hidden_quotes_by_ankita

youtu.be/cgggXFV6Koc

passionate about poems and quotes follow me on intagram:hidden_quotes_by_ankita

Grid View
List View
Reposts
  • hidden_quotes_by_ankita 119w

    ज़िंदगी की इस जंग में चाहे सब आपका साथ छोड़ दें
    पर तुम कभी खुद का साथ मत छोड़ना
    खुद पर विश्वास रखो क्योंकि अगर तुम्हे
    खुद पर विश्वास है तो तुम्हे किसी और के साथ की जरूरत नहीं क्योंकि आपका खुद पर विश्वास ही आपका सबसे बड़ा साथी
    शुभ रात्रि

  • hidden_quotes_by_ankita 120w

    https://youtu.be/1SkkZmcQR-c

    Read More

    आजकल की ज़िन्दगी भी ना गर्मियों के छुट्टियां बन गईं हैं
    ये चहल पहल वाला जीवन मानो शांति का दरिया बन गई है
    जहां पहले में आऊ मैं जाऊ का जाप था
    आज वहीं लॉकडाउन लोकडाउन का हाहाकार है
    पहले वर्कआउट ज्यादा जरूरी था
    पर अब तो लाकडाउन ज्यदा जरूरी है
    साथी आगे हाथ बढ़ाईए का गाना था
    अब तो साथी हाथ जोडना ही लाभदायक है
    इस रंगबिरंगे चकमहट वाली दौड़ भाग के जीवन में
    जहां बिचड़े थे हम अपनो से ही रहकर पास भी
    ग्रहस्ती से दूर चले थे अपनी हस्ती बनाने को
    जहां समय ना था अपने पास
    अपने लोगो को कुछ वक्त देने का
    चाहते बोहोत थे साथ समय बिताना कुछ अपनों के साथ
    पर आज है मोका आया क्योकि आज कोरॉना भी है। हमारे साथ
    कोराना नाम का ये दुश्मन आया हमारे देश है माना-२
    पर हम हिंदुस्तानी है अदर सत्कार तो संस्कार है हमारा
    ना हम इससे घबराएंगे डटकर हम इससे लड़ें
    बाहर नही हम घर में रहकर इसे हर गिराएंगे
    कोरॉना को भी हम हथियार बनाएंगे
    अपने परिवार। के साथ कुछ यादगार पल साथ बिताएंगे
    और घर में रहकर ही। हम कॉरॉना को हर गिराएंगे
    ©hidden_quotes_by_ankita

  • hidden_quotes_by_ankita 122w

    धन की प्यास जल की प्यास से कहीं ज्यादा दुखदाई होती है
    जल की प्यास तो जल मिलने पर शांत हो जाती है
    परंतु धन की प्यास धन मिलने पर और भी बढ़ती है
    ©hidden_quotes_by_ankita

  • hidden_quotes_by_ankita 123w

    मां के प्यार का ना है कोई जवाब
    ना है उसकी कीमत कोई और ना हिसाब
    मां की ही वह गोद है जहां मानवता पले
    अगर जन्नत है कहीं तो उसके आंचल के तले।
    ©hidden_quotes_by_ankita

  • hidden_quotes_by_ankita 129w

    पृथ्वी जननी है वो जागजननी है
    अपने प्रिय जनों के दुखों की दुखहरनी है
    जिसकी सबसे बड़ी जिम्मेदरी सबकी सेवा करनी है
    अपना दुख भुला कर सबकी झोली को खुशियों से भरनी है
    वो एक पत्नी है मां है एक बहन है
    और सबसे पहले वो एक स्त्री है
    हां वो एक गृहणी है और बंधी हाथ में उसके वो जंजीर है
    अपनी दबी अभिलाषाओं से वो अब बेहद पीड़ित है
    वो पीड़ा इतनी गहरी है कि,
    उसकी आंखों से झरने समान बह रही है
    पर उसकी भी बेबस ये लाचारी है
    हा वो एक नारी है
    तो क्या सिर्फ इसीलिए वो सबसे हारी है
    पर बस करो अब और नही ,
    क्योंकी अब उसकी भी बारी है
    जो है सर्वश्रेष्ठ है लायक सम्मान के
    करते तुम उसका ही अपमान हो
    जो नारी का असम्मान करे
    अपने अधिकारों का दुरुपयोग करे
    तुम करते उन लड़कों पर अभिमान हो
    हा वो एक स्त्री है और तुम एक पुरूष हो
    कहते स्त्री को ग्रहलक्षमी है और घर के खुशहाली है
    और घर के इज्जत है
    तो क्यों पुरूष जाति है इनके हवस में
    कहते पुरुषों को घर का चिराग हैं
    तो क्यों नही वो चिराग बन घर को रोशन करते हैं
    क्यों किसी की मां बहनों को अपनी अपना माल समझ
    उसकी इज्जत को नीलाम करते है
    ये पुरूष नही हैवान है इन्सानी शैतान है
    जो स्त्री को ना दे सके सम्मान , के
    वो लायक नहीं है इस ब्राम्हण में
    स्त्री दुखहरनी है वो जगजननी है
    ©hidden_quotes_by_ankita

  • hidden_quotes_by_ankita 135w

    .

  • hidden_quotes_by_ankita 136w

    .
    ©hidden_quotes_by_ankita

  • hidden_quotes_by_ankita 137w

    .

  • hidden_quotes_by_ankita 139w

    Mar do Mujhe lakh bar tum
    Agar mar sako to
    Mout se lad har bar me vapes se lout aunge
    Us ma k liye Jo mere jeene ke ekloute vajah h
    Tod sako to Tod do mere
    Andr ke himmat ko
    Kar do chakhnachr mere har ek mukaddar ko
    Toot kr himmat har kr bhe
    Me khud ko tinka tinka samet bade shiddat se
    Khud me ek naye himmat jagaunge
    Har kar bhe ne Na harunge
    Kat jaunge pit jaunge
    Pr ek ashu tinka bhr Na tapkaunge
    Us ma ke khatir Jo mere ek ashu ke boond se
    Mere mathe ke ek shikan se he
    Uske chahre ke muskuraht chhin jaate h
    Muskuraht sath hoge
    har ek us mushkil ghade Me bhe
    Jab mere Jana soole pr bhe atke hoge
    Kyuke mere ek muskuraht se
    Uske sare jholi khushiyo se bin mange he bhar jate h
    Kr le chahe kitna bhe mujhse koi pyr
    Aa jaye chahe kitne bhe prame har bar
    Pr mere Puri life to sirf ekloute hoge
    Mere Mumma p kurbaan
    Mere dil me bepnah pyar hoga
    Beshumar ek khubsurat se jagah hoge
    Sirf aur sirf us ma k liye
    Jo duniya se mere liye lad jate har bar h
    Mera pyar bhe mere ma h mera ishque mere mohobbat mere ma h
    Mera gurur mere ma h mere himmat mere ma
    Nahe jarurat h Mujhe kise super power ke
    Mere ma he mere himmat h mere ma he mere jannat h
    Mere har ek saans pe likha mere ma.a ka he naam h
    ©hidden_quotes_by_ankita

  • hidden_quotes_by_ankita 143w

    Socha h kabhe .........
    Zindge ke is ghutan k bare me
    Hote h Na??..
    Ha pta h bohot hote hoge
    Pr tum kuchh bologe kaha
    Socha Hoga bohot socha Hoga
    Pr bechare Kya karoge ab tumbhe
    Chal rahe h sab is zindge ke doud me
    Me bhe chalre hu
    Vo Kya h Na ab to is zindge name ke
    Jo picture h Na uske script ab likhe Ja chuke h
    Pta h vo Kya h vo script
    Ye vo h Jo logo k liye likhe hue patthar lakeer h
    Jise unhe har Roz apne pure shiddat k sath Karna h
    Agar ek bhe kaam Idhar se idhar
    galte se bhe kise ne kar diya Na
    Use sab, yu dekhunge
    Aur turant use baddtameez proof Kar denge
    Society se alag Kar denge
    Kyu bhai tum logo Kya khujli machere ha
    Apne life spne marze tujhe Kya
    Jarure h Kya ke Jo sab karre h vHe hm bhe kare
    Galte se bhe kuchh alag soch bna lo Na yaha bawal Mach jata h
    Society ke rules
    . hidden_quotes_by_ankita