• iragupta 11w

    तुम्हारे साथ वक्त बहुत बेहतरीन बिता
    तुम सिर्फ मेरे होते तो मैं थोड़ा और जी लेता
    सच तुम्हें भी पता है कि झूठ कितना बोलते हो
    मैंने मानी गलती और गुना सरेआम है अब मेरा
    अपना बहुत ख्याल रखना
    यह आखिरी पैगाम है मेरा