• tanmay5 15w

    जब हो जाती है साँझ, तो मन खिल उठता है
    जब बहती है निर्मल वायु, तो रोमांच बढ़ने लगता है,
    ये मौसम का मिजाज़ बस बना रहे मालिक,
    इसके ना होने से सब रसहीन सा लगता है।
    ©tanmay5