mishrapooja

Teacher by profession and writer by passion..

Grid View
List View
  • mishrapooja 118w

    घर

    घर भी ज़िन्दा हो जाते हैं लोगों के भरे होने से
    दीवार, छत और खंबे भी खिलखिलाने लगते हैं
    झांकता है घर का भी बचपन दरारों से मानो
    मिलजुल. के जब सारे गुनगुनाने लगते हैं
    ©_mishrapooja_

  • mishrapooja 118w

    Reflections of a Woman

    She was written with love and care,
    Not like a God but something like a 'Prayer'


    ©miss_imperfect

  • mishrapooja 168w

    इत्र

    अपने इत्र की खुशबू ज़रा डिब्बी मे भेज देना मुझे
    तुम नहीं, तो तुम्हारे होने का एहसास ही ज़िंदा रखेगा मुझे
    ©miss_imperfect

  • mishrapooja 195w

    बड़े क़रीब से देखा है मैंने
    रिश्तों मे पनपती नफ़रत को
    लफ़्ज़ों मे प्यार घोल कर लोग
    खंजर से वार करते हैं...
    ©miss_imperfect

  • mishrapooja 196w

    मैं

    मैं धूप हूँ मैं छाया हूँ
    खुद का अस्तित्व हूँ मैं
    नहीं कभी घबराया हूँ
    मैं उठ कर गिरूँगा,
    मै गिर गिर ऊठूंगा
    स्वयं का बल हूँ मैं
    अपने हिस्से की जंग लड़ने आया हूँ

    ©mishrapooja

  • mishrapooja 196w

    सितारा

    ढूंढते फिर रहे हैं हम वो एक सितारा तेरे नाम का
    जेब में रहकर जिसे किस्मत चमक जाती है

    ©mishrapooja

  • mishrapooja 196w

    ज़िन्दगी

    ना जाने कौन सी दौड़ मे सब भागे जा रहे हैं
    कुछ पल फ़ुर्सत के भी निकाल बन्दगी के लिये
    एक दिन थम जानी है साँसों की जंग
    कुछ सुकून दे दो इसे अपनी ज़िन्दगी के लिए

    ©mishrapooja

  • mishrapooja 196w

    बेवजह

    बेवजह ही परेशानियां ओढ़ रखी हैं
    ये समझदारी भी हरदम अच्छी नहीं होती
    ©miss_imperfect

  • mishrapooja 196w

    Tum

    ये जो थोड़ा सा तुम मुझे से रूठ जाते हो
    मेरी मुहब्बत को और बढ़ाते हो
    कितना भी मुकर जाओ हमे प्यार करने से
    झुकी पलको से ही एतबार दिखाते हो
    ©miss_imperfect

  • mishrapooja 196w

    #yqdidi #YourQuoteAndMine #yqbaba #परिंदों वाली ज़िन्दगी #mirakee

    Read More

    परिंदों वाली ज़िन्दगी हो गयी अपनी जबसे बड़े हुए
    पंखों पर अशियाना लिए आबो - दाना ढूंढते हैं...
    ©miss_imperfect