• hindiwriters 29w

    @ps_originals जी द्वारा लिखी ये बेहतरीन रचना पढ़ें, सराहें और इन्हें follow करके इनका मनोबल बढ़ाएँ :)
    बहुत उम्दा लिखा है ये । यूँ ही लिखते रहिये ।
    आपकी रचना भी बन सकती है Post of the Day, बस ऐसे ही दिल से लिखते रहिये और @hindiwriters को अपने हिंदी लेखों के caption में ज़रूर tag करें ।
    #hindi #hindiwriters

    Read More

    Hindi Post of the Day

    मेरे हाथ न जाने कौनसे ख़ज़ाने लग गए,
    सब को जो फिर से हम याद आने लग गए ।

    दर-ओ-दीवार मेरे सब तो अब गिर पड़े हैं,
    ये क्या करने अब दीमक अंदर आने लग गए ।

    हर एक हर्फ लिखा है मैंने हिज्र के आँसू से,
    यूँही नही मुझे शायर बनने में ज़माने लग गए ।

    तेरे हाथों में मैंने अपना हाथ ही रखा था
    कोई अंगार लगा हो, तुम ऐसे हाथ हटाने लग गए ।

    मैंने चरागों को हाथों में लिया ही था के बस,
    तुम मुस्कुराए और चराग जगमगाने लग गए ।

    तुझ पर तो लिखी है मैंने गज़ले कई सारी मगर,
    बस तेरे होंठ के तिल पर लिखने में मुझको ज़माने लग गए ।

    मुझमें ज़िद है के मुझको "जॉन" सा शायर बनना है,
    उन सा शायर बनने में कई शायर ठिकाने लग गए ।

    - Mr. Semi