• _sahista_ 22w

    मुश्किल वक्त में तू है साथ तेरे,
    कोई ना समझेगा जज्बात तेरे,
    रास्ता तेरा है,
    मंजिल तेरी है,
    चलती रहे बस बिना डरे।।

    लोग क्या कहेंगे?
    कौन क्या सोचेगा?
    इससे क्या मतलब है!
    तू ठंड में बिन कम्बल के सोई थी,
    रात भर भूख से रोई थी,
    तब कहा थे ये लोग भला।।

    सही क्या है?
    गलत क्या है ?
    तुझे है सब पता,
    सोच वही, कर वही,
    जिससे हो तेरा भला।।

    खुद के लिए लड़,
    बना अपनी जगह,
    तू साथ तेरे है,
    फिर कैसी है चिन्ता!
    तू साथ तेरे है,
    याद रख कर अपना भला।।

    Read More

    तू साथ तेरे है।।

    ©_sahista_