• shayar_tera 36w

    उसे ना जाने क्यों अलविदा कह दिया,
    वेवजह सपनों से भी जुदा कर दिया।

    सच्चाई कहता भी तो कैसे उसको,
    दूरियों ने जो बेबस कर दिया।

    हालातों के कारण घुटने टेके हैं,
    वक़्त ने जो बेदर्द कर दिया।

    आँखों में झांकना मुश्किल हैं,
    अब तो कुछ कहना भी मुहाल कर दिया।


    ©shayar_tera