• shashipandey 118w

    कलाई

    अल्लाह रे उस गुल की कलाई की नज़ाकत
    बल खा गई जब बोझ पड़ा रंग ए हिना का
    ©shashipandey