• hindinama 37w

    #Hindinama

    कुछ भी तो बेवजह नहीं होता ना?
    हम अनजान बने रहे, वो बात अलग है!

    Read More

    कुछ बेरुखी'यां तो मौसम की है,
    कुछ हमारे भी पाप शामिल है,
    प्रकृति ने भी हमे बद्दुआऐं दी है,
    पेड़ों पौधों के भी श्राप शामिल है।
    ©hindinama