• nisha45 10w

    कर्म

    कर्मण्यता ही करता लोगों को निरंतर परिभाषित,
    छिपे समय के सिलवटों में छवि;को स्वत: करता उद्घाटित ।।
    ©nisha45