मेरी भी सुन लेना
    नहीं कुछ पूछना नहीं,
    बस मुझे यूँ ही देखते रहना।
    खुद से तो रोज़ कहती हूँ,
    हर लम्हा, हर पहर मन में तुम्हारा नाम जपती हूँ
    पर कोई नहीं, एक बार बस तुम सुन लेना।
    नहीं कुछ मत कहना, बस आँखों से छू लेना
    और खुद को मेरे और मुझे अपने नाम लिख देना।

    तुम्हे तो अहसास ही नहीं, कि कितनी हिम्मत चाहिए
    इस दिल में प्यार छुपाने को ,
    जब जब तुम्हारा नाम सुनकर शर्माती हूँ
    तब तब बहाने बनाने को।
    अरे नहीं यार, ऐसा कुछ नहीं है,
    इस बात पर सबको यकीन दिलाने को।
    कितनी हिम्मत चाहिए इज़हार करते करते रुक जाने को।

    हाँ हाँ, पता है मुझे
    कि मेरा तुमसे कुछ तो राबता है ।
    तो चलो आज तुम सुन ही लो
    मेरा दिल भी तुम्हारे लिए ही तो धड़कता है।
    तुम्हारी सोच में ही तो सारा वक़्त गुज़रता है।
    हर पल तुम्हारा हो कर जीना चाहता है।
    हर सुबह खुदा से पहले इस ज़ुबाँ पर
    नाम तुम्हारा ही तो आता है।
    तुमसे बात करके ही तो दिन बन जाता है
    और हर सपना तुम्हारे साथ ही तो सजाता है।
    और खुद सवाल जवाब करके खुद ही खुश हो जाता है।
    ना जाने क्यों खुद से ज्यादा तुम्हे चाहता है!
    फिर भी मेरा ये दिल सच बताने से कतराता है।

    तुम्हें तो अहसास भी नहीं
    कि कब से हो चुके हैं हम तुम्हारे,
    कई दफ़ा जताया भी देकर कुछ कुछ इशारे।
    पर तुम निकले पागल कुछ इस क़दर
    लफ़्ज़ों का अर्थ ही नहीं समझ पाए हमारे।
    अब तुम ही बताओ,
    तुम जैसे शख़्स पर कोई कैसे दिल ना हारे?

    चलो कोई बात नहीं,
    आज कहना है वही
    जो एक बार तुमने कहा था,
    पर आज सिर्फ़ मेरी सुन लेना।
    कुछ कहना नहीं, बस आँखें पढ़ लेना
    और पलकों को हल्का सा झुकाकर- उठाकर जवाब दे देना।
    तो सुनो, कहना बस ये था
    कि मुझे प्यार है तुमसे।
    इज़हार तो कर दिया
    बस अब अपनी जिंदगी में थोड़ी जगह दे देना।
    और ताउम्र मुझसे मुहब्बत करते रहना।
    इन बाहों में बीत जाएगी सारी ज़िंदगानी मेरी,
    बस ऐसे कुछ पल उधार दे देना।
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 52w

    //क्या यही प्यार है? //

    कुछ असमंजस सा है दिल में
    एक अजीब सी बेचैनी है!
    ना जाने किसी के जाने का गम है
    या नये प्यार की दस्तक
    ना जाने कुछ खोने का डर है
    या किसी के आने की आहट।

    कुछ समझ ही आता कि किससे पूछूँ
    और क्या पूछूँ?
    कि क्या मैं फँस गई हूँ
    फिर से उस मंझधार में
    जहाँ या तो संवर जाऊंगी
    या एक बार फिर से
    टूट कर बिखर जाऊंगी।

    कौन है वो?
    जिसने मुझे यूँ इस तरह
    सोचने पर मजबूर कर दिया है
    उन बातों के बारे में
    जहाँ दिमाग का कोई काम ही नहीं।
    जहाँ आँखों ही आँखों में हो जाते हैं
    सवाल जवाब सारे।

    वो मेरे लिए है सबसे ऊपर
    और उससे भी ऊपर हमारा
    एक दूसरे पर एक प्यारा सा
    अटूट विश्वास।

    नहीं आज के जमाने वाला इश्क़ नहीं
    पर हाँ प्यार तो है,
    मुझे उससे और शायद उसे मुझसे
    पर नहीं, कोई कुछ नहीं बोलेगा।
    आखिर एक-तरफा प्यार की भी
    अपनी एक अलग ही बात है।

    पर क्या जो है वो प्यार है?
    क्या मेरा उसके बारे में सोचना प्यार है?
    या उसके साथ कुछ बुरा होने पर
    उसके लिए भगवान को कोसना प्यार है ?

    क्या उससे बात करते करते सो जाना प्यार है?
    या बिना बात किये नींद ना आना प्यार है?

    क्या उससे बात करने के लिए
    नींद को ठुकराना प्यार है?
    या बात करते करते
    दिन भर का हाल बताना प्यार है?

    क्या उठते ही सुबह सबसे पहले
    उसका ख्याल आना प्यार है?
    आंख बंद करके भी
    उसका दिखाई देना प्यार है ?

    क्या हँसते हँसते रोना और
    रोते रोते हँसना प्यार है?
    या जागे हुए भी उसी के
    सपने देखना प्यार है?

    क्या उसकी ख़ुशी में
    खुश हो जाना प्यार है?
    या उसके दुःख में
    खुद आँसु बहाना प्यार है?

    क्या उसकी हर तस्वीर को
    लाखों बार निहारना प्यार है?
    या मिलने की आस में
    महीनों बिता देना प्यार है?

    क्यों नहीं जान पाती हूँ मैं
    इन आसान सवालों के जवाब?
    या जवाब पता होते हुए भी
    कर देती हूँ उसे मानने से इंकार?
    कुछ समझ ही नहीं आता किससे पूछूँ?
    कौन मुझे बताएगा कि क्या यही है प्यार ?
    कुछ असमंजस सा है दिल में
    एक अजीब सी बेचैनी है!
    क्या मेरे इन मसलों का है कोई समाधान?
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 52w

    //कभी पूछना मुझसे दिल का हाल//

    कभी पूछो मुझसे मेरा हाल,
    इस रात की चांदनी में,
    सुना है इस वक़्त जज़्बात छुपते नहीं,
    छुपाने से।

    क्यों छोड़ देते हो मुझे तन्हा,
    इस रात के अंधेरे में,
    जब पता है कि
    डर रात का नहीं
    तुम्हारे साथ ना होने का है।

    क्या कभी सोचा है कि
    तुम क्या हो मेरे लिए?
    पर गलती तुम्हारी भी नहीं,
    दिन में बयाँ नहीं होता,
    और रात में तुम्हारा साथ नहीं होता।

    कभी सोचा है कि
    मेरे हर लफ्ज़ का सार हो तुम
    और मेरी कविता हैं महज
    एक दुनिया जो मैंने तुम्हारे साथ सोची है!?

    तुम इस कविता की आत्मा हो,
    मेरी हर खुशी का किस्सा हो।
    मेरी जिंदगी का पूरा हिस्सा हो,
    मेरे जीवन का सार हो,
    मेरा हँसता खेलता संसार हो,
    तुम से ही तो मैं हूँ,
    तुम मेरा अंश हो।

    माना कि कमज़ोर हूँ थोड़ा,
    अपने जज़्बात जताने में।
    पर कभी तो पूछ लिया करो
    किसी ना किसी बहाने से।

    नहीं जानना तुम्हें तो ठीक है
    मैं भी बताने में शर्माती हूँ,
    पर कहीं ना कहीं मैं भी
    बताना चाहती हूँ।

    कोई भी तर्क, कोई भी सवाल
    सारे जवाब हैं मेरे पास।
    बस देर तुम्हारी है,
    कबसे लगाए बैठी हूँ आस।
    कि आकर थोड़ा हक़ जताओगे
    और कहोगे कि खोल दो इस दिल के राज़।

    तुम आते ही नहीं,
    इस दिल का हाल जानने को
    पर कभी तो पूछ लिया करो,
    इस दिल को बहलाने को।
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 55w

    // Someday, someone will fall in love! //

    Someday, someone will fall in love
    not with me but with my poems
    So, whoever you are!
    I am waiting for you.

    Someday, someone will fall in love
    not with me
    but with the idea of having me in his life .
    So, whoever you are!
    Get ready to tolerate me!

    Someday, someone will fall in love
    not with me
    but with my bad habits
    So, whoever you are!
    Just warning you that I can't improve myself anymore!

    Someday, someone will fall in love
    not with me
    but with the child inside me
    So, whoever you are!
    Just reminding you that
    only illogical talks are allowed here!

    Someday, someone will fall in love
    not with me
    but with the way I will come to him,
    and love him
    So, whoever you are!
    Don't be so happy, cause I am difficult to handle.

    Someday, someone will fall in love
    not with me
    but with the way I will disturb him for his entire life
    So, whoever you are!
    Just telling you that I won't be so nice!

    Someday, someone will fall in love
    not with me
    but with this poem written by me
    So, whoever you are!
    I will be waiting for you!
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 60w

    My state, My pride

    Indian states are truly rich in culture,
    Adored with much joy and valour,
    People are fond of dance and music.
    Enjoy various tastes and multiple cuisines.

    Uttar pradesh lies in the core of India,
    Its region's folk heritage is Rasiya,
    Here, wide is spoken as well as Hindi,
    And that makes it purely Indian by Heart.

    From Agra's Taj to Moradabad's brass
    From Firozabad's bangles to Rampur's Havelis
    From Allahbad's High Court to Bareilly's jhumka
    Uttar Pradesh is the diamond of India.

    From Kanpur's weather to Banaras's ghat
    From Aligarh's university to Lucknow, the Cctv capital city
    From Lord Krishna's janambhumi to Akbar's fatehpur sikri
    Uttar Pradesh lies in each of our hearts.

    From Ram's Ayodhya to Buddha's Kushinagar
    From Sarnath temples to Gorakhpur's temple
    Thus this state's beauty is undefinable
    And has people hard working and able.

    India is known for its unity in diversity,
    Its states may or may not posess similarities,
    But yes, they are like various organs of a body,
    which make it rich in heritage, culture, variety and melody....
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 62w

    When wrong, you will be blamed.
    When right, you will be criticised .
    But,
    just stand strong and
    stand by you, for you.
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 62w

    One thing I love the most about loving myself is that I never forget to love myself whatever the situation is .
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 66w

    The day I started to choose life over people, was the day I turned from a person to a poetess.
    ©hansika_bansal

  • hansika_bansal 66w

    Gyan

    No one can handle you the way you handle yourself. So, be yourself.
    You matter.
    ©hansika_bansal