• vasudhagoyal 94w

    तेरी प्यारी बातें गूंजती है मेरे कानों में
    तेरी शरारतें सोचती हूँ ख्यालों में
    तेरी मुलाकातों की तपिश मुझे याद आज भी हैं
    नम आंखों को तेरे दीदार का इंतजार आज भी हैं
    क्या तुम्हें मुझसे प्यार आज भी हैं

    खड़ी हूंँ वही आज भी जहांँ छोड़ कर गए थे कभी
    तकती हूंँ वही राहें जहां अलविदा कहा था कभी
    जलता वहांँ तेरे नाम का दिया आज भी हैं
    तुमसे मिलने को दिल बेकरार आज भी हैं
    क्या तुम्हें मुझसे प्यार आज भी हैं

    जानती हूंँ वफा की तू है परिभाषा
    आसमान छूने की है तेरी अभिलाषा
    मेरी हर साँस पर लिखा तेरा नाम आज भी हैं
    टूट ना जाए मेरी आस ये डर आज भी हैं
    क्या तुम्हें मुझसे प्यार आज भी हैं
    ©vasudhagoyal