• rishav_sharma 16w

    हालातों को देख कर जज्बातों को रोक रहा हूं,
    बुलाना है पास उसको पर दूर से देख रहा हूं,
    वक्त बेवक्त बात करने की कोशिश कर रहा हूं,
    हाल ए दिल बताने के अलावा हर बात कर रहा हूं,
    उसके बारे में या उसके मन में क्या है नहीं जानता,
    रोज उसकी मुस्कुराहट देखने का इंतजार कर रहा हूं।

    ©rishav_sharma