• tanish_ji 17w

    अर्सा..

    इक अर्सा लगा ज़माने मे
    तू है नहीं ये समझाने मे
    कितनी रातें को रोया हू
    तेरी यादों को मिटाने मे.
    ©tanish_ji