• hindinama 38w

    @_anshuman_ji जी की रचनाएं पढ़ें,

    हिन्दी लेखनी को बढावा दें,

    यह  मृत्यु  मात्र  विश्राम  सखे..)) ::
    बहुत अच्छी रचना की है अंशुमन जी ने,


    हमे अपनी पोस्ट में टैग करें #Hindinama

    Read More

    इस  धरती  पर  यूं  आकर के,
    इस मनुज योनि को पाकर के,
    अपना   कर्तव्य  निभाकर  के,
    बस चलना  है  अविराम  सखे!
    यह  मृत्यु  मात्र  विश्राम  सखे..


    इस  मोह  पाश के  बंधन  से,
    इस  जनम मरण आबंधन से,
    अविराम  हृदय की धड़कन  से,
    करना   है  चिर  आराम  सखे!
    यह  मृत्यु  मात्र  विश्राम  सखे..


    यह  नयन  दीप बुझ जाएगा,
    जब   काल  बुलावा  लाएगा,
    उसको निज  गले लगाकर तब,
    जाना  होगा  पर - धाम  सखे!
    यह  मृत्यु  मात्र  विश्राम  सखे..


    यह  मृत्यु  मात्र  विश्राम  सखे..
    ~अंशुमन