Grid View
List View
Reposts
  • isha_thakur 183w

    My first three friends.. @jaun_sumit @prakhar_sony @prernaanmol love you ����❤

    Read More

    Leaving Mirakee

    कोई किसी से जुदा नहीं होना चाहता है
    लेकिन हालात जुदा कर देते हैं
    जैसे एक प्रेमी को प्रेमिका से, देह को आत्मा से
    जिंदगी गुमराहों की मंजिल है
    अगर एक सड़क पर चलते रहोगे
    तो मंजिल कभी नही मिलेगी
    हमें हमेशा रास्ते बदलते रहने होंगे
    आज तकरीबन 1 साल होने को है
    जब मैंने मिराकी पर अपना
    पहला अनुभव साझा किया था
    लगातार चलते सफर में
    मुसीबतों बा मुश्किलों का सामना किया
    और इन्हीं मुश्किलों ने मुझे शायरा बना दिया
    आप सब का प्यार उम्र भर याद रहेगा
    आप सबकी कमी हमेशा महसूस होगी
    आप सब के साथ बहुत सीखा
    कभी मीठा, कभी कड़वा, कभी तीखा।
    कोई गलती हुई हो तो माफ करना
    याद की यादगारों में याद रखना
    कौन देता है साथ उम्र भर दोस्तो
    ज़िंदगी भी दिन रहते दम तोड़ देती है।

    Love you all ❤ Good bye (Forever)

    Do not comment please.

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 183w

    Happy Sunday dear mirakians �� have a great day ����❤

    ताब - ताप, गर्मी

    Read More

    ज़बान किस ने खोली जवाब किसने दिया
    कौन कितना रोया हिसाब किसने दिया

    झुलस गये फूल सब जल गई ज़मीं ख़ुदाया
    सूरज नहीं था आसमाँ में ये ताब किसने दिया

    नहीं कोई गवाह बचा नहीं कोई सुबूत बाकी
    दलील किसने दी ख़ुद बयान किसने दिया

    देने को सब ने धोका दिया मोहब्बत में 'ईशा'
    जानने वाली बात है लाजवाब किसने दिया

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 183w

    कू-ए-यार - यार की गली
    तबीब - डॉक्टर
    तीरगी - अँधेरा

    Read More

    कू-ए-यार दिलबरी ले चल
    हमें महबूब के घर ही ले चल

    अब कौन ज़ख़्म खाएगा यहाँ ?
    तबीब अपने मरहम भी ले चल

    ग़मों का तूफ़ान आने वाला है
    जोरों से बेनियाज़ कश्ती ले चल

    इक दो से काम नहीं चलने वाला
    मौसम-ए-बहार सभी ले चल

    शहर-ए-ख़ुदा में तीरगी होगी 'ईशा'
    आँखों में भर के रौशनी ले चल

  • isha_thakur 184w

    One line

    इश्क़ शायरा बना देता है

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 184w

    ��

    Read More

    दुनिया ख़ामोश है दोस्तो
    शोर तो हम लोग करते हैं

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 184w

    हक़ीक़त किस को रास आती है
    सब ख़्वाबों को जीना चाहते हैं

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 184w

    Good night. Take care mirakians. ��❤

    Read More

    तुम मेरे हो तो हो कर रहो न
    ख़ामोश क्यूँ हो कुछ तो कहो न

    सब की दुआएं मक़बूल होती हैं
    अल्लाह की दरगाह पर चलो न

    आपसे कह रही हूँ अरे आप ही से
    टोपी वाले भाईसाहब ज़रा सुनो न

    जिस्म में फैली बदन की ख़ुशबू है
    ऐ बिस्तर तकियो तुम भी महको न

    कुछ पल की ज़िंदगानी है ये सनम
    क्यूँ सुनते हो इसकी दिल की सुनो न

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 184w

    आँखों में हर दम उड़ती बदली रहती है
    आँचल शराबोर चुनरी गीली रहती है

    आप को कहीं हम से मोहब्बत तो नहीं ?
    हमारे सामने आपकी आवाज़ थमी रहती है

    आपके आने से ज़ख़्म मुरझा जाते हैं
    आप दूर हैं तो साजन इनमें नमी रहती है

    ज़िंदगी से ख़ुश कौन है यहाँ जो तुम ख़ुश नहीं
    ख़ुद अपने आप से परेशान ज़िंदगी रहती है

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 184w

    बचपन

    खुली हवा में उड़ता बचपन मेरा
    मुश्किलों से डरता जीवन मेरा
    किसी के पास देखता खिलौने
    घर सजाने को करता मन मेरा

    ©isha_thakur

  • isha_thakur 184w

    हद से ज्यादा आज़माना अच्छा नहीं होता
    हर किसी से दिल लगाना अच्छा नहीं होता

    कभी वक़्त पर आ जाया करो दिलबर सनम
    हर रोज़ नया बहाना बनाना अच्छा नहीं होता

    ख़ुदा ने झरने नदी पहाड़ तालाब नहर बनाए हैं
    आँसुओं से प्यास बुझाना अच्छा नहीं होता

    माना मुल्क़ में कमियाँ हैं परेशानियाँ हैं मगर
    देश के ख़िलाफ़ नारे लगाना अच्छा नहीं होता

    प्यार है साजन तो क़बूल करो सब के सामने
    भीड़-महफ़िल में नज़रें चुराना अच्छा नहीं होता

    ©isha_thakur