• wordsporn 200w

    रातों के अंधेरों में चैन नहीं,
    दिनों के उजालों में चैन नहीं,
    फिर भी चैन से जीना भी यहीं है,
    और चैन से मरना भी यहीं है।

    ©wordsporn