• be_harsh 91w

    अल्फ़ाज़

    इक आस है कुछ खास है,
    थोड़े ज़ज्बात है कुछ एहसास है!
    जो कह ना पाया,
    बस वही अल्फ़ाज़ है!!
    ©be_harsh