• nisha45 29w

    डोर

    'डोर'तूने ढीला छोड़ा है या सख्त
    सम्हाल लो चीजें रहते वक्त।
    लाचारी, बेबसी सरीखे शब्दों से गुरेज मुझे
    झुकने न देना सिर मेरा
    ऐसे शब्दावलियों के आगे।
    ©nisha45