jee_tu

www.instagram.com/lost_crumbled_pages

Management Consultant | Wannabe writer| Observer | Fan of satire and ironies of the world

Grid View
List View
Reposts
  • jee_tu 1w

    जैसे एक भटकी नदी को सागर मिल जाए
    जैसे तपते रेगिस्तान में घोर वर्षा हो जाए
    जैसे सालों से गरजते बादल की प्यास बुझ जाए
    आग में लिपटे जंगल में बरसात हो जाए

    जैसे सूखे पहाड़ पर ठंड में ओस
    पत्थर पर पानी पड़े और फूल खिल जाए
    जनम जनम के मुसाफिर को मिल जाए ठिकाना
    थक कर होंसला हारने का मन और मंज़िल दिख जाए
    बेवजह चलते राही को पहुंचने की वजह मिल जाए

    जैसे एक अधूरी कहानी से जूड़े खूबसूरत अफसाना
    जैसे मझदार में फंसी नौका को किनारा मिल जाए
    बिन सिरे की न खतम होती सूरंग
    और उस सुरंग के आगे एक रौशन दिया दिख जाए

    वैसे मुझे कभी तूं मिल जाए
    तूं मिल जाए


    ©jee_tu

  • jee_tu 1w

    If they are addicted to you, don't fall in the trap

    Of thinking they love you

    They might be addicted to cigarettes too

    And they hate it!

    ©jee_tu

  • jee_tu 1w

    One sided love is fake and incomplete

    How can you love someone without witnessing the best and worst of them

    How can one show you their best and worst part if they don't love you too!

    Infatuation is a feeling

    Love is a journey

    ©jee_tu

  • jee_tu 2w

    तू संसार

    बात हो तेरी मैं ज़िक्र हो जाऊँ
    तुझे छू लूं तो महकता इत्र हो जाऊँ
    तेरी एक नज़र मुझपर, मैं एक नायाब चित्र हो जाऊँ

    पास आऊँ तेरे, जल कर धुआं हो जाऊँ
    सूर्ख गाल तेरे मेरे होठों पर, मैं जन्नत-ए-खास हो जाऊँ
    पलक उठे तेरी, मैं तेरी नज़र हो जाऊँ
    गर झुके तो, इनमें कैद हो जाऊँ

    तेरी एक धड़कन,मैं हर सांस जी जाऊँ
    तेरे रेशम बालों की डोर, मैं पतंग हो जाऊँ
    तेरे मन में मेरी तरंग, मैं मन-मलंग हो जाऊँ

    तेरे ख़यालों में शामिल तो, अमर दास्तान हो जाऊँ
    अफ़साना मेरा तुझसे जूड़े, एक खूबसूरत गज़ल हो जाऊँ

    होंठ तेरे मेरे होंठों पर, मैं एक अजीज़ अल्फाज कहलाऊँ
    तेरा जिस्म मेरे जिस्म पर, मैं पल में संसार बन जाऊँ
    दफना लूं तुझे बाहों में, समंदर हजार बन जाऊँ

    तेरे सुडौल बदन का स्पर्श, मैं तेरा ठिकाना हो जाऊँ
    तेरी बाहों का हार गले में, मैं संसार जीत जाऊँ
    तेरा एक कदम मेरी ओर, मैं आशियाँ हो जाऊँ
    तेरा एक करवट मेरी तरफ, मैं हसीन मंज़िल बन जाऊँ
    अपने अस्तित्व पर बड़ा गुरूर था मुझे अब तक
    तेरा अंश पा लूं तो सूकून बन जाऊँ

    ©jee_tu

  • jee_tu 3w

    तुम ज़िंदगी

    मेरी शाम, तुम्हारा खयाल

    मन में बवाल, तुमसे मिलने का सवाल

    मेरी मुस्कान, आँख में तुम्हारी तस्वीर

    दुनिया जीतने की हसरत, तुमसे हारने की हरकत

    मेरी उजाली रात, तुम्हारी रौशनी हर ओर

    तड़प मेरे मन की, खुबसूरती तुम्हारे जिस्म की

    घूमने निकलने का मन, हाथों में तुम्हारा हाथ

    ज़िंदगी छोटी सी, तुम्हारा साथ

    मेरे जज़्बात, तुम्हारी बात

    मेरा सूकून, तुम्हारा हुकूम

    मेरी हामी, तुम्हारी गुजारिश

    मेरी ना, तुम्हारा दूर जाने को कहना

    मेरी हँसी, तुम्हारा पास आने को कहना

    ये सारी बातें एक ही तो है

    ©jee_tu

  • jee_tu 3w

    Don't chase others

    Chase the best version of you

    And people will come running !

    ©jee_tu

  • jee_tu 3w

    Maybe I am, maybe I am not

    But you for sure are, and you are a lot!

    ©jee_tu

  • jee_tu 3w

    Self-reflection

    Challenges - But not the one thrown your way by others

    Happiness - But not by pleasing someone

    Peace - But not by achieving something. On the contrary, peace in the process of reaching somewhere

    Love- But without conditions

    Acceptance - But without grudge, repent, complain. "Accept" is a complete verb in itself

    Ponder and reflect - But not about mistakes committed. Ponder and reflect about what needs to be done now to course-correct

    ©jee_tu

  • jee_tu 3w

    There was a time when I knew am in a bad mood when I am bothered and depressed about somethings

    Now I know i am in bad mood if I don't run, write and take deep breath once in a while

    ©jee_tu

  • jee_tu 4w

    बात लिखूँ तेरी तो गज़ल हो जाए
    खयाल तेरा तो दिल मचल जाए
    तस्वीर सामने तेरी तो दिल संभल जाए
    और गर तूं दूर तो जो होना है हो जाए

    क्योंकि दूर रह कर अधूरा अधूरा रहा न जाए

    ©jee_tu