Grid View
List View
  • ishita2508 168w

    रंग

    रंग रंग की तस्वीर लेकिन दो ही रंग के इंसान,
    फिर भी न जाने क्यों ?
    सफेद को बेहतर औऱ काले को धुतकारते...
    गुरुर कितना है अपने रंगों पे
    समय के अनुसार सब है ढलते
    फिर भी न जाने क्यों ?
    सफेद को बेहतर और काले को धुतकारते।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 168w

    एहसास

    भीगी बरसात में चढ़ते उमंग हो तुम,
    कोई ज़रिया कोई सुरंग हो तुम ।
    एहसास करू तो सुबह की मीठी धूप हो तुम,
    ना करू तो तीखी धूप हो तुम।।
    हँसो तो वो सात रंग वाले इंद्र धनुष हो तुम,
    रूठो जाओ तो सफ़ेद आकाश हो तुम।।।
    सोचु तो बड़ी ख्वाईश हो तुम,
    भूल जाऊ तो आज़माईश हो तुम।।।।
    कहुँ तो समुंद्र हो तुम ,
    चुप हो जाऊ तो बूंद हो तुम।।।।।
    शब्दों का भंडार हो तुम,
    लिखने जाऊ तो आकार हो तुम।।।।।।
    भीगी बरसात के ख़्वाब हो तुम,
    जिसे पा न सके वो एहसास हो तुम।।।।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 168w

    पन्नों में उतार लो उसे जिससे कह नहीं सकते ।
    पन्नों में उतार लो उसे जिससे कह नहीं सकते ।।
    इश्क़ ऐसे ही निभा लो उससे जिससे बाता नहीं सकते।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 170w

    दिल को खुशी है, क्योंकि तुम बेहद खुश हो ।।।।

    ©ishita2508

  • ishita2508 182w

    इस promise day मुझे तुम्हारी याद बोहोत आई ।।
    जो फरियाद तुमसे की थी तुमने वो नही निभाई ।।
    पर अब कोई फरियाद नही न ही कोई कसम है हमारी ।
    तुम खुश रहो अपनी जिंदगी में ये दुआ है हमारी।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 183w

    तुम कहते हो कि तुम मुझे छोड़ कर कभी नही जाओगे ।
    अगर मैं तुम्हारे इन गलतियों पर तुम्हें छोड़ दु तो
    तुम क्या कुछ कर पाओगे।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 183w

    Teddy day का क्या कहना ।।
    तुम उस bear जैसे हो गय हो जिससे मैं अब देख कर खुश तो हो सकती हूं लेकिन पकड़ कर रो नही सकती।।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 183w

    आज chocolate day पर उसे मैं chocolate दे भी देती तो भी क्या ?
    पहले जैसे मीठास तो नही होगी ।।।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 183w

    कोई क्यों नही समझता ।
    यू बेवजह कोई बेवफ़ा नही होता।।।
    कुछ तो मजबूरिया जरूर रही होगी ।
    वरना यू बेवजह कोई बेवफ़ा नही होता।।।
    कुछ समय की गलती , तो कुछ समाज की डर,
    तो कुछ घर परिवार की जिम्मेदारी ।।।
    अगर तुमने थोड़ा सा भी मुझे प्यार किया होता ,
    थोड़ा सा भी विश्वास किया होता ,
    और थोड़ा सा भी समझा होता,
    तो यू न कहते कि तुम बेवफा हो ।।।
    तुम जरूर समझ जाते हम क्यों बेवफा हो गये।
    वरना यू बेवजह कोई बेवफा नहीं होता।।।
    ©ishita2508

  • ishita2508 183w

    मुझे ऐसा लगता है कि
    हर इंसान को एक बार pyar जरूर करना चाहिये ।।।
    ताकि उन्हें भी मालूम हो कि Pyar क्यों नही करना चाहिये।
    ©ishita2508