heartlyimaginations

youtu.be/Xg_UvjdVMrY

Poet at 10+ Hindi Newspapers, Author of Two Hindi Poetry Books, Available On Amazon, Flipkart. Insta: @Heartly_Imaginations

Grid View
List View
  • heartlyimaginations 22w

    प्रेम...!!

    प्रेम महज़ दो सोच, दो शहर, दो मनुष्य, उम्र
    के दो पड़ाव या वक्त की दो विपरित
    धाराओं में नहीं होता है...!

    प्रेम तो होता है एक अंतस के दो टुकड़ों
    के समान जो वक्त की नदी में बहते बहते
    बिछड़ गए हों, जो उम्र की लहरों से लड़
    कर शरीरों की दो पतवारों में सवार हो
    शहर दर शहर भटके हों,
    जिन्होंने प्रेम की हर परिभाषा
    को जी कर महसूस किया हो.

    प्रेम वो है दो में "एकत्व" रहे,
    जहां निस्वार्थ रूप से महज एक दूसरे
    की खुशी पर न्यौछावर हो जाने को
    भी तैयार रहते हों हर पल,
    ऐसा प्रेम श्रेष्ठतम है.

    ©heartlyimaginations

  • heartlyimaginations 22w

    ख़ुदा जाने

    मोहब्बत उरूज है, कि ज़वाल है, ख़ुदा जाने!
    जवाब है, सवाल है, कि ख्याल है, ख़ुदा जाने!!

    किसी ने कह दिया, वाह क्या लिखते हो अनुभव!
    ये बात मेरे वास्ते खुशी है, कि मलाल है, ख़ुदा जाने!!

    नज़र नज़र की बात है ये तो, कभी मिली, कभी ना सही!
    ये लहजा इश्क़ है, हिज्र है, कि विसाल है, ख़ुदा जाने!!

    किताब -ए- इश्क़ में कहीं भी, लिखा नहीं मिला मुझे!
    उसे जी भर देखना हराम है, कि हलाल है, ख़ुदा जाने!!

    ©heartlyimaginations