• tanish_ji 15w

    उड़ने वाला पंछी जब पिंजरे मे रहता है.
    घुटता है अंदर दम हर रोज़ यही कहता है.
    निकलेगा दिन बीतेगा रात कभी तो hogi पंछियों से mulakat....
    बस इसी आस मे वो जुदाई का दर्द सहता है.
    ©tanish_ji