• mrig_trishna_ 34w

    ये जो जवानी को नशा चढ़ता है
    तंग बुढ़ापे में बड़ा करता है
    ज़िस्म घबराता है हाँफती साँसों में
    मंसूबा फिर भी थका करता है
    ©mrig_trishna_