• lafzon_ki_riwayat 5w

    वो शख्स

    आंखों में नींद है उसके,
    माथे पे सिलवटें हैं,
    न जाने कितनी गहरी सोच में है वो शख्स....







    (वो आशिक़ या महबूब नहीं, घर का सहारा है!)
    ©lafzon_ki_riwayat